उमेश कोल्हे हत्याकांड: एनआईए ने अमरावती में 13 ठिकानों पर की छापेमारी, आपत्तिजनक चीजें बरामद

उमेश कोल्हे हत्याकांड (Umesh Kolhe murder case) में एनआईए ने अमरावती (Amravati) में 13 ठिकानों पर छापेमारी की है. तलाशी अभियान के दौरान डिजिटल डिवाइस (Digital device) मोबाइल फोन, सिम कार्ड, मेमोरी कार्ड, डीवीआर को बरामद किया है.

उमेश कोल्हे हत्याकांड: एनआईए ने अमरावती में 13 ठिकानों पर की छापेमारी, आपत्तिजनक चीजें बरामद

नई दिल्ली:

केमिस्ट उमेश कोल्हे हत्याकांड को लेकर बुधवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए ने अमरावती के 13 ठिकानों पर छापेमारी की और तलाशी ली. एनआईए ने मामले से जुड़े आरोपियों और मामले में संदिग्धों के परिसरों में तलाशी ली. इस तलाशी अभियान के दौरान डिजिटल डिवाइस मोबाइल फोन, सिम कार्ड, मेमोरी कार्ड, डीवीआर, नफरत फैलाने वाले पैम्फलेट, चाकू और अन्य आपत्तिजनक दस्तावेज जब्त किया गया है. एजेंसी आगे भी मामले की जांच कर रही है. हालांकि, 
NIA ने अपनी प्राथमिकी में उमेश कोल्हे की जघन्य हत्या को "लोगों के एक वर्ग को आतंकित करने" के मकसद से आतंकवादी कृत्य बताया है. और अब इस मामले में NIA विदेशी धरती से संबंध रखने वाले "स्वयं प्रेरित" आतंकवादी गिरोहों की भूमिका की भी जांच कर रही है.

20- 21 जून की रात में केमिस्ट उमेश कोल्हे की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई थी. आरोपियों ने उमेश की गर्दन में चाकू मारकर उनको मौत के घाट उतार दिया था. हत्या की वजह नुपुर शर्मा के विवादित बयान का सोशल मीडिया में समर्थन करना बताया जा रहा था. इस मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए ने सात आरोपियों को हिरासत में लिया था.

उसके बाद आरोपियों से मिले इनपुट के आधार पर एनआईए ने आरोपियों और मामले में संदिग्ध लोगों के परिसरों पर छापेमारी की है.अमरावती के उमेश कोल्‍हे की हत्‍या के आरोप में मुदस्सर अहमद (22), शाहरुख पठान (25), अब्दुल तौफीक (24) शोएब खान (22), आतिब राशिद (22), यूसुफ खान (32) और कथित मास्टरमाइंड शेख इरफान शेख रहीम और एक और संदिग्ध शमीम अहमद का नाम सामने आया है. इनमें से सात आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है. 

मौलाना मुदस्सिर पर है रेकी करने का आरोप
खबरों की मानें तो इस हत्‍याकांड में शामिल आरोपी मुदस्सिर मौलाना है. बताया जा रहा क‍ि हत्‍या के लिए उसने ही रेकी की थी. वहीं शाहरुख पठान, अब्दुल तौफीक, शोएब खान उर्फ भूरिया, अतीक रशीद मजदूरी करते थे. युसूफ खान बहादुर खान पढ़ा-लिखा है. वह सोशल मीडिया पोस्‍ट पर नजर रख रहा था. हत्‍याकांड का मास्‍टरमाइंड शेख इरफान एक सामाजिक ड्राइवर हेल्‍पलाइन का अध्‍यक्ष है. इससे पहले उसका कोई क्र‍िमिनल रिकॉर्ड नहीं था.

ये भी पढ़ें- 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video : भारी बारिश से जलमग्न हुआ मुंबई का चेम्बूर इलाका, घरों में भरा पानी