"जो जैसा होता है, उसे वैसा दिखाई देता है": पुतिन ने 'हत्यारा' कहने पर बाइडेन को दिया जवाब

रूस के राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन ने गुरुवार को कहा कि हम दूसरे व्यक्ति में वही आदतें या खासियत देखते हैं और हमें लगता है कि यह तो हमारी ही तरह है.

पुतिन ने कहा कि रूस के हितों के मामले में उनका देश अमेरिका के साथ काम करेगा (फाइल)

मॉस्को:

रूस के राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन (Russian President Vladimir Putin) ने उन्हें हत्यारा बताए जाने के अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (US President Joe Biden) के आरोपों का करारा जवाब दिया है. पुतिन ने निजी हमलों पर स्पष्ट किया कि रूस इस बयान के बाद अमेरिका से अपने रिश्ते नहीं तोड़ेगा. पुतिन ने कहा कि क्रीमिया पर रूस के कब्जे के 7 साल पूरे होने के मौके पर कहा कि रूस अमेरिका के साथ रिश्तों को आगे बढ़ाएगा. लेकिन बाइडेन के बयान पर पुतिन ने कहा कि जो जैसा होता है, उसे वैसा ही दिखाई देता है.

पुतिन ने कहा कि क्रीमिया पर रूस के कब्जे के 7 साल पूरे होने के मौके पर कहा कि रूस अमेरिका के साथ रिश्तों को आगे बढ़ाएगा. लेकिन बाइडेन के बयान पर पुतिन ने कहा कि जो जैसा होता है, उसे वैसा ही दिखाई देता है.पुतिन ने टीवी पर प्रसारित कार्यक्रम में कहा कि जो जीवन में वैसा होता है, उसे वैसा ही दिखाई देता है.

रूसी राष्ट्रपति ने कहा, यह बच्चों की कहावत मात्र नहीं है और न ही मजाक है. यह एक मनोवैज्ञानिक तथ्य है. हम हमेशा दूसरे व्यक्ति में वही खासियत देखते हैं, जैसे हम होते है और सोचते हैं कि यह हमारे जैसा है. पुतिन ने कहा कि वह 78 वर्षीय बाइडेन के अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हैं. मैं बिना किसी आश्चर्य के ये बात कह रहा हूं. ये मजाक नहीं है.


एबीसी न्यूज को दिए इंटरव्यू में बाइडेन से जब रूस में विपक्ष के नेता एलेक्सी नवेलनी (Alexei Navalny)को जहर दिए जाने के आदेश के मामले में पुतिन को हत्यारा करने के आरोपों पर पूछा गया था तो उन्होंने कहा था कि हां उन्हें ऐसा ही लगता है. 
अमेरिकी राष्ट्रपति के बयान ने दोनों देशों के बीच हालिया रिश्ते में बड़ा संकट पैदा किया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बाइडेन के बयान के बाद रूस ने वाशिंगटन में अपने राजदूत को आपात चर्चा के लिए बुला लिया था. इसे दोनों देशों के हालिया कूटनीतिक रिश्तों में नया गतिरोध माना जा रहा था. पुतिन ने कहा कि अमेरिका दुनिया में एकमात्र देश है, जिसने परमाणु हथियारों का इस्तेमाल किया है. हालांकि रूस अपने हितों की रक्षा करना जानता है और इसी को ध्यान में रखते हुए अमेरिका से आगे भी संबंध बनाए रखेगा.