Ukraine Crisis: यूरोप यात्रा पर जो बाइडेन, कीव की घेराबंदी कर रूस कर रहा बमबारी; 264 नागरिकों की मौत : 10 बातें

Russia Ukraine Crisis: रूसी सेना यूक्रेन में भयंकर तबाही मचा रही है. कीव, मारियुपोल सहित यूक्रेन के दूसरे शहरों में रूसी सेना भीषण बमबारी कर रही है. वहीं यूक्रेन की सेना भी रूस के हजारों सैनिकों को मारने का दावा कर रही है.

Ukraine Crisis: यूरोप यात्रा पर जो बाइडेन, कीव की घेराबंदी कर रूस कर रहा बमबारी; 264 नागरिकों की मौत : 10 बातें

Ukraine War: रूसी सेना यूक्रेन में मचा रही भयंकर तबाही

Russia-Ukraine Crisis : रूसी सेना यूक्रेन में भयंकर तबाही मचा रही है. कीव, मारियुपोल सहित यूक्रेन के दूसरे शहरों में रूसी सेना भीषण बमबारी कर रही है. वहीं यूक्रेन की सेना भी रूस के हजारों सैनिकों को मारने का दावा कर रही है. नाटो का अनुमान है कि यूक्रेन में एक महीने के युद्ध के दौरान 7,000 से 15,000 रूसी सैनिक मारे गये हैं. नाटो सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रूसी सैनिकों के मारे जाने संबंधी अनुमान यूक्रेनी अधिकारियों से प्राप्त सूचना और स्वतंत्र सूत्रों से एकत्रित खुफिया जानकारी पर आधारित है. वहीं यूक्रेन संकट समाधान को लेकर अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडेन ब्रसेल्स पहुंचे. उम्मीद लगाया जा रहा है कि अमेरिका रूस के खिलाफ नए प्रतिबंधों की घोषणा कर सकता है.

मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :

  1. रूसी सेना यूक्रेन की राजधानी कीव में घेराबंदी की रणनीति अपना बमबारी कर रही है. जिसमें भारी जान-माल को नुकसान पहुंचा है. कीव के मेयर विटाली क्लिट्स्को का कहना है कि शहर में 264 नागरिक रूसी हमलों में मारे गए हैं.

  2. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा है कि ब्रिटेन रूसी सेना से लड़ने में मदद करने के लिए यूक्रेन की सेना को वित्तीय सहायता में 6,000 मिसाइल और £ 25 मिलियन ($ 33 ​​मिलियन, 30 मिलियन यूरो) भेजेगा. इसके साथ ही अन्य उच्च विस्फोटक हथियार भी यूक्रेन को दिए जाएंगे. 

  3. यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने बुधवार को दुनिया भर के नागरिकों से अपने देश पर रूस के आक्रमण को रोकने के लिए सड़कों पर उतरने का आग्रह किया है. रूस ने 24 फरवरी को यूक्रेन के खिलाफ सैन्य कार्रवाई शुरू की थी. हालांकि, इसके चार सप्ताह पूरे होने के बाद भी रूस ने हताहत हुए अपने सैनिकों की संख्या नहीं बताई है.

  4. अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडेन (joe biden) के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने जानकारी देते हुए कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन यूरोप की अपनी यात्रा के दौरान कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे, जिसमें नाटो के एक आपात सम्मेलन में भाग लेना, यूरोपीय संघ (ईयू) के नेताओं को संबोधित करना और जी-7 नेताओं के साथ बैठक करना शामिल है. 

  5. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने यूनानी समकक्ष निकोस डेनडियस के साथ यूक्रेन संकट से लेकर अफगानिस्तान की स्थिति तक और दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंध को रणनीतिक साझेदारी तक बढ़ाने की संभावना सहित विस्तृत मुद्दों पर चर्चा की है. दोनों पक्षों ने लोगों की व्यवस्थित और वैध आवाजाही के महत्व को रेखांकित किया और प्रवास और आवागमन मंशा घोषणापत्र पर हस्ताक्षार किए.

  6. अमेरिकी सांसदों के एक समूह ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन से यूक्रेन में मानवीय सहायता पहुंचाने के लिए भारत, ब्राजील, मिस्र और यूएई जैसे देशों से संपर्क करने और इन देशों से पायलट मांगने का आग्रह किया है, क्योंकि रूस इन्हें गैर-शत्रु देश मानता है.  बीस सांसदों के एक समूह ने बाइडन को पत्र लिखा है, जिसमें कहा गया है कि यूकेन में जहां भी संभव है जिंदगियां बचाना अमेरिका की नैतिक जिम्मेदारी है

  7. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेंबिन (Wang Wenbin) ने कहा है कि G-20 अंतरराष्ट्रीय आर्थिक सहयोग का प्रमुख मंच है और रूस इसका एक महत्वपूर्ण सदस्य है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि किसी भी सदस्य को दूसरे देश को  इस समूह से निष्कासित करने का अधिकार नहीं है.

  8. संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि अभी तक 33 लाख से अधिक लोग यूक्रेन से भाग कर गए हैं. रूस और यूक्रेन के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है, लेकिन अभी तक इसका कोई सकारात्मक परिणाम नहीं निकला.  यूक्रेन की सेना ने कीव के आसपास के कई क्षेत्रों में रूसी सैनिकों को पीछे धकेल दिया है. जानकारी देते हुए शहर के मेयर ने कहा कि हमने कि राजधानी को आत्मसमर्पण करने के बजाय हर इमारत की रक्षा करने की कसम खाई.

  9. ओडेसा में अधिकारियों ने रूसी सेना पर आरोप लगाया कि उसने आवासीय भवनों पर हमले किए. कीव के मेयर विटाली क्लिट्स्को ने कहा कि इरपिन का लगभग पूरा हिस्सा पहले से ही यूक्रेनी सैनिकों के नियंत्रण में है.

  10. विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस से न्यूयॉर्क में मुलाकात की. इस दौरान यूक्रेन, अफगानिस्तान और म्यांमार सहित संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के एजेंडे पर चर्चा हुई. इस बात की जानकारी विदेश मंत्रालय ने ट्वीट कर दिया है.