किन्नौर में 100% पात्र आबादी को लगा कोरोना टीका, देश का पहला ऐसा जिला बना, केंद्रीय मंत्री ने किया ट्वीट

केंद्रीय मंत्री Anurag Thakur ने कहा कि दुर्गम इलाके की चुनौती भरी परिस्थितियों के बावजूद हिमाचल ऐसा करने में सक्षम हुआ है और बड़ी उपलब्धि हासिल की है. जिले में 60,305 पात्र लोगों को कोविड वैक्सीन के दोनों डोज दिए जा चुके हैं.

किन्नौर में 100% पात्र आबादी को लगा कोरोना टीका, देश का पहला ऐसा जिला बना, केंद्रीय मंत्री ने किया ट्वीट

किन्नौर जिला हिमाचल प्रदेश का दुर्गम इलाका है, जहां 100 फीसदी कोविड वैक्सीनेशन हुआ

नई दिल्ली:

हिमाचल प्रदेश का किन्नौर (Kinnaur 100% Covid Vaccination) , देश का पहला ऐसा जिला बन गया है, जहां पूरी 100 फीसदी पात्र आबादी को कोरोना का टीका लग चुका है. केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने शनिवार को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. केंद्रीय मंत्री (Anurag Thakur) ने एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें कहा गया है कि हिमाचल के किन्नौर में सभी बालिग यानी वयस्क आबादी को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी है. किन्नौर ने इस तरह से 100 फीसदी टीकाकरण का अनूठा लक्ष्य हासिल किया है. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि दुर्गम इलाके की चुनौती भरी परिस्थितियों के बावजूद हिमाचल ऐसा करने में सक्षम हुआ है और बड़ी उपलब्धि हासिल की है. जिले में 60,305 पात्र लोगों को कोविड वैक्सीन के दोनों डोज दिए जा चुके हैं. 

किन्नौर जिले के डिप्टी कमिश्नर आबिद हुसैन सादिक ने कहा कि पंचायत समितियों की मेहनत के कारण यह संभव हुआ है. इन लोगों ने घर घर जाकर लोगों को कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए प्रोत्साहित किया. इससे लोगों के अंदर कोविड वैक्सीन को लेकर हिचकिचाहट दूर हुई,


पैरामेडिकल स्टाफ ने भी दुर्गम इलाके की परवाह न करते हुए सभी तय जगहों पर सही समय पर कोरोना वैक्सीनेशन का कार्यक्रम संपन्न कराया. स्वास्थ्यकर्मी चरवाहों के समह डोगरी के पास भी गए और चरवाहों के आराम के लिए बने कांडा तक भी पहुंचे और वहां मौजूद लोगों को कोविड वैक्सीन लगाई. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसके जरिये चरवाहों और किसानों को भी वैक्सीन लग पाना संभव हो सका. केंद्रीय मंत्री ने कहा हिमाचल का किन्नौर जिला देश के अन्य जिलों के लिए उदाहरण बन सकता है, क्योंकि उसने कम समय में यह उपलब्धि हासिल की है. इसमें जिले के लोगों की भी मेहनत है, जो कोरोना टीका लगवाने के लिए आगे आए और अपने परिवार के अन्य लोगों को भी इसके लिए प्रेरित किया.