क्‍या अफगानिस्‍तान पर तालिबान के शासन का जो बाइडेन समर्थन करेंगे, व्‍हाइट हाउस ने दिया यह जवाब..

यह पूछे जाने पर कि क्या अफगानिस्तान पर तालिबान का शासन होने पर बाइडेन इसे समर्थन देंगे, व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि वह इसका समर्थन करेंगे.” 

क्‍या अफगानिस्‍तान पर तालिबान के शासन का जो बाइडेन समर्थन करेंगे, व्‍हाइट हाउस ने दिया यह जवाब..

व्‍हाइट हाउस ने कहा है, अफगानिस्‍तान में तालिबान के शासन जो बाइडेन समर्थन नहीं करेंगे

खास बातें

  • कहा, राष्‍ट्रपति जो बाइडेन इसका समर्थन नहीं करेंगे
  • अफगानिस्‍तान में शांति स्‍थापना के लिए कदमों पर हो रहा विचार
  • अमेरिका और तालिबान के बीच फरवरी 2020 में हुआ था करार
वॉशिंगटन:

व्हाइट हाउस ने कहा है कि यदि अफगानिस्तान पर तालिबान का शासन (Taliban ruled Afghanistan) होता है तो अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) इसका समर्थन नहीं करेंगे. इसके साथ ही व्हाइट हाउस (White House) की ओर से कहा गया है कि युद्ध प्रभावित अफगानिस्तान में शांति स्थापित करने के लिए अगला कदम उठाने की प्रक्रिया पर विचार किया जा रहा है.अमेरिका और तालिबान के बीच फरवरी 2020 में समझौता हुआ था, जिसके तहत स्थायी रूप से संघर्ष विराम, तालिबान और अफगानिस्तान की सरकार के बीच शांति स्थापना को लेकर बातचीत और एक मई तक सभी विदेशी सेनाओं की वापसी पर सहमति बनी थी.

कोविड-19 महामारी : बाइडन को साल के अंत तक अमेरिका में हालात सामान्य होने की उम्मीद

अफगानिस्तान में अभी लगभग 2,500 अमेरिकी सैनिक हैं.यह पूछे जाने पर कि क्या अफगानिस्तान पर तालिबान का शासन होने पर बाइडेन इसे समर्थन देंगे, व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने मंगलवार को संवाददाताओं से कहा, “मुझे नहीं लगता कि वह इसका समर्थन करेंगे.” साकी ने कहा, “अफगानिस्तान में अगला कदम उठाने की प्रक्रिया जारी है. इस पर चर्चा हो रही है और आगे क्या होगा, मैं इस पर टिप्पणी नहीं करना चाहता.”


भारत को आर्थिक और रणनीतिक तौर पर बाइडेन से है कई उम्मीदें

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)