साइकिल से नाप रहे हैं लद्दाख की ऊंची वादियां, बर्फीली वादियों में इन परेशानियों से निपटते हुए यूट्यूबर ले रहा सैर का मजा

ऐसा कम ही लोग सोच पाते हैं कि, ऊंची-ऊंची चढ़ाई वाली जगहों पर साइकिल के पैडल मारते हुए चढ़ा जाए. एक ऐसे ही शख्स ने इन घुमावदार रास्तों के लिए अपना साथी एक साइकिल को चुना है.

साइकिल से नाप रहे हैं लद्दाख की ऊंची वादियां, बर्फीली वादियों में इन परेशानियों से निपटते हुए यूट्यूबर ले रहा सैर का मजा

साइकिल के इस दीवाने का वीडियो हो रहा वायरल.

लद्दाख जैसी जगह की सैर पर जाना हो या फिर किसी और बर्फीली वादी की सैर करनी हो तो ज्यादातर लोग कार ही चुनते हैं, जो लोग नजारों का पूरा लुत्फ उठाने की कोशिश करते हैं, ऐसे शौकीन बाइक पर सवार हो कर इन जगहों की सैर पर निकल जाते हैं. ऐसा कम ही लोग सोच पाते हैं कि, ऊंची-ऊंची चढ़ाई वाली जगहों पर साइकिल के पैडल मारते हुए चढ़ा जाए. हाल ही में एक ऐसे ही शख्स ने इन घुमावदार रास्तों के लिए अपना साथी एक साइकिल को चुना है और तमाम मुश्किलों का सामना करते हुए भी वो इन जगहों का पूरा मजा ले रहे हैं और एक नई नजर से दुनिया को देख भी रहे हैं.

Latest and Breaking News on NDTV

साइकिल से पहुंचे लद्दाख

जीजीए राइडर नाम से चैनल चलाने वाले इस शख्स का नाम गोविंद हैं, जो जब चाहे साइकिल लेकर सैर पर निकल पड़ते हैं. हाल ही में वे गुजरात के जामनगर से लद्दाख की ऊंची-ऊंची वादियों का सफर कर रहे हैं, जिन चढ़ावों पर कोई चलने की भी नहीं सोच सकता, उन घाटियों पर साइकिल के पैडल मारते हुए गोविंद हर जगह की सैर कर रहे हैं. एक ब्लॉगर की तरह लोगों को उस जगह की खूबी और खूबसूरती भी बता रहे हैं और गुजरते हुए राहगीरों से गुफ्तगू भी कर रहे हैं. उनका खानाबदोश सा ये सफर इस फलसफे पर आगे बढ़ रहा है कि, जहां जगह मिली सो गए, जहां मौका मिला वहां खा लिया.

यहां देखें पोस्ट

इन मुश्किलों से हुआ सामना

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

खूबसूरत जगह का सफर तो अमूमन सुहाना ही होता है, लेकिन गोविंद को इस दौरान कई तरह के चैलेंज भी फेस करने पड़ते हैं, जिन रास्तों पर वो निकलते हैं, वहां दूर-दूर तक कोई नजर नहीं आता. ऊंची चढ़ाइयों पर चलते हुए वो हांफने लगते हैं और फिर रुक कर दम भरना पड़ता है. इस बीच कई बार उनकी साइकिल में खराबी भी आई. तब मुश्किल बढ़ जाती है, क्योंकि साइकिल की मरम्मत के लिए उन्हें आसानी से कोई जगह नहीं मिलती. इसके बावजूद वो अपना सफर जारी रखे हुए हैं.