इस्तीफा देने के बाद मिस्बाह-उल-हक ने पहली बार मुंह खोला, पीसीबी पर लगाया बड़ा आरोप

मिस्बाह ने कहा, हम इस बात पर ध्यान नहीं देते कि हमें अपने खिालड़ियों का विकास घरेलू स्तर पर ही करना होगा और फिर राष्ट्रीय टीम में उनके कौशल विकास पर काम करना होगा.

इस्तीफा देने के बाद मिस्बाह-उल-हक ने पहली बार मुंह खोला, पीसीबी पर लगाया बड़ा आरोप

पाकिस्तान के पूर्व बल्लेबाज और कोच मिस्बाह उल हक

कराची:

काफी समय पहले मिस्बाह-उल-हक को पाकस्तान क्रिकेट की किस्मत बदलने के लिए नियुक्त किया गया था. पावर इतनी कि हेड कोच होने के साथ-साथ मिस्बाह चीफ सेलेक्टर भी थे. लेकिन कुछ समय बाद उनके पर कतरे गए, तो रमीज  राजा के नया सीईओ बनने के साथ ही उन्होंने और वकार यूनुस ने अपने-अपने पदों से इस्तीफा दे दिया. मिस्बाह काफी दिन चुक रहे, लेकिन अब उन्होंने मुंह खोला है.  मिस्बाह ने पीसीबी पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि उसके सिस्टम में  बलि के बकरे तलाशे जाते हैं. और पाकिस्तान क्रिकेट में तब तक कोई सुधार नहीं होगा, जब तक वह व्यवस्था में बदलाव नहीं करेगा और बलि का बकरा ढूंढने की आदत बंद नहीं करेगा.

पिछले महीने अचानक इस्तीफा देने के बाद पहली बार बोल रहे मिसबाह ने कहा कि ‘कॉस्मेटिक सर्जरी' (ऊपर ऊपर सुधार) से पाकिस्तान क्रिकेट में कुछ नहीं बदलने वाला क्योंकि समस्यायें तो व्यवस्था में अंदर तक गहरी हो चुकी हैं. उन्होंने ‘ए-स्पोर्ट्स' चैनल से कहा, ‘समस्या यह है कि हमारा क्रिकेट केवल नतीजे देखता है और आगे की योजना तथा व्यवस्था में सुधार करने के लिये हमारे पास समय या संयम नहीं है.'

 ये भी पढ़ें 
दुबई के मैडम तुसाद म्यूजियम में लगा विराट कोहली का मोम का पुतला, फैन्स का जबरदस्त रिएक्शन
मुस्तफ़िज़ूर रहमान ने 'हवाई कैच' लेकर विश्व क्रिकेट को चौंकाया, देखकर आप भी दंग रह जाएंगे- Video
Oman vs BAN: ओमान का गेंदबाज बना 'सुपरमैन' अपनी ही गेंद पर लिया खतरनाक कैच, देखें Video
T20 WC: पाकिस्तान के खिलाफ मैच के लिए पार्थिव पटेल ने चुनी भारतीय प्लेइंग XI, 2 अहम खिलाड़ियों को नहीं दी जगह


मिस्बाह ने कहा, हम इस बात पर ध्यान नहीं देते कि हमें अपने खिालड़ियों का विकास घरेलू स्तर पर ही करना होगा और फिर राष्ट्रीय टीम में उनके कौशल विकास पर काम करना होगा. हम नतीजे चाहते हैं और अगर हमें इच्छानुसार परिणाम नहीं मिलते तो हम किसी को बलि का बकरा बनाने के लिये ढूंढना शुरू कर देते हैं.'मिस्बाह के साथ गेंदबाजी कोच वकार यूनिस ने पिछले महीने वेस्टइंडीज से लौटने के बाद अचानक इस्तीफा देने की घोषणा कर दी थी. उन्होंने कहा, ‘दुर्भाग्य से पाकिस्तान क्रिकेट में बलि का बकरा ढूंढना आम हो गया है. एक मैच या सीरीज गंवाने के बाद हम खुद को बचाने के लिये बलि का बकरा ढूंढने लगते हैं.'

मिस्बाह ने कहा, ‘अगर हम यही ‘कास्मेटिक सर्जरी'जारी रखेंगे तो कुछ भी नहीं बदलेगा. आप कोच और खिलाड़ियों को बदल सकते हैं लेकिन अंदर की समस्या जस की तस बनी रहेंगी.' उन्होंने साथ ही राष्ट्रीय चयन समिति के काम करने के तरीके और जिस तरह से टी20 विश्व कप टीम में बदलाव किये, उसकी भी काफी आलाचेना की. उन्होंने कहा, ‘क्या हो रहा है? पहले आप कुछ खिलाड़ियों को विश्व कप टीम में शामिल करते हो और फिर 10 दिन बाद आप यू्-टर्न लेकर बाहर किये गये खिलाड़ियों को वापस लाते हो.'शुरुआती 15 सदस्यीय टीम और तीन रिजर्व खिलाड़ियों की घोषणा करने के बाद मुख्य चयनकर्ता मुहम्मद वसीम ने बाद में तीन बदलाव किये.

आगाज 23 अक्टूबर से होने वाला है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: ICC T20 World Cup : महेंद्र सिंह धोनी होंगे टीम इंडिया के मेंटॉर, BCCI ने किया ऐलान . ​