“बेबीसिटर” के बाद आया “डॉगसिटर” का जमाना, नौकरी के लिए दिए जा रहे विज्ञापन

हाल ही में लंदन में एक महिला ने डॉगसिटर के लिए एक विज्ञापन दिया जिसपर काफी मजेदार प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रही हैं. सोशल मीडिया पर इस महिला को काफी लोग फटकार लगा रहे हैं कि कैसे कोई उनके पिल्ला की देखभाल £ 2.35 प्रति घंटे के हिसाब करेगा क्योंकि वो व्यस्त रहती है.

“बेबीसिटर” के बाद आया “डॉगसिटर” का जमाना, नौकरी के लिए दिए जा रहे विज्ञापन

डॉगसिटर के लिए विज्ञापन

लंदन:

तेज रफ्तार से भाग रही इस जिंदगी में आजकल “बेबीसिटर” की अहमियत काफी बढ़ गई है. यहां तक कि भारत में भी न्यूक्लियर फैमिली के बढ़ते प्रचलन की वजह से कामकाजी दंपत्ति “बेबीसिटर” की तलाश करते रहते हैं जो उनके छोटे बच्चों की देखभाल कर सके. बहरहाल वक्त बदला और जरूरत भी बदल गई. अब विदेशों में “डॉगसिटर” का जमाना आ गया है. ये डॉगसिटर एक निश्चित समय के लिए रोज ही कुत्ते के साथ होते हैं और उसकी देखभाल करते हैं. इसके लिए उन्हें बजाप्ते तनख्वाह भी दिए जाते हैं.  

बहरहाल, हाल ही में लंदन में एक महिला ने डॉगसिटर के लिए एक विज्ञापन दिया जिसपर काफी मजेदार प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रही हैं. सोशल मीडिया पर इस महिला को काफी लोग फटकार लगा रहे हैं कि कैसे कोई उनके पिल्ला की देखभाल £ 2.35 प्रति घंटे के हिसाब करेगा क्योंकि वो व्यस्त रहती है.

एक पोस्टर विज्ञापन में, जिसे रेडिट पर साझा किया गया है, उस महिला ने कहा कि: "डॉगसिटर चाहिए. वीकडेज़ (सोमवार से लेकर शुक्रवार तक) पर सुबह 10 बजे से दोपहर 3 बजे तक. प्रति माह £ 200 वेतन. आप मेरे अपार्टमेंट में घूम सकते हैं या उसे वापस अपने पास ला सकते हैं."

इस विज्ञापन के बाद अजीबो-गरीब प्रतिक्रिया आ रहे हैं. कुछ डॉग-लवर्स ने तो नारा दिया कि उस कुत्ते को गोद ले लेना चाहिए क्योंकि महिला के पास "समय नहीं है". एक और ने शिकायत की कि उसके घर और वापस जाने के लिए पेट्रोल में ही प्रति माह £ 200 खर्च हो जाएगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उस महिला ने विज्ञापन में बताया कि उसके पिल्ले का वजन फिलहाल 3 पाउंड है जो करीबन 15 पाउंड तक बढ़ सकता है. इस बात पर प्रतिक्रिया देते हुए एक यूज़र ने लिखा,”: "यह कुत्ता 3lbs का है मतलब यह आठ सप्ताह का हो सकता है – इस उम्र में उसके साथ पांच घंटा लगाना वाकई एक मुश्किल काम होगा क्योंकि वो पूरी तरह “पोट्टी–ट्रेंड” भी नहीं होगा.”