Solar Eclipse 2022: सूर्य ग्रहण की समाप्ति पर मान्यतानुसार किये जाते हैं ये काम, नकारात्मक एनर्जी होती है दूर

Solar Eclipse 2022: ज्योतिष शास्त्र (Astrology) में ग्रहण (Grahan 2022) को लेकर कई मान्याएं प्रचलित हैं. मसलन सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) से पहले क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए. साथ ही सूर्य ग्रहण (के बाद ग्रहण के नकारात्मक प्रभाव से बचने के लिए क्या करना आवश्यक है.

Solar Eclipse 2022: सूर्य ग्रहण की समाप्ति पर मान्यतानुसार किये जाते हैं ये काम, नकारात्मक एनर्जी होती है दूर

Solar Eclipse 2022: सूर्य ग्रहण की शुरुआत 30 अप्रैल की देर रात 12 बजकर 15 मिनट से होगी.

खास बातें

  • ग्रहण के बाद गंगा स्नान करना माना गया है शुभ
  • ग्रहण के बाद वातावरण में रहती है नकारात्मक ऊर्जा
  • ग्रहण की समाप्ति पर पूजा मंदिर में करना चाहिए गंगाजल का छिड़काव

Solar Eclipse 2022: इस साल का पहला सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) शनिवार, 30 अप्रैल को लगने जा रहा है. ज्योतिष शास्त्र (Astrology) में ग्रहण (Grahan 2022) को लेकर कई मान्याएं प्रचलित हैं. मसलन सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) से पहले क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए. साथ ही सूर्य ग्रहण (के बाद ग्रहण के नकारात्मक प्रभाव से बचने के लिए क्या करना आवश्यक है. इन सब बातों का उल्लेख ज्योतिष शास्त्र में किया गया है. यहां बता दें कि साल 2022 का पहला सूर्य ग्रहण की शुरुआत 30 अप्रैल की देर रात 12 बजकर 15 मिनट से होगी. जबकि इस सूर्य ग्रहण की समाप्ति 1 मई 2022 की सुबह 4 बजकर 7 मिनट पर होगी. शास्त्रों और धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक ग्रहण खत्म होने के बाद कुछ काम जरूर करना चाहिए. मान्यता है कि इससे नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव खत्म हो जाता है. आइए जानते हैं इनके बारे में. 


सूर्य ग्रहण के नकारात्मक प्रभाव से बचने के लिए क्या करें?


-ज्योतिष शास्त्र की मान्यता के अनुसार सूर्य ग्रहण समाप्त होने पर तुलसी के पौधे में गंगाजल का छिड़काव करना चाहिए. माना जाता है कि ऐसा करने से तुलसी का पौधा शुद्ध होता है. 

-सूर्य ग्रहण के बाद घर के पूजा घर या मंदिर में गंगाजल का छिड़काव करना चाहिए. इससे घर में प्रवेश की गई सूर्य ग्रहण की नकारात्मक ऊर्जा खत्म हो जाती है.

-ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को विशेष ध्यान रखने की सलाह दी जाती है. मान्यता है कि ग्रहण के दौरान निकलने वाली नकरात्मक ऊर्जा का प्रभाव माता के साथ-साथ गर्भस्थ शिशु पर भी होता है. ऐसे में ग्रहण समाप्ति के बाद तुरंत स्नान करने की सलाह दी जाती है. 

-ग्रहण के बाद तिल और चने की दाल का दान करना अच्छा माना गया है. मान्यता है कि ऐसा करने से जीवन की समस्या और संकटों से छुटकारा मिल सकता है.  

-ग्रहण के बाद वातावरण में नकारात्मक ऊर्जा फैली रहती है. ऐसे में ग्रहण की समाप्ति के बाद पूरे घर में गंगाजल का छिड़काव करना चाहिए. 

-धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक ग्रहण के बाद गंगा स्नान करना बेहद शुभ होता है. ऐसे में अगर आप गंगा स्नान ना कर पाएं तो पानी में कुछ बूंद गंगाजल डालकर स्नान जरूर करें. 

-धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक ग्रहण के बाद देवी-देवताओं के दर्शन करना शुभ है. ऐसे में ग्रहण खत्म होने के बाद अपने ईष्ट देव के दर्शन अवश्य करें.

सिटी सेंटर: हनुमान मंदिर के सेवादार यूसुफ पेश कर रहे भाईचारे की मिसाल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)