कोरोना वायरस से नेता की मौत होने के बाद अमेजन जनजाति के लोगों ने अगवा किए गए लोगों को छोड़ा

Coronavirus: आदिवासियों ने पेरू की सीमा के पास कुमाय गांव में गुरुवार को दो पुलिस अफसरों, दो सैनिकों और दो नागरिकों को बंदी बना लिया था

कोरोना वायरस से नेता की मौत होने के बाद अमेजन जनजाति के लोगों ने अगवा किए गए लोगों को छोड़ा

अमेजन आदिवासियों ने नेता का शव सौंपने के बाद अगवा किए गए लोगों को छोड़ दिया (प्रतीकात्मक फोटो).

क्यूटो:

Coronavirus: इक्वाडोर में अमेजोनियन जनजाति के लोगों ने कोरोनो वायरस संक्रमण से मृत उनके एक नेता का शव देने की मांग पूरी करने के ऐवज में छह लोगों को रिहा कर दिया. इक्वाडोर सरकार ने शनिवार को यह जानकारी दी. आदिवासियों ने पेरू की सीमा के पास कुमाय गांव में गुरुवार को दो पुलिस अफसरों, दो सैनिकों और दो नागरिकों को बंदी बना लिया था.

आदिवासियों के नेता की कोविड-19 से मौत गई थी. उन्हें स्वास्थ्य दिशानिर्देशों के मुताबिक दफना दिया गया था. लेकिन बाद में उनके शव को कब्र से निकालकर जनजाति के लोगों को लौटा दिया गया.

देश के आंतरिक मंत्री मारिया पाउला रोमो ने ट्विटर पर कहा कि दक्षिण-पूर्व इक्वाडोर में अमेजन जंगल में पास्ता प्रांत में अगवा नागरिकों के मुक्त होने के बाद उनकी चिकित्सा जांच की गई. रोमियो ने कहा कि पुलिस कमांडर जनरल पेट्रीसिया कैरिलो के नेतृत्व में अगवा लोगों को मुक्त करने के लिए जनजाति के लोगों से बातचीत की गई. उन्होंने कहा कि अपहरण करने वालों की भीड़ लगभग 600 लोग थे.


पुलिस ने ट्विटर पर कहा कि एक विशेष टीम ने शनिवार को आदिवासी नेता ने शव की पहचान की प्रक्रिया पूरी की और उसके बाद शव को अधिकारियों ने कुमाय तक पहुंचाया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इक्वाडोर कोविड महामारी से पीड़ित लैटिन अमेरिकी देशों में से एक है जहां इससे लगभग 4800 मौतें हो चुकी हैं और संक्रमण के 61000 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं.