Diabetes Diet: सर्दियों में डायबिटीज रोगी इन 7 फूड्स से बचकर रहें, बिजली की स्पीड से बढ़ा सकते हैं ब्लड शुगर लेवल

Foods To Avoid In Diabetes: यहां कुछ ऐसे फूड्स के बारे में बताया गया है जिन्हें सर्दियों के दौरान डायबिटीज रोगियों को बचना चाहिए. नीचे बताए गए फलों और सब्जियों का कम सेवन करना चाहिए.

Diabetes Diet: सर्दियों में डायबिटीज रोगी इन 7 फूड्स से बचकर रहें, बिजली की स्पीड से बढ़ा सकते हैं ब्लड शुगर लेवल

Foods To Avoid In Diabetes: यह एक खतरनाक बीमारी है जिसका कोई स्थायी इलाज नहीं है.

खास बातें

  • यह एक खतरनाक बीमारी है जिसका कोई स्थायी इलाज नहीं है.
  • डायबिटीज डाइट को मैनेज कर ही ब्लड शुगर लेवल को मैनेज किया जा सकता है.
  • डायबिटीज रोगियों को अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखना पड़ता है.

What Should Diabetics Not Eat: यह एक खतरनाक बीमारी है जिसका कोई स्थायी इलाज नहीं है. डायबिटीज डाइट को मैनेज कर ही ब्लड शुगर लेवल को मैनेज किया जा सकता है. यही कारण है कि डायबिटीज रोगियों को अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखना पड़ता है. समस्या यह है कि खाने-पीने के लिए इतनी सारी चीजें हैं, उनमें से कौन सी खानी चाहिए और क्या नहीं? कई लोग सवाल भी करते हैं डायबिटीज में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं? एक्सपर्ट बताते हैं कि शुगर के मरीजों को उन चीजों का सेवन करना चाहिए जिनमें कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जीआई) हो. मधुमेह वाले लोगों को अपने आहार में फलों और सब्जियों को शामिल करना चाहिए. डायबिटीज के लिए उपाय के तौर पर सबसे पहले अपनी डाइट पर ध्यान देना चाहिए. फल विटामिन, खनिज और फाइबर का भी एक महत्वपूर्ण स्रोत है. हालांकि, कुछ फलों और सब्जियों में शुगर की मात्रा अधिक हो सकती है.

इसका मतलब है कि डायबिटीज के रोगियों को ऐसे फलों और सब्जियों के सेवन से बचना चाहिए. यहां कुछ ऐसे फूड्स के बारे में बताया गया है जिन्हें सर्दियों के दौरान डायबिटीज रोगियों को बचना चाहिए. नीचे बताए गए फलों और सब्जियों का कम सेवन करना चाहिए.

ये फूड्स तेजी से बढ़ाते हैं आपका ब्लड शुगर लेवल | These Foods Quickly Raise Your Blood Sugar Level  

1. मीठे फल

ग्लाइसेमिक इंडेक्स से पता चलता है कि कुछ भी खाने के बाद किसी व्यक्ति का ब्लड शुगर कितना बढ़ सकता है. अगर किसी भोजन का जीआई स्कोर 70 से 100 के बीच है, तो उसमें शुगर की मात्रा अधिक होती है. इस श्रेणी में तरबूज और अधिक पके केले शामिल हैं. इसका मतलब है कि ऐसे फलों का अधिक सेवन करने से आपका ब्लड शुगर तेजी से बढ़ सकता है.

2. कार्बोहाइड्रेट से भरपूर फल

डायबिटीज यूके के अनुसार, एक व्यक्ति जितना कार्ब्स खाता है, उसका ब्लड शुगर लेवल पर सबसे अधिक प्रभाव पड़ता है. ऐसे रोगियों को उन फलों का सेवन नहीं करना चाहिए जिनमें अनहेल्दी कार्ब्स होते हैं और पोषक तत्व भी कम होते हैं. एक मध्यम सेब में 15-20 ग्राम कार्ब्स होते हैं, इसलिए अगर आप इसे नहीं भी खाते हैं तो आपको कोई बड़ा नुकसान नहीं होगा.

3. फलों का रस

सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के मुताबिक, खाने के साथ फलों का जूस पीने से ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है. हालांकि, फलों में फाइबर और नॉर्मल शुगर होती है, जो ब्लड शुगर लेवल के अवशोषण को धीमा कर देती है. अगर आप ब्लड शुगर को कंट्रोल में रखना चाहते हैं तो आपको ज्यादा फलों का जूस नहीं पीना चाहिए.

4. नट्स

वैसे तो ड्राई फ्रूट्स खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है, लेकिन ज्यादा मीठे नट्स खाना खतरे की घंटी है. अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन (एडीए) ने पुष्टि की है कि ड्राई फ्रूट्स डायबिटीज वाले लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकते हैं, लेकिन उन्हें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वे कितनी मात्रा में सेवन कर रहे हैं.

5. आलू

शकरकंद और नियमित आलू दोनों को स्टार्च वाली सब्जियां माना जाता है, जिसका अर्थ है कि इनमें ज्यादातर सब्जियों की तुलना में अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होते हैं. अगर आप शुगर के मरीज हैं तो आपको इनकी मात्रा का विशेष ध्यान रखना चाहिए. इसके अलावा फ्रेंच फ्राइज या चिप्स से भी दूर रहें.

6. कोर्न

मकई और उसके व्यंजन हमेशा स्वादिष्ट होते हैं लेकिन शुगर के मरीजों के लिए यह बेहतर विकल्प नहीं है. अगर आपको मकई पसंद है, तो इसे कम मात्रा में खाएं और इसे प्रोटीन या फाइबर फूड्स के साथ मिलाएं.

7. मटर

मटर स्टार्च वाली सब्जियों में से एक है जो ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा सकती है. अगर आप खा भी रहे हैं तो आधा कप मटर से ज्यादा न खाएं. बेहतर होगा कि आप मटर का सूप पिएं.

मां-बाप की इस कमी से होता है बच्चे को थैलेसीमिया....

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.