अफगानिस्तान में जंग खत्म, अगले कुछ दिनों में बन जाएगी नई सरकार : तालिबान

Taliban प्रवक्ता ने लोगों के देश छोड़कर भागने और विरोध प्रदर्शन की खबरों के बीच कहा, लोगों को यह समझना चाहिए कि आक्रमणकारी कभी किसी देश का पुनर्निर्माण नहीं करते. यह हमारे अपने लोगों की जिम्मेदारी है.

अफगानिस्तान में जंग खत्म, अगले कुछ दिनों में बन जाएगी नई सरकार : तालिबान

तालिबान पंजशीर घाटी समेत पूरे अफगानिस्तान पर पूरा कब्जा कर लेना का दावा किया है.

काबुल:

तालिबान ने कहा है कि पंजशीर समेत पूरे अफगानिस्तान में युद्ध का दौ अब खत्म हो चुका है और अगले कुछ दिनों में नई सरकार का गठन हो जाएगा. तालिबान प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने सोमवार को यह प्रतिक्रिया दी. मुजाहिद ने कहा कि नई सरकार बस कुछ दिनों में सबके सामने होगी.  अफगानिस्तान (Afghanistan) में नई तालिबान सरकार को लेकर मतभेदों की खबरों के बीच उनका यह बयान आया है. टोलो न्यूज एजेंसी ने मुजाहिद के हवाले से कहा, अफगानिस्तान में जंग खत्म हो चुकी है, अब हम सब मिलकर काम करेंगे और देश का पुनर्निर्माण करेंगे. नई सरकार जल्द ही जिम्मेदारी संभालेगी.

"अगर हम मर गए ...": तालिबान के हाथों मारे गए विरोधी गुट के नेता ने NDTV से कही थे ये बड़ी बात

इससे पहले तालिबान सोमवार सुबह ऐलान कर चुका है कि पंजशीर (Panjshir) प्रांत पर भी उसका कब्जा हो चुका है. हालांकि विरोधी गुट ने इस दावे को खारिज कर दिया है. रजिस्टेंस फोर्स का कहना है कि उनके नेता अहमद मसूद (Resistance Forces leader Ahmad Massoud) जल्द ही एक बयान जारी करेंगे. तालिबान प्रवक्ता ने यह भी बताया कि तुर्की, यूएई और कतर की तकनीकी टीमें काबुल एय़रपोर्ट को दोबारा चालू किए जाने पर काम कर रही हैं.

लोगों के देश छोड़कर भागने और विरोध प्रदर्शन की खबरों के बीच मुजाहिद ने कहा, लोगों को यह समझना चाहिए कि आक्रमणकारी कभी किसी देश का पुनर्निर्माण नहीं करते. यह हमारे अपने लोगों की जिम्मेदारी है.  अफगानिस्तान के पुनर्निर्माण में चीन की भूमिका पर मुजाहिद ने कहा, तालिबान पूरी दुनिया से अच्छे संबंध चाहते हैं और चीन एक बड़ी आर्थिक शक्ति है. अफगानिस्तान के पुनर्निर्माण और और विकास में उसकी सहायता की बेहद जरूरत होगी.

गौरतलब है कि पिछले हफ्ते पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के प्रमुख फैज हमीद काबुल की आपात यात्रा पर आए थे. माना जा रहा है कि सत्ता में भागीदारी को लेकर तालिबान नेताओं के बीच झगड़े की खबरों को लेकर वो सुलह समाधान के लिए वहां पहुंचे थे. खबरों में कहा गया है कि तालिबान का सह संस्थापक मुल्ला अब्दुल गनी बरादर (Mullah Abdul Ghani Baradar )  को इस झगड़े के दौरान चोटें भी आई थीं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान (Pakistan) अफगानिस्तान की जेलों से कैदियों के छोड़े जाने को लेकर चिंतित है. लेकिन उन्हें यह भरोसा दिया गया है कि किसी को भी अफगानिस्तान की जमीन का इस्तेमाल किसी दूसरे देश पर हमला करने के लिए नहीं दिया जाएगा.