WTC Final में भारत की हार के 5 अहम कारण, न्यूजीलैंड बना विश्व टेस्ट चैंपियन

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल (World Test Championship Final) में न्यूजीलैंड ने इतिहास रचते हुए भारत को 8 विकेट से हरा दिया. न्यूजीलैंड ने 2 विकेट खोकर लक्ष्य को हासिल कर लिया.

WTC Final में भारत की हार के 5 अहम कारण, न्यूजीलैंड बना विश्व टेस्ट चैंपियन

जानिए भारत की हार के 5 अहम कारण

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल (World Test Championship Final) में न्यूजीलैंड ने इतिहास रचते हुए भारत को 8 विकेट से हरा दिया. न्यूजीलैंड ने 2 विकेट खोकर लक्ष्य को हासिल कर लिया. भारत ने न्यूजीलैंड को जीत के लिए 139 रन का लक्ष्य दिया था जिसे कीवी टीम ने 2 विकेट पर हासिल कर लिया. केन विलियमसन ने कप्तानी पारी खेलते हुए 52 रन बनाए और अंत तक क्रीज में डटे रहे, विलियमसन के अलावा रॉस टेलर ने 47 रन बनाकर अपनी टीम को शानदार जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई. 144 साल के टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में न्यूजीलैंड ने सबसे बड़ा खिताब जीतकर इतिहास लिख दिया है. टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में भारत को मिली हार के 5 अहम वजह ये रही.

WTC Final 2021: न्यूजीलैंड चला जीत की ओर, तो भावुक सोशल मीडिया ने मांगा रवि शास्त्री का इस्तीफा

प्लेइंग इलेवन में गलती
टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में मिली हार की सबसे बड़ी गलत प्लेइंग इलेवन का गलत चुनाव रहा. पूरे टेस्ट मैच में भारत को एक तेज गेंदबाज की कमी साफ खली. खासकर भुवनेश्वर कुमार जैसे स्विंग गेंदबाज को टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के लिए टीम में शामिल न करना भारतीय टीम के लिए सबसे बड़ी भूल साबित हुए. एक तरफ जहां न्यूजीलैंड की टीम जेमिसन, साउदी और वैगनर जैसे तेज गेंदबाज के साथ मैदान पर उतरी और भारतीय बल्लेबाजों को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया. भारत के खिलाफ ऐतिहासिक फाइनल में न्यूजीलैंड ने अपनी प्लेइंग इलेवन में एक भी स्पिनर को नहीं शामिल किया था. 

भारतीय टॉप ऑर्डर का फ्लॉप शो
ऐतिहासिक फाइनल में भारत के टॉप ऑर्डर फ्लॉप रहे. विराट कोहली हों या फिर रहाणे, सभी ने निराश किया. रोहित शर्मा को दोनों पारियों में अच्छी शुरूआत मिली लेकिन बड़ा स्कोर नहीं कर पाए. विराट कोहली ने पहली पारी में 44 रन बनाए लेकिन स्विंग खाती गेंदों पर वो भी विवश नजर आए. जेमिसन ने उन्हें दोनों पारियों में इन-स्विंग और आउट-स्विंग गेंद पर पवेलियन की राह दिखा दी. भारत के नई दिवार पुजारा टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में  ढहते हुए नजर आए. दोनों पारियों में पुजारा फ्लॉप रहे. यही नहीं दूसरी पारी में उन्होंने रॉस टेलर का कैच स्लिप में टपकाया भी. सही मायने में भारतीय बल्लेबाजी कीवी तेज गेंदबाजों के सामने बौनी नजर आई.

WTC Final: ऋषभ पंत ने करामाती शॉट मारकर गेंदबाज की निकाल दी हेकड़ी, बटलर बोले- 'बॉक्स ऑफिस..'-Video

प्रैक्टिस मैच का न खेलना
ऐतिहासिक टेस्ट मैच से पहले भारतीय टीम के खिलाड़ी एक भी प्रैक्टिस मैच नहीं खेले थे. जिसका खामियाजा यकीनन फाइनल में उन्हें भुगतना पड़ा. हालांकि भारतीय टीम के खिलाड़ियों ने आपस में इंट्रा-स्क्वॉड मैच खेला था लेकिन उस अभ्यास मैच का भारतीय टीम को फाइनल में कोई फायदा नहीं मिला. 

जसप्रीत बुमराह का बेअसर रहना
वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में जसप्रीत बुमराह कीवी बल्लेबाजों के लिए बेअसर रहे. पहली पारी में बुमराह ने 26 ओवर की गेंदबाजी की लेकिन एक भी विकेट नहीं ले पाए तो वहीं दूसरे पारी में भी उनकी गेंदबाजी में वो बात नहीं दिखी, जिसपर न्यूजीलैंड बल्लेबाजों को ज्यादा मुश्किल हो. बुमराह का न चल पाना भी भारत की हार की एक मुख्य वजह रही. 

WTC Final: करियर के आखिरी दिन भी कीवी खिलाड़ी का कम नहीं हुआ हौसला, घायल होने पर भी देश के लिए खेलता रहा

न्यूजीलैंड के आखिरी 4 विकेटों ने बदल दिया मैच


कीवी टीम की पहली पारी के दौरान आखिरी 4 टैंलेंडरों ने मिलकर 87 रन जोड़ें जिसने मैच में सारा फर्क पैदा कर दिया, एक तरफ जहां न्यूजीलैंड के 6 विकेट 162 रन पर गिर गए थे लेकिन इसके बाद आखिरी 4 बल्लेबाजों ने भारतीय रणनीति के उलट कमाल की बल्लेबाजी कर मैच का पासा वहीं पलट दिया था. न्यूजीलैंड ने पहली पारी में 249 रन बनाए थे और पहली पारी के आधार पर 32 रन की अहम बढ़त हासिल की थी. यह भी भारत की हार का एक अहम कारण रहा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com