सिंगापुर में भारतीय मूल के व्यक्ति को आठ वर्ष के सुधारात्मक प्रशिक्षण की सजा सुनाई गई

अर्जुन रेतनावेलु को छूट के दौरान फिर से अपराध करने के लिए अतिरिक्त 360 दिनों की जेल की सजा सुनाई गई. अदालत ने अर्जुन को आठ साल के सुधारात्मक प्रशिक्षण की सजा सुनाई.

सिंगापुर में भारतीय मूल के व्यक्ति को आठ वर्ष के सुधारात्मक प्रशिक्षण की सजा सुनाई गई

25 जुलाई, 2018 को सेरांगून रोड पर हुई घटना में चार अन्य लोग भी शामिल थे

सिंगापुर:

सिंगापुर (Singapore) की एक अदालत (Court) ने सोमवार को भारतीय मूल के एक व्यक्ति को किसी पर हमला करने के वास्ते हथियारों की आपूर्ति करने के लिए आठ वर्ष के सुधारात्मक प्रशिक्षण और 24 बेंत लगाने की सजा सुनाई है. अदालत ने 26 वर्षीय इस व्यक्ति को यह सजा एक डंडा और तलवार समेत हथियारों की आपूर्ति करने के लिए सुनाई, जिनका इस्तेमाल 2018 में हिंसा की घटना में किया गया था.

नए कानून में भी खामियां, कुलभूषण जाधव को काउंसुलर एक्सेस से इनकार कर रहा PAK : विदेश मंत्रालय

‘टुडे' अखबार की खबर के अनुसार, अर्जुन रेतनावेलु को छूट के दौरान फिर से अपराध करने के लिए अतिरिक्त 360 दिनों की जेल की सजा सुनाई गई. अदालत ने अर्जुन को आठ साल के सुधारात्मक प्रशिक्षण की सजा सुनाई. खबर के अनुसार, उसे 24 बेंत लगाने की भी सजा सुनाई गई. अर्जुन को घातक हथियार से दंगा करने, गैरकानूनी ढंग से एकत्र हुई भीड़ का हिस्सा होने, सार्वजनिक स्थानों पर हथियार ले जाने, स्वेच्छा से खतरनाक तरीकों से गंभीर चोट पहुंचाने और एक लोक सेवक पर आपराधिक बल का उपयोग करने सहित कई गंभीर आरोपों के लिए दोषी ठहराया गया.

विदेश मंत्री ने द्विपक्षीय मुद्दों की चर्चा के लिये सिंगापुर के मंत्रियों से की मुलाकात


अर्जुन के अलावा, 25 जुलाई, 2018 को सेरांगून रोड पर हुई घटना में चार अन्य लोग भी शामिल थे. इस घटना के अलावा सोमवार को अदालत को बताया गया कि अर्जुन कई अन्य अपराधों में भी लिप्त था. उप लोक अभियोजक (डीपीपी) टिमोथियस कोह ने अदालत को बताया कि अर्जुन का, भारतीय मूल के एक अन्य पीड़ित व्यक्ति, डी सेल्वाराजा (30) के साथ ‘‘संघर्ष का इतिहास'' था. अर्जुन द्वारा दिये गये हथियारों से एक समूह ने सेल्वाराजा पर हमला किया और उन्हें घायल किया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


भारत ने अपनी भूमि पर चीन के अवैध कब्‍जे को स्‍वीकार नहीं किया हैः केंद्र



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)