कृषि कानूनों के खिलाफ अब अनशन नहीं करेंगे अन्‍ना हजारे, किसानों के हित में सरकार के कदमों का किया समर्थन

कृषि कानूनों के खिलाफ अब अनशन नहीं करेंगे अन्‍ना हजारे, किसानों के हित में सरकार के कदमों का किया समर्थन

देवेंद्र फडणवीस की मौजूदगी में अन्‍ना ने अनशन नहीं करने का ऐलान किया

नई दिल्ली:

Kisan Aandolan: समाजसेवी अन्‍ना हजारे (Anna Hazare) ने कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ अपना प्रस्‍तावित अनशन अब नहीं करने का फैसला किया है. अन्‍ना ने खुद, महाराष्‍ट्र के पूर्व मुख्‍यमंत्री देवेंद फडणवीस की मौजूदगी में ऐलान किया है. यही नहीं, अन्‍ना ने किसानों के हित में सरकार की ओर से उठाए गए कदमों को समर्थन किया है. गौरतलब है कि कृषि कानूनों के खिलाफ वे शनिवार से अनशन करने वाले थे.गौरतलब है कि इससे पहले अन्‍ना ने कहा था कि केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ वे महाराष्‍ट्र के अपने गांव रालेगण सिद्धि में अनशन शुरू करेंगे.

नेता की रोते हुए वीडियो क्लिप वायरल होने के बाद किसानों की ''महापंचायत'' में उमड़ी भारी भीड़

उन्‍होंने एक बयान में कहा था कि मैं कृषि क्षेत्रों में सुरक्षा की मांग करता रहा हूं लेकिन ऐसा लगता हैं कि केंद्र सरकार किसानों से जुड़े मसलों को लेकर संवेदनशील नहीं है. उन्‍होंने अपने समर्थकों से यह भी अपील की थी कि कोरोना महामारी के चलते वे उनके मांग में एकत्रित नहीं हों.

राहुल गांधी ने बताए कृषि कानूनों के 3 बड़े नुकसान, बोले- PM ये न समझें आंदोलन खत्म हो जाएगा

गौरतलब है कि केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ देश की राजधानी दिल्‍ली में हजारों की संख्‍या में किसान मोर्चा डाले हुए हैं. वे इन कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं. किसानों का दोटूक कहना है कि सरकार जब तक तीनों कानूनों को रद्द नहीं करेगी, वह यहां से नहीं हटेंगे. केंद्र सरकार के साथ इस मसले पर उनकी 10 राउंड की बातचीत भी बेनतीजा रही है. 


जो लाल किला गए, उन पर कार्रवाई हो : किसान नेता

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com