अखिलेश यादव ने कोरोना वायरस के मद्देनजर अयोध्या में विजय रथ यात्रा रद्द की

उत्तर प्रदेश में फरवरी-मार्च में होने वाले चुनावों के मद्देनजर राजनीतिक दल सघन चुनाव प्रचार कर रहे हैं

अखिलेश यादव ने कोरोना वायरस के मद्देनजर अयोध्या में विजय रथ यात्रा रद्द की

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

समाजवादी पार्टी की 9 जनवरी को अयोध्या में होने वाली विजय रथ यात्रा को रद्द कर दिया गया है. कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वेरिएंट के संक्रमण के मामलों में वृद्धि होने से पार्टी ने यह फैसला लिया है. पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश के गोंडा और बस्ती में सात जनवरी और आठ जनवरी को होने वाली अपनी अन्य रैलियां भी रद्द कर दी हैं. यूपी में फरवरी-मार्च में होने वाले चुनावों के मद्देनजर राजनीतिक दल सघन प्रचार कर रहे हैं.

पिछले महीने अखिलेश यादव ने पश्चिमी यूपी में एक और रैली रद्द कर दी थी. उन्होंने कहा था कि वे पत्नी और बेटी के कोविड पॉजिटिव आने के कारण तीन दिनों तक सार्वजनिक कार्यक्रमों से दूर रहेंगे. यादव ने ट्विटर पर अपनी कोविड-निगेटिव रिपोर्ट साझा की और कहा कि उन्होंने एहतियात के तौर पर यह निर्णय लिया है क्योंकि उनके परिवार के सदस्य संक्रमित हो गए हैं.

बुधवार को कांग्रेस ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर “कोविड की अनुमानित तीसरी लहर को देखते हुए (राज्य में) बड़ी रैलियों को रद्द करने” के लिए कहा था. कांग्रेस ने हाल ही में अत्यधिक संक्रामक ओमिक्रॉन वेरिएंट के मामलों में वृद्धि को लेकर चुनावी राज्य यूपी में अपने सभी कार्यक्रमों को स्थगित कर दिया है. देश में बुधवार को समाप्त 24 घंटे में कोरोना के 58,097 नए मामले दर्ज किए गए. 

समाचार एजेंसी एएनआई के हवाले से कहा गया है कि कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा, "कांग्रेस ने यूपी और अन्य चुनावी राज्यों में बड़ी रैलियों को स्थगित करने का फैसला किया है. हमने राज्य इकाइयों से अपने राज्यों में कोविड​​-19 की स्थिति का आकलन करने और फिर रैलियां करने पर निर्णय लेने को कहा है." 

इस बीच यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी राज्य के गौतम बुद्ध नगर जिले में आज होने वाले एक सरकारी समारोह को रद्द कर दिया है. हालांकि इसका कोई आधिकारिक कारण नहीं बताया गया है, लेकिन पिछले एक सप्ताह में राज्य में सबसे ज्यादा कोरोना के मामले इसी जिले में सामने आए हैं. यह समारोह रद्द होने की सूचना के साथ यूपी के बरेली जिले से मंगलवार के चौंकाने वाले दृश्य सामने आए. वहां सैकड़ों महिलाएं और युवतियां एक पार्टी कार्यक्रम के दौरान बिना मास्क के मौजूद थीं.

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने पिछले महीने चुनाव आयोग से उत्तर प्रदेश के चुनावों को टालने को कहा था, भले ही वह कुछ महीनों के लिए ही क्यों न हो. हालांकि स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक के बाद आयोग ने कहा कि चुनाव निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही कराए जाएंगे.

चुनाव के दौरान कोविड संक्रमण से बचाव के लिए उपायों की घोषणा की गई है. इसमें मतदान के घंटे बढ़ाने और मतदान केंद्रों की संख्या में वृद्धि शामिल है. लेकिन आयोग उन राजनीतिक रैलियों पर तुरंत नकेल कसने से कतराता है, जिनमें हज़ारों लोग शामिल हो रहे हैं और जिनके दौरान सामाजिक दूरी का पालन नहीं होता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यूपी ने बुधवार को समाप्त 24 घंटों में कोरोना के 989 नए मामले दर्ज किए गए. इनमें से 23 ओमिक्रॉन स्ट्रेन के हैं. कुल मिलाकर राज्य में कोरोना के सक्रिय मरीज 3,173  हैं. कुल 31 ओमिक्रॉन से संक्रमित हैं.