विज्ञापन
Story ProgressBack

कुवैत अग्निकांड में अब तक 45 भारतीयों ने गंवाई जान, लाशों को भारत लाने की तैयारी में IAF

कुवैत के अधिकारी मंगाफ इलाके की एक इमारत में लगी भीषण आग में मारे गये लोगों के शवों की डीएनए जांच कर रहे हैं. भारतीय वायुसेना के एक विमान को हादसे में मारे गये भारतीयों के शवों को वापस लाने के लिए तैयार रखा गया है.

कुवैत के मंगाफ शहर में एक लेबर कैंप में आग लग गई थी. यहां ज्यादातर भारतीय कामगार रहते थे.

कुवैत के मंगाफ शहर में लेबर बिल्डिंग में बुधवार को भीषण आग लग गई. ये हादसा इतना दर्दनाक था कि 45 भारतीय समेत 49 लोग जिंदा जल गए. वहीं, इस हादसे में 50 से अधिक लोग घायल हो गए. कुवैत के दक्षिणी अहमदी गवर्नरेट के मंगाफ क्षेत्र में स्थित छह मंजिला इमारत के रसोईघर में लगी. कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया.

Latest and Breaking News on NDTV

मरने वालों में करीब 45 भारतीय हैं. इनमें से 21 लोग केरल और 5 तमिलनाडु से थे. केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज कुवैत के लिए निकल चुकी हैं. कुवैत में एक इमारत में लगी भीषण आग में घायल हुए लोगों की सहायता के लिए किये जा रहे कार्यों की निगरानी करने और इस घटना में मारे गए लगभग 42 भारतीयों के शवों को शीघ्र भारत भेजने के लिए विदेश राज्य मंत्री कीर्तिवर्धन सिंह कुवैत पहुंचे हैं.

Latest and Breaking News on NDTV

एयरफोर्स के विमान से वापस लाए जाएंगे शव
कुवैत के अधिकारी मंगाफ इलाके की एक इमारत में लगी भीषण आग में मारे गये लोगों के शवों की डीएनए जांच कर रहे हैं. भारतीय वायुसेना के एक विमान को हादसे में मारे गये भारतीयों के शवों को वापस लाने के लिए तैयार रखा गया है. हादसे में कुछ शव बुरी तरह से जल गए हैं. इस कारण उनकी पहचान नहीं हो रही है. वहीं, कई शव बिल्डिंग की सीढ़ियों पर भी मिले हैं.

गैस लीक होने से लगी आग! 
कुेवैत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक लेबर बिल्डिंग में आग क्यों लगी, इसका स्पष्ट करणों का पता नहीं चल पया है. हालांकि, मामले की जांच जारी है. स्थानीय मीडिया की ओर से आशंका जताई गई है कि गैस लीक होने से यह हादसा हुआ है. जानकारी ये भी है कि ग्रांउड फ्लोर पर करीब 2 दर्जन से अधिक  गैस सिलेंडर रखे हुए थे.

Latest and Breaking News on NDTV

NBTC ग्रुप की थी ये बिल्डिंग
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बिल्डिंग में रहने वाले भारतीय कामगार केरल और तमिलनाडु से थे. यह बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन सेक्टर की कंपनी NBTC ग्रुप की थी. इस बिल्डिंग के मालिक मलयाली व्यापारी केजी अब्राहम हैं. केजी अब्राहम केरल के तिरुवल्ला के बिजनेसमैन हैं.

अवैध रूप से रह रहे थे कई लोग
गृह मंत्री शेख फहद अल-यूसुफ ने बताया कि बिल्डिंग में कई लोग अवैध रूप से रह रहे थे. इसलिए आग लगने के समय भगदड़ भी मची. जिसमें कई लोगों को चोटें आईं. अफरा-तफरी के बीच कई लोग अंदर फंसे रह गए. धुएं में दम घुटने से उनकी जान चली गई. अभी मरने वालों के बारे में पुख्ता जानकारी नहीं है.

Latest and Breaking News on NDTV

बिल्डिंग के मालिक की गिरफ्तारी का आदेश
कुवैत के गृह मंत्री शेख फहद अल-युसूफ अल-सबह ने बिल्डिंग के मालिक को गिरफ्तार करने का आदेश दिया है. उन्होंने कहा कि दुर्भाग्य से रियल स्टेट मालिक के लालच की वजह से ऐसी घटनाएं होती हैं. ज्यादा किराए के लालच में बिल्डिंग ओनर्स एक ही कमरे में कई लोगों को ठहराते हैं. ज्यादा किराये के लिए सुरक्षा के पैमाने से समझौता किया जाता है.

कुवैत की आबादी में 70% प्रवासी 
कुवैत की कुल 48 लाख आबादी में सिर्फ 30% कुवैती और 70% प्रवासी हैं. अभी करीब 10 लाख भारतीय नागरिक वहां रह रहे हैं. धीरे-धीरे बड़ी संख्या में प्रवासियों को अपनी तरफ आकर्षित करते करते कुवैत एक प्रवासी-बहुल देश बन गया है. हालांकि, आर्थिक चुनौतियों की वजह से अब वहां प्रवासी-विरोधी भावनाएं गहरा रही हैं. ऐसे में कुवैत सरकार ने लक्ष्य बनाया है कि आबादी में प्रवासियों की संख्या को 70% से कम कर के 30% पर लाना है. 

ये भी पढे़ं:- 
खचाखच भरी थी बिल्डिंग, नहीं मिला निकलने का मौका... कुवैत फायर डिपार्टमेंट ने बताया कैसे जिंदा जल गए 49 लोग

NDTV.in पर ताज़ातरीन ख़बरों को ट्रैक करें, व देश के कोने-कोने से और दुनियाभर से न्यूज़ अपडेट पाएं

फॉलो करे:
डार्क मोड/लाइट मोड पर जाएं
Our Offerings: NDTV
  • मध्य प्रदेश
  • राजस्थान
  • इंडिया
  • मराठी
  • 24X7
Choose Your Destination
Previous Article
"मुझे गर्व है कि पार्टी का सपोर्ट मिला..." डेलीगेट्स का समर्थन मिलने पर कमला हैरिस
कुवैत अग्निकांड में अब तक 45 भारतीयों ने गंवाई जान, लाशों को भारत लाने की तैयारी में IAF
जापान की शीर्ष अदालत ने जबरन नसबंदी के कानून को बताया असंवैधानिक, पीड़ितों से मांगी माफी
Next Article
जापान की शीर्ष अदालत ने जबरन नसबंदी के कानून को बताया असंवैधानिक, पीड़ितों से मांगी माफी
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
;