पूर्व कोच रवि शास्त्री का अश्विन के आरोपों पर पलटवार, बोले कि "बस के ड्राइवर" से कुछ और ही कहा था

अश्विन के वायरल हो रहे इंटरव्यू में इस ऑफी ने साल 2018 में खुद के ऊपर कुलदीप को वरीयता दिए जाने और टीम से बाहर करने पर कहा था कि उन्हें बस के नीचे धकेल दिया गया. 

पूर्व कोच रवि शास्त्री का अश्विन के आरोपों पर पलटवार, बोले कि

भारत के पूर्व कोच रवि शास्त्री और आर. अश्विन की फाइल फोटो

खास बातें

  • अश्विन ने कहा था-मुझे "बस के नीचे" धकेल दिया गया
  • अश्विन के इंटरव्यू की चर्चा अभी भी जोर-शोर से हो रही
  • विराट-बीसीसीआई को बेहतर संवाद करना था-शास्त्री
नयी दिल्ली:

कुछ दिन पहले ही देश के अलग-अलग मीडिया चैनलों को इंटरव्यू देकर कई खुलासे करने वाल पूर्व कप्तान और कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने एक बार फिर से मोर्चा संभाल लिया है. और एक अग्रणी अखबार के कार्यक्रम में रवि शास्त्री ने एक बार फिर से भारतीय क्रिकेट से जुड़े कई मुद्दों पर खरी-खरी कही है. इस बार शास्त्री ने हालिया विवाद पर कहा कि बीसीसीआई और विराट कोहली (Kohli) के बीच बेहतर संवाद हो सकता था.  विराट ने अपना पक्ष रख दिया और अब बीसीसीआई को सफायी देनी है. हालिया अश्विन के चर्चित इंटरव्यू में इस ऑफी के आरोपों पर रवि बोले कि अश्विन सिडनी टेस्ट में नहीं खेले और कुलदीप ने अच्छी गेंदबाजी की थी. ऐसे में यह सही था कि मैंने कुलदीप यादव को मौका दिया. और अगर यह बात अश्विन को आहत करती है, तो मैं खुश हूं. शास्त्री बोले कि इस बात ने अश्विन को कुछ अलग करने पर मजबूर किया. मेरा काम हर किसी की मक्खनबाजी करना नहीं है. मेरा काम बिना किसी एजेंडे के तथ्यों को सामने रखना है. 

 यह भी पढ़ें: अतुल वासन का बड़ा बयान, बोले इस वजह से एमएस धोनी को बनाया गया था विश्व कप में मेंटोर

पूर्व कोच ने कहा कि अगर आपका कोच आपको चैलेंज देता है, तो आप क्या करोगे? क्या आप घर जाएंगे और चिल्लांगे कि मैं वापसी नहीं करूंगा. अपने बतौर खिलाड़ी करियर मैं मैंने कोच को गलत साबित करने के लिए इसे एक चुनौती के रूप में लिया. उन्होंने कहा कि अगर कुलदीप को लेकर मेरा बयान अश्विन को आहत करता है, तो मैं इस बात से खुश हूं कि इस बात ने उन्हें कुछ अलग करने पर मजबूर किया.


अश्विन के  हालिया कड़े बयान कि उन्हें बस के नीचे धकेल दिया गया पर पूर्व कोच बोले कि जैसी गेंदबाजी अश्विन ने साल 2019 में की और जैसी अब कर रहे हैं, वह एकदम जुदा है. और उन्हें चिंता करने की जरूत नहीं है क्योंकि मैंने बस ड्राइवर से दो-तीन फीट पहले गाड़ी रोकने को कहा था. अश्विन को साल 2018 में सदेश यह था कि उन्हें फिट होना था. इस पर उन्होंने काम किया है और आप देखिए कि वह कैसी गेंदबाजी कर रहे हैं. वह विश्वस्तरीय गेंदबाज हैं. अश्विन के वायरल हो रहे इंटरव्यू में इस ऑफी ने साल 2018 में खुद के ऊपर कुलदीप को वरीयता दिए जाने और टीम से बाहर करने पर कहा था कि उन्हें बस के नीचे धकेल दिया गया. 

 यह भी पढ़ें:  साउथ अफ्रीका में भारतीय बल्लेबाजों की 5 यादगार पारियां, जोहान्सबर्ग से रहा है खास रिश्ता

शास्त्री ने टी20 विश्व कप में पाकिस्तान से मिली हार पर कहा कि पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले के लिए आप कुछ अलग से तैयारी नहीं करते. आप पिछले 20 साल के रिजल्ट देखिए. हमारा जीत का रिकॉर्ड 90 प्रतिशत से ऊपर रहा है. दिन विशेष पर कुछ भी हो सकता है, लेकिन एक-दो हार पर बदलाव क्यों? एमएस धोनी पर रवि ने कहा कि जब टी20 वर्ल्ड कप में एमएस धोनी को मेंटोर घोषित किया गया, तो वास्तव में मेरे लिए इसका कोई महत्व नहीं था. जब सफेद गेंद क्रिकेट की बात आती है, तो यहां एमएस से तेज दिमाग कोई नहीं है. मैं धोनी को बहुत ही नजदीकी से जानता हूं और अगर खेल की भलायी के लिए कोई अच्छा फैसला लिया गया है, तो क्यों नहीं? 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: रविचंद्रन अश्विन ने एक इंटरव्यू में रवि शास्त्री पर निशाना साधा