दिल्ली के जाफराबाद में कोरोबारी को गोलियों से छलनी किया, अस्पताल में मौत

बदमाशों ने कारोबारी कासिम अंसारी को आठ-दस गोलियां मारीं, उनके साथी सोनी को हाथ में लगी गोली

दिल्ली के जाफराबाद में कोरोबारी को गोलियों से छलनी किया, अस्पताल में मौत

कारोबारी कासिम अंसारी (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

दिल्ली के जाफराबाद इलाके में एक बार फिर से गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठी. लॉकडाउन में बदमाशों ने मंगलवार की शाम को एक कारोबारी पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर उसे मौत के घाट उतार दिया. कारोबारी के साथ बैठे एक शख्स के हाथ पर भी गोली मारकर बदमाश मौके से फरार हो गए. गंभीर हालत में कारोबारी कासिम अंसारी और सोनी को जग प्रवेश चंद अस्पताल में भर्ती करवाया. जहां डाक्टरों ने कासिम को मृत घोषित कर दिया. बदमाशों ने कासिम के करीब आठ से दस गोलियां मारी हैं. 

बताया जा रहा है पुलिस ने इस मामले में चौहान बांगर के रहने वाले बिलाल नाम के युवक को हिरासत में लिया है. रंजिश सहित कई दृष्टिकोण से पुलिस मामले की जांच कर रही है. पुलिस के अनुसार कासिम अपने परिवार के साथ इंदिरा गली चौहान बांगर में रहते थे. परिवार में पत्नी व दो बच्चे हैं. वह कढ़ाई का कारोबार करते थे. मंगलवार शाम को कासिम अपने जानकार सोनी के साथ जाफराबाद गली नंबर-32 में बब्बू मलिक नाम के दुकानदार के यहां पर बैठे हुए थे. करीब छह बजे के आसपास दो से तीन बदमाश हेलमेट पहने वहां पहुंचे और कासिम पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी. कासिम ने भागने की कोशिश की तो बदमाशों ने उन्हें पकड़ लिया और तब तक गोलियां मारीं जब तक कि वे निढाल नहीं हो गए. इस बीच बदमाशों ने एक गोली सोनी के हाथ पर भी मार दी. 

गोलियां चलते ही गली में भगदड़ मच गई. वारदात को अंजाम देकर बदमाश मौके से फरार हो गए. जिस जगह पर वारदात हुई है, वहीं पर कासिम का साला अपने परिवार के साथ रहता है. गंभीर हालत में कासिम को अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. वारदात स्थल से कुछ ही दूरी पर जाफराबाद थाना बना हुआ है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


स्थानीय लोगों ने बताया कि बिलाल भी उसी गली में रहता है जहां पर कासिम अंसारी रहते थे. सोमवार की शाम को बिलाल का गली के रहने वाले एक युवक से किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था. मामला बढ़ता देख कासिम ने बीच बचाव करवा दिया. इस बात से बिलाल काफी नाराज हो गया था और कासिम को देख लेने की धमकी दी थी. आशंका व्यक्त की जा रही है कि बिलाल ने अपने साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया है.