फरीदाबाद में सोसाइटी के टॉप फ्लोर से कूदकर स्‍कूली छात्र ने की खुदकुशी, परेशान करते थे कुछ छात्र

पिछले साल स्कूल के दो बच्‍चे आरवी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते थे, इसकी शिकायत उसने स्कूल में भी की थी लेकिन स्‍कूल प्रशासन ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की.

फरीदाबाद में सोसाइटी के टॉप फ्लोर से कूदकर स्‍कूली छात्र ने की खुदकुशी, परेशान करते थे कुछ छात्र

प्रतीकात्‍मक फोटो

फरीदाबाद :

फरीदाबाद के बीपीटीपी थाना क्षेत्र के डिस्कवरी सोसाइटी में मां के साथ रहने वाले DPS स्कूल के छात्र द्वारा बिल्डिंग के ऊपरी मंजिल से कूदकर खुदकुशी की घटना पर पुलिस ने शिकायत मिलने पर कार्रवाई शुरू कर दी है. पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि घटना बीपीटीपी थानाक्षेत्र की है. यहां डिस्कवरी सोसाइटी में आरती, अपने बेटे आरवी के साथ रहती थी. आरती DPS स्कूल में टीचर हैं और आरवी इसी स्कूल में दसवीं क्लास का छात्र था. पिछले साल स्कूल के दो बच्‍चे आरवी पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते थे, इसकी शिकायत उसने स्कूल में भी की थी लेकिन स्‍कूल प्रशासन ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, इस घटना से आहत होकर आरवी डिप्रेशन में चल रहा था, यही नहीं, उसका मानसिक बीमारी का इलाज भी चल रहा था. लॉकडाउन के कारण स्कूल बंद थे और आरवी स्कूल नहीं जा रहा था. स्कूल खुलने और मैट्रिक की परीक्षा नजदीक होने पर आरवी ने स्कूल जाना शुरू कर दिया. मानसिक रूप से प्रताड़ित महसूस करने के कारण विज्ञान विषय के न्यूमेरिकल में आरवी] स्कूल की एक टीचर से सहयोग का आग्रह कर रहा था लेकिन टीचर ने कोई सहानूभुति नहीं दिखाई और मां-बेटे, दोनों पर फालतू परेशान करने का आरोप लगाया. 24 फरवरी की शाम आरवी की मां घर से बाहर थी. उसी समय उसे फोन आया कि उसका बेटा आरवी सोसायटी के टॉप फ्लोर से कूद गया है और उसे गंभीर चोट लगी है. सोसायटी वाले आरवी को लेकर सेक्टर-7 स्थित मेट्रो हॉस्पिटल गए, अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया है.आरवी ने घर पर एक सुसाइड नोट लिखकर छोड़ दिया था. सुसाइड नोट में उसने अपनी मां को बहादुर महिला बताते हुए बच्चों व डीपीएस स्कूल प्रशासन द्वारा उसे प्रताड़ित करने के कारण अपना जीवन समाप्त करना लिखा है.

पुलिस प्रवक्‍ता ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही डीसीपी सेंट्रल मुकेश मल्होत्रा, एसीपी सेंट्रल सत्यपाल यादव, क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 के साथ विधि-विज्ञान प्रयोगशाला की टीम ने घटनास्थल पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली व घटना से जुड़े प्रारंभिक साक्ष्य एकत्रित की. पुलिस घटना से जुड़ी सभी बिंदुओं की जांच कर रही है और कानूनी प्रक्रिया का पालन करते हुए नियमानुसार आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(अगर आपको सहायता की ज़रूरत है या आप किसी ऐसे शख्‍स को जानते हैं, जिसे मदद की दरकार है, तो कृपया अपने नज़दीकी मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञ के पास जाएं)

हेल्‍पलाइन :
1) वंद्रेवाला फाउंडेशन फॉर मेंटल हेल्‍थ - 9999666555 अथवा help@vandrevalafoundation.com
2) TISS iCall - 022-25521111 (सोमवार से शनिवार तक उपलब्‍ध - सुबह 8:00 बजे से रात 10:00 बजे तक)