विज्ञापन
Story ProgressBack
This Article is From Sep 30, 2022

Navpatrika Puja 2022: नवपत्रिका पूजा है इस दिन, जानें शुभ मुहूर्त, पूजन विधि और महत्व

Navpatrika Puja Date 2022: नवरात्रि के सातवें दिन नवपत्रिकी पूजा की जाती है. इस बार नवपत्रिका पूजा 2 अक्टूबर को पड़ रही है.

Read Time: 3 mins
Navpatrika Puja 2022: नवपत्रिका पूजा है इस दिन, जानें  शुभ मुहूर्त, पूजन विधि और महत्व
Navpatrika Puja Date 2022: नवपत्रिका पूजा से जुड़े ये नियम खास हैं.

Navpatrika Puja 2022 Date, Puja Vidhi, Importance: हिंदू धर्म में नवरात्रि के दौरान पड़ने वाले नवपत्रिका पूजा का खास महत्व है. शारदीय नवरात्रि में नवपत्रिका पूजा के दौरान नौ प्रकार की पत्तियों से मिलाकर एक गुच्छ बनाया जाता है. इसके बाद उस नवगुच्छ के माध्यम से मां दुर्गा का आवाह्न किया जाता है. नवरात्रि के सातवें दिन महासप्ती की पूजा में नवपत्रिका का इस्तेमाल किया जाता है. दरअसल नवरात्रि के आखिरी चार दिन बेहद महत्वपूर्ण होते हैं. इस साल नवरात्रि में नवपत्रिका पूजा 2 अक्टूबर, रविवार को की जाएगी. आइए जानते हैं नवपत्रिका पूजा के लिए शुभ मुहूर्त, पूजन विधि और महत्व के बारे में.

नवपत्रिका पूजा 2022 शुभ मुहूर्त | Navpatrika Puja 2022 Shubh Muhurat

शारदीय नवरात्रि के सातवें दिन यानी 02 अक्टूबर, रविवार को नवपत्रिका पूजा होगी. पंचांग के अनुसार, इस बार सप्तमी तिथि की शुरुआत 01 अक्टूबर को रात 8 बजकर 48 मिनट से हो रही है. वहीं सप्तमी तिथि का समापन 02 अक्टूबर को शाम 6 बजकर 49 मिनट पर होगा. सप्तमी तिथि के अंतर्गत नवपत्रिका पूजा का विधान है. 

नवपत्रिका पूजा महास्नान | Navpatrika Puja Mahasnan

नवरात्रि में सप्तमी तिथि के दिन महास्नान का विशेष महत्व है. इसके लिए भक्त इस दिन मां दुर्गा की प्रतिमा के समक्ष नतमस्तक होते हैं. साथ ही मां दुर्गा की प्रतिमा के समक्ष शीशा रखा जाता है और उस पर पड़ने वाले मां दुर्गा की प्रतिबिंब को महास्नान कहते हैं. 

नवपत्रिका पूजा विधि 2022 | Navpatrika Puja Vidhi

नवपत्रिका पूजा के दिन भक्त सूर्योदय से पहले स्नान करते हैं. साथ ही मां दुर्गा को किसी पवित्र नदी में स्नान कराया जाता है. इसे महास्नान भी कहते हैं. विशेष पत्तियों या पौधों को पीले रंग के धागे के साथ सफेद अपराजिता की बेल से बांधा जाता है. नवपत्रिका पूजा के लिए केला, कच्वी, हल्दी, अनार, अशोक, मनका, धान, बिल्वा और जौ की पत्तियों का इस्तेमाल किया जाता है. 

Bhanu Saptami 2022 Date: कब रखा जाएगा भानु सप्तमी का व्रत, जानें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

नवपत्रिका पूजा का महत्व | Navpatrika Puja Mahatva

नवपत्रिका पूजा नवरात्रि के सातवें दिन की जाती है. इसे महासप्तमी पूजा भी कहा जाता है. महा सप्तमी के दिन सुबह  9 तरह की विशेष पत्तियों से गुच्छा बनाकर मां दुर्गा का आह्वान किया जाता है. इससे बाद उसका इस्तेमाल मां दुर्गा की पूजन में किया जाता है. धार्मिक मान्यतानुसार, इन 9 अलग-अलग तरह की पत्तियों को मां दुर्गा का स्वरूप कहा जाता है. सप्तमी के के दिन नवपत्रिका पूजा खास होती है. 

Navratri 2022 Navami: कब है महानवमी, इस दिन ये 3 काम करने से मां दुर्गा होंगी प्रसन्न! जानें मुहूर्त

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. एनडीटीवी इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
Bhog Niyam: भगवान को भोग चढ़ाने के बाद मंदिर में कितनी देर तक रखना चाहिए, जानें क्या कहता है नियम
Navpatrika Puja 2022: नवपत्रिका पूजा है इस दिन, जानें  शुभ मुहूर्त, पूजन विधि और महत्व
इन तीन देवी-देवताओं को पान के पत्ते पर भोग लगाने से खुल जाती है किस्मत
Next Article
इन तीन देवी-देवताओं को पान के पत्ते पर भोग लगाने से खुल जाती है किस्मत
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;