विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Aug 12, 2021

कैसे फैलता है Ebola और Marburg Virus, जानें इनके लक्षण और कारण

Ebola And Marburg Virus: इबोला वायरस या मारबर्ग वायरस के इलाज के लिए किसी भी दवा को मंजूरी नहीं दी गई है. इबोला वायरस के लिए एक वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है. वैज्ञानिक इन घातक बीमारियों के लिए अन्य टीकों का अध्ययन कर रहे हैं.

Read Time: 4 mins
कैसे फैलता है Ebola और Marburg Virus, जानें इनके लक्षण और कारण
इबोला वायरस के लिए एक वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है.

इबोला वायरस और मारबर्ग वायरस दोनों समान तरह के वायरस हैं जो रक्तस्रावी बुखार का कारण बन सकते हैं. ये गंभीर रक्तस्राव, ऑर्गन फेल्योर और  कई मामलों में मृत्यु का कारण बन सकते हैं. दोनों वायरस का मूल अफ्रीका का है. इबोला वायरस और मारबर्ग वायरस जानवरों के द्वारा फैलते हैं. मनुष्य संक्रमित जानवरों से वायरस से ग्रस्त हो सकते हैं. वायरस शरीर के तरल पदार्थ या अशुद्ध वस्तुओं जैसे संक्रमित सुइयों के संपर्क में आने से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है. इबोला वायरस या मारबर्ग वायरस के इलाज के लिए किसी भी दवा को मंजूरी नहीं दी गई है. इबोला वायरस के लिए एक वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है. वैज्ञानिक इन घातक बीमारियों के लिए अन्य टीकों का अध्ययन कर रहे हैं.

याददाश्त बढ़ाने के लिए 5 सबसे अच्छे फूड्स, हेल्दी माइंड के लिए इन 3 चीजों से भी बचें

लक्षण (Symptoms)

लक्षण और संकेत आमतौर पर इबोला वायरस या मारबर्ग वायरस से संक्रमण के पांच से 10 दिनों के भीतर अचानक शुरू हो जाते हैं. प्रारंभिक संकेतों और लक्षणों में शामिल हैं:

  • बुखार
  • तेज़ सर दर्द
  • जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द
  • ठंड लगना
  • दुर्बलता
  • दस्त
  • लाल आंखें
  • दाने
  • सीने में दर्द और खांसी
  • गले में खरास
  • पेट दर्द
  • गंभीर वजन घटाने
  • रक्तस्राव 

कारण (Cuases)

इबोला वायरस अफ्रीकी बंदरों, चिम्पांजी में पाया गया है. फिलीपींस में बंदरों और सूअरों में इबोला का हल्का स्ट्रेन पाया गया है.
अफ्रीका में बंदरों, चिंपियों और फलों के चमगादड़ों में मारबर्ग वायरस पाया गया है.

अर्थराइटिस रोगियों के लिए कमाल हैं ये 5 एंटी इंफ्लेमेटरी फूड्स, जल्द दिला सकते हैं सूजन से राहत

जानवरों से मनुष्यों में संचरण | Transmission From Animals To Humans

खून: संक्रमित जानवरों को मारने या खाने से वायरस फैल सकता है.

अपशिष्ट उत्पादों: कुछ अफ्रीकी गुफाओं में पर्यटकों और कुछ भूमिगत खदान श्रमिकों को मारबर्ग वायरस से संक्रमित किया गया है.

एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में संचरण | Transmission From Person To Person

जिन लोगों में इबोला वायरस या मारबर्ग वायरस होता है, वे आमतौर पर तब तक संक्रामक नहीं होते जब तक उनमें लक्षण विकसित नहीं हो जाते. वायरस रक्त, शरीर के तरल पदार्थ, या दूषित वस्तुओं जैसे बिस्तर, कपड़े या सुई के माध्यम से फैल सकता है. चिकित्सा कर्मी भी संक्रमित हो सकते हैं अगर वे विशेष व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण का उपयोग नहीं करते हैं जो उन्हें सिर से पैर तक कवर करते हैं.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

हेल्थ की और खबरों के लिए जुड़े रहिए

पेट, दिल, और आंखों को हेल्दी रखने के लिए रोजाना बिस्तर में जाने से पहले दूध में मिलाकर पिएं ये एक चीज

तुलसी की चाय कंट्रोल में रखती है शुगर लेवल, डायबिटीज रोगी स्वाद के लिए मिलाएं ये 2 चीजें

जब लगे पार्टनर के साथ रिश्ता पड़ रहा है कमजोर, तो इन टिप्स को अपनाकर मजबूत करें रिश्ते की डोर

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;