मज़दूर की बेटी ने पास किया यूपीएससी एग्जाम, कहा- 15 साल का सपना पूरा हुआ

यूपीएससी 2020 के परिणाम आ चुके हैं. इस बाद देश भर के 761 उम्मीदवारों को उतीर्ण घोषित किया गया है. इसमें केरल के तिरुवनंतपुरम के एक कंस्ट्रक्शन कंपनी में काम करने वाली की बेटी ने भी सफ़लता के झंडे गाड़े हैं. उन्हें 481वां रैंक प्राप्त हुआ है.

मज़दूर की बेटी ने पास किया यूपीएससी एग्जाम, कहा- 15 साल का सपना पूरा हुआ

"मेहनत उसकी बेकार हर बार नहीं होती, कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती" ये पंक्तियां केरल की बेटी अस्वस्थी (Aswathy) पर ख़ूब फिट बैठती है. अपनी मेहनत और लगन से इन्होंने वाकई में साबित कर दिया कि जो इंसान मेहनत करता है, उसे एक दिन सफ़लता ज़रूर मिलती है. यूपीएससी 2020 (UPSC Results 2020) के परिणाम आ चुके हैं. इस बाद देश भर के 761 उम्मीदवारों (UPSC Candidates) को उतीर्ण घोषित किया गया है. इसमें केरल (Kerala) के तिरुवनंतपुरम के एक कंस्ट्रक्शन कंपनी (Construction Company) में काम करने वाली की बेटी ने भी सफ़लता के झंडे गाड़े हैं. उन्हें 481वां रैंक प्राप्त हुआ है. अपने परिणाम से वे बेद ख़ुश हैं.


समाचार एजेंसी एएनआई को उन्होंने बताया कि ये मेरा चौथा प्रयास था. पिछले तीन प्रयासों में मैं असफ़ल रही, मगर इस बार मुझे सफ़लता मिल गई है. मैंने अपनी लेखनी पर ज़्यादा ध्यान दिया. इस बार मैंने बहुत अच्छे से अपनी परीक्षा दी. नतीजा आपके सामने है. मैं अपने परिजनों का धन्यवाद करना चाहती हूं.

plh7ko08

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


अस्वस्थी के पिता एक कंस्ट्रक्शन कंपनी में दिहाड़ी मज़दूर हैं. उनका नाम प्रेम कुमार है. वो बताते हैं कि मैं बहुत ख़ुश हूं. विषम परिस्थितियों में मेरी बेटी ने यूपीएससी की परीक्षा पास कर मेरा मान बढ़ाया है. मैं गर्व करता हूं. वो बचपन से ही पढ़ने में बहुत तेज़ थी.