इंजीनियर ने छुट्टी के लिए अनोखे अंदाज़ में आवेदन लिखा-'ओवैसी मेरे पिछले जन्म के मित्र...'

बचपन में पढ़ाई के दौरान हमें आवेदन लिखने को कहा जाता था, तो हम मज़ेदार तरीके से आवेदन लिखते थे. एक ऐसा ही मामला सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा है. दरअसल, मध्य प्रदेश में एक सहायक इंजीनियर ने बेहद अनोखे अंदाज़ में छुट्टी मांगी है.

इंजीनियर ने छुट्टी के लिए अनोखे अंदाज़ में आवेदन लिखा-'ओवैसी मेरे पिछले जन्म के मित्र...'

बचपन में पढ़ाई के दौरान हमें आवेदन लिखने को कहा जाता था, तो हम मज़ेदार तरीके से आवेदन लिखते थे. एक ऐसा ही मामला सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा है. दरअसल, मध्य प्रदेश में एक सहायक इंजीनियर ने बेहद अनोखे अंदाज़ में छुट्टी मांगी है. अपनी चिट्ठी में उन्होंने लिखा- मेरी आत्मा अमर है. इसका मुझे आभास हो चुका है. मुझे पिछले जन्म का भी आभास हो चुका है. मैं अब गीता पाठ करना चाहता हूं. अपने अंदर का अहंकार मिटाना है. घर-घर भीख मांगूंगा. ये चिट्ठी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. इसे समाचार एजेंसी एएनआई ने अपने ऑफ़िशियल ट्विटर अकाउंट पर भी शेयर किया है.

ट्वीट देखें


इस इंजीनियर का नाम राजकुमार यादव है. वर्तमान में इंजीनियर साहब मालवा जिले में कार्यरत हैं. रविवार की छुट्टी के लिए उन्होंने बेहतरीन तरीके से एक ऐप्लिकेशन लिखी है. एप्लिकेशन में उन्होंने लिखा है- असदुद्दीन ओवैसी को बचपन का दोस्त है और आरएसएस मुखिया मोहन भागवत को शकुनी मामा हैं.

अफसर ने भी छुट्टी का जवाब दिया है.

34u5nen

अधिकारी ने भी मज़ेदार तरीके से जवाब दिया है. उन्होंने रिप्लाई करते हुए लिखा है- आप अपना अहंकार मिटाना चाहते हैं यह प्रसन्नता की बात है. इसमें हमारा अकिंचन सहयोग भी साधक हो सकता है. यह विचार मन में हर्ष उत्पन्न करता है. अंहकार को इसके बीजरूप में नष्ट करना आपकी उन्नति के लिए अपरिहार्य है. ऐसे में आपकी आत्मिक उन्नति की अभिलाषा के साथ आपको आदेशित किया जाता है कि आप प्रत्येक रविवार को कार्यालय में उपस्थित होकर अपने अहंकार का नाश करें. आपकी आत्मिक उन्नति में साधक बनने की प्रसन्नता के साथ आपका पराग पंथी सीईओ, सुसेनर.


सोशल मीडिया पर लोग मीम्स के साथ मज़े ले रहे हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com