कौन रहा है किंग्स्टन का किंग, आइए रिकॉर्ड्स पर डालते हैं एक नज़र...

कौन रहा है किंग्स्टन का किंग, आइए रिकॉर्ड्स पर डालते हैं एक नज़र...

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर...

खास बातें

  • रिकॉर्ड्स पर एक नज़र डाली जाए तो वेस्टइंडीज किंग्स्टन का किंग रहा है
  • भारत के खिलाफ वेस्टइंडीज ने इस मैदान पर शानदार प्रदर्शन किया है।
  • इस मैदान पर दिलीप सरदेसाई ने लगाया है दोहरा शतक।
नई दिल्‍ली:

किंग्स्टन के सबीना पार्क मैदान पर भारत और वेस्टइंडीज के बीच आज दूसरा टेस्ट मैच शुरू हो रहा है। सर विवियन रिचर्ड्स मैदान पर हुए पहले टेस्ट मैच में टीम इंडिया को शानदार जीत मिली थी और इस जीत के साथ टीम इंडिया इस टेस्ट सीरीज में 1-0 से आगे है। वेस्टइंडीज जैसी कमज़ोर टीम को टीम इंडिया आसानी से हरा पाएगी या वेस्टइंडीज अपने घरेलू मैदान और घरेलू दर्शकों के सामने वापसी कर पाएगा या नहीं, यह देखना पड़ेगा।  

किंग्स्टन में वेस्टइंडीज ने किया है शानदार प्रदर्शन : अगर रिकॉर्ड्स पर एक नज़र डाली जाए तो वेस्टइंडीज किंग्स्टन का किंग रहा है। इस मैदान पर सबसे ज्यादा मैच जीतने का रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के नाम है। वेस्टइंडीज ने इस मैदान पर शानदार प्रदर्शन करते हुए कुल मिलाकर 48 में से 23 मैच जीते हैं, जबकि 12 मैच में उसे हार मिली है, वहीं 13 मैच ड्रॉ कराने में वह कामयाब हुआ है। दुनिया की सभी टीमों ने इस मैदान पर कुल मिलाकर मैच जीते हैं, उससे भी ज्यादा मैच वेस्टइंडीज ने जीते हैं। इस मैदान पर वेस्टइंडीज की जीत का प्रतिशत 48 के करीब रहा है। वेस्टइंडीज के बाद सबसे ज्यादा मैच ऑस्ट्रेलिया ने जीते हैं। ऑस्ट्रेलिया ने इस मैदान पर 11 मैच खेले हैं। पांच मैचों में ऑस्ट्रेलिया को जीत मिली है, जबकि तीन में हार और तीन मैच ड्रॉ रहे हैं।

वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत का प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं : सबीना पार्क के मैदान पर टीम इंडिया का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है। 1953 से लेकर 2011 के बीच दोनों टीमों ने 11 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें से सिर्फ दो मैचों में टीम इंडिया को जीत मिली है, जबकि छह मैचों में टीम इंडिया की हार हुई है और तीन मैच ड्रॉ रहे। इस तरह इस मैदान पर भारत की जीत का प्रतिशत सिर्फ 18 के करीब रहा है। भारत के खिलाफ वेस्टइंडीज ने इस मैदान पर शानदार प्रदर्शन किया है। 1953 से लेकर 2002 बीच वेस्टइंडीज,भारत के खिलाफ इस मैदान पर एक भी टेस्ट मैच नहीं हारा था।

आखिरी दो मैचों में टीम इंडिया ने किया है शानदार प्रदर्शन : लेकिन इस मैदान पर हुए आखिरी दो मैचों में टीम इंडिया ने शानदार प्रदर्शन करते हुए वेस्टइंडीज को हराया है। 2006 में टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज को 49 रन से हराया था और इस मैच के हीरो थे कप्तान राहुल द्रविड़। इस मैच में द्रविड़ दोनों परियों में अर्धशतक लगाते हुए टीम इंडिया के लिए हीरो साबित हुए थे। इस मैदान पर दोनों टीमों के बीच आखिरी टेस्ट मैच 2011 में खेला गया था और भारत ने इस मैच को 63 रन से जीत लिया था। इस मैच में भी राहुल द्रविड़ ने शानदार प्रदर्शन किया था और 'मैन ऑफ़ द मैच ' के अवार्ड से नवाजा गया था।

बल्लेबाजी में गैरी सोबर्स रहे हैं किंग : बल्लेबाज के रूप में इस मैदान के किंग गैरी सोबर्स रहे हैं। सोबर्स ने इस मैदान पर शानदार प्रदर्शन करते हुए सबसे ज्यादा रन बनाए हैं। सोबर्स ने इस मैदान पर 11 मैच खेलते हुए करीब 104 की औसत से सबसे ज्यादा 1,354 रन बनाए हैं। सोबर्स ने इस मैदान पर पांच शतक और चार अर्धशतक लगाए हैं। सोबर्स ने अपने टेस्ट करियर के सबसे अधिक 365 रन भी इसी मैदान पर बनाए थे। इस मैदान पर सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में पहले 17 खिलाड़ी वेस्टइंडीज के ही हैं। टीम इंडिया की तरफ से राहुल द्रविड़ ने इस मैदान पर सबसे ज्यादा रन बनाए हैं। राहुल द्रविड़ ने चार मैच खेलते हुए करीब 61 की औसत से 430 रन बनाए, जिसमें एक शतक और तीन अर्धशतक शामिल हैं। भारत की तरफ से दिलीप सरदेसाई इकलौते खिलाड़ी हैं, जिन्‍होंने इस मैदान पर दोहरा शतक लगाया है। भारत के खिलाफ वेस्टइंडीज का कोई भी खिलाड़ी इस मैदान पर दोहरा शतक लगाने में कामयाब नहीं हो पाया है।

गेंदबाज़ी में वेस्टइंडीज के खिलाड़ी हैं आगे: अगर गेंदबाज़ी की बात की जाए तो इस मैदान पर वेस्टइंडीज के कर्टनी वाल्श ने सबसे ज्यादा 48 विकेट लिए हैं। भारत की तरफ से हरभजन सिंह ने इस मैदान पर सबसे ज्यादा 16 विकेट लिए हैं। वेस्टइंडीज की तरफ से भारत के खिलाफ एक पारी में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड सर वेस हॉल के नाम है। 1960 में सर हॉल ने भारत के खिलाफ एक पारी में सात विकेट लेकर यह गौरव हासिल किया था। इस मैदान पर भारत की तरफ से वेस्टइंडीज के खिलाफ एक पारी में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड अनिल कुंबले के नाम है। 1989 में कुंबले ने एक पारी में छह विकेट लेकर रिकॉर्ड अपना नाम किया था।


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com