पाकिस्तान : पेट्रोल की कीमतों में "सबसे बड़ा उछाल", इमरान खान ने फिर की भारत की तारीफ

भारत (India) अमेरिका (US) का रणनीतिक साझेदार है लेकिन भारत (India) रूस (Russia) से सस्ता तेल खरीद कर 25 पाकिस्तानी रुपए प्रति लीटर तेल की कीमतें कम की हैं:- इमरान खान (Imran Khan)

पाकिस्तान : पेट्रोल की कीमतों में

पाकिस्तान में इमरान खान ने मौजूदा शहबाज शरीफ की सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है

पाकिस्तान (Pakistan) सरकार ने बृहस्पतिवार को पेट्रोलियम उत्पादों (Petroleum Prices)  की कीमतों में 30 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि करने का निर्णय लिया है. यह मूल्यवृद्धि आधी रात से लागू हो गई .इसके बाद पेट्रोल 179.85 रुपये प्रति लीटर, डीजल 174.15 रुपये प्रति लीटर और केरोसिन 155.95 रुपये प्रति लीटर मिले रहा है. वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल ने यहां एक प्रेस वार्ता में यह घोषणा की. उन्होंने कहा कि नई कीमतें आधी रात से लागू हो जाएंगी. इससे एक दिन पहले कतर (Qatar) में पाकिस्तान सरकार और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के बीच आर्थिक सहायता को लेकर हुई बातचीत बेनतीजा रही थी.

इस बीच एक बार फिर से भारत (India) की तारीफ करते हुए पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने पेट्रोल की बढ़ती कीमतों पर प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ (PM Shehbaz Sharif) को घेरा.  

प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की सरकार की आलोचना करते हुए कहा, " यह एक संवेदनाहीन सरकार है". पाकिस्तान की पूर्व तकरीक-ए इंसाफ ( PTI) की सरकार ने रूस से 30%  सस्ता तेल खरीदने की डील कर बात की थी लेकिन मौजूद शहबाज़ सरकार इसे लेकर आगे नहीं बढ़ी है.  

साथ ही उन्होंने भारत की तारीफ करते हुए कहा कि भारत अमेरिका का रणनीतिक साझेदार है लेकिन भारत रूस से सस्ता तेल खरीद कर 25 पाकिस्तानी रुपए प्रति लीटर तेल की कीमतें कम की हैं.

इमरान खान ने ट्वीट कर कहा, " देश ने आयातित सरकार की कीमत चुकानी शुरु कर दी है. देश में पेट्रोल डीज़ल की कीमतों में 20% या कहें कि 20 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है. यह हमारे देश के इतिहास में तेल की दामों में सबसे बड़ा उछाल है. यह असक्षम और असंवेदनशील सरकार रूस से 30% सस्ता तेल खरीदने की हमारी डील पर काम नहीं कर रही है."

इमरान खान अपने को पद से हटाने के पीछे अमेरिकी साज़िश को दोष देते हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


एक दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा, इससे अलग भारत जो कि अमेरिका का रणनीतिक साझेदार है वो रूस से सस्ता तेल खरीद कर ईंधन के दाम घटाने में कामयाब रहा है. हमारे देश में अब महंगाई और बढ़ने वाली है"