दिल्ली : मामूली विवाद में 17 वर्षीय किशोर की चाकू से गोदकर हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार 

तीन से चार की संख्या में बदमाशों ने एक के बाद एक चाकुओं से उस पर कई वार किए और मौका पर से फरार हो गए, जिसके बाद आसपास के लोगों को जब किशोर को खून से लथपथ हालत में जमीन पर देखा तो उसे आनन-फानन में नजदीकी अस्पताल पहुंचाया.

दिल्ली : मामूली विवाद में 17 वर्षीय किशोर की चाकू से गोदकर हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार 

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

दिल्ली के जहांगीरपुरी थाना इलाके के डीडीए फ्लैट्स में चाकू मारकर 17 साल के किशोर की हत्या कर दी गई. मामूली सी कहासुनी के बाद बदमाशों ने चाकू से कई वार किए, जिसमें वह बुरी तरह से घायल हो गया. हालांकि, आनन फानन लोग उसे इलाज के लिए अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. जहांगीरपुरी डबल ई-ब्लॉक के पास बने डीडीए फ्लैट्स में बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया है.

किशोर की मौत के बाद परिजनों का रो-रोकर हुआ बुरा हाल है. फिलहाल जहांगीरपुरी थाना पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है. गौरतलब है कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आपराधिक घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं. खासतौर पर विजयादशमी की रात चाकूबाजी की कई घटनाएं सामने आईं, जिसमें जहांगीरपुरी की घटना भी शामिल है.

घटना के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए. बताया जा रहा है कि किशोर जो मुकुंदपुर का रहने वाला था. बुधवार को वो विजयादशमी का मेला देखने गया था. इसी दौरान जब वो लौट रहा था, तब डीडीए फ्लैट्स के पास उसकी कुछ लड़कों के साथ कहासुनी हुई और देखते ही देखते यह कहासुनी हाथापाई में तब्दील हो गई.

तीन से चार की संख्या में बदमाशों ने एक के बाद एक चाकुओं से उस पर कई वार किए और मौका पर से फरार हो गए, जिसके बाद आसपास के लोगों को जब किशोर को खून से लथपथ हालत में जमीन पर देखा तो उसे आनन-फानन में नजदीकी बाबू जगजीवन राम अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने इलाज के दौरान शिवम को मृत घोषित कर दिया. मामले की जानकारी पुलिस को दी गई. जानकारी पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और शिवम के परिजनों को इस बात की जानकारी दी गई. पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. कुछ और आरोपियों की तलाश जारी है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

यह भी पढ़ें -
थाईलैंड में बच्चों के डे-केयर सेंटर में गोलीबारी, 22 बच्चों समेत 34 की मौत
तमिलनाडु में कथित रूप से फूड प्वॉयज़निंग के चलते तीन बच्चों की मौत, 11 अस्पताल में भर्ती