Dubai Airport पर 2 आम चुराते पकड़े जाने वाले भारतीय को मिली सजा, '115 रुपये के बदले देने होंगे इतने हजार और...'

दुबई एयरपोर्ट (Dubai Airport) पर काम करने वाले एक भारतीय कर्मचारी को दो आम चुराने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था, अब उसे वापस भारत भेजने का फैसला सुनाया गया है. साथ जुर्माना भी लगाया गया है.

Dubai Airport पर 2 आम चुराते पकड़े जाने वाले भारतीय को मिली सजा, '115 रुपये के बदले देने होंगे इतने हजार और...'

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  • दुबई एयरपोर्ट पर आम चुराने वाले भारतीय को मिली सजा
  • दुबई से भारत किया जाएगा डिपोर्ट और 96000 रुपये देने होंगे
  • 11 अगस्त, 2017 को फलों के डिब्बे से दो आम चुराने का मामला
दुबई:

बीते साल दुबई एयरपोर्ट (Dubai Airport) पर काम करने वाले एक भारतीय कर्मचारी को दो आम चुराने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था, अब यूएई (UAE) की एक अदालत ने उसे डिपोर्ट कर वापस भारत भेजने का ( फैसला सुनाया है. साथ ही उसपर जुर्माना भी लगाया गया है. एक मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है.

इस एयरपोर्ट पर मिल रहा है 20 किलो सोना, करना होगा बस ये 'छोटा' सा काम, देखें VIDEO

'खलीज टाइम्स' की रिपोर्ट के मुताबिक अदालत ने 27 साल के भारतीय शख्स पर 5,000 दिरहम (लगभग 96000 रुपये) का जुर्माना लगाया है. बता दें कि इस शख्स ने 11 अगस्त, 2017 को एयरपोर्ट पर यात्री के सामान से दो आम चुराए थे. बता दें कि इस समय उन दो आम की कीमत 6 दिरहम यानी करीब 115 रुपये थी. 

दुर्लभ मूर्तियों के साथ दुबई जा रहा एक शख्स बेंगलुरू एयरपोर्ट से गिरफ्तार
  
पूछताछ और अभियोजन जांच के दौरान, आरोपी ने कहा था कि वह दुबई हवाई एयरपोर्ट के टर्मिनल 3 पर काम कर रहा था. उसने बताया कि उसका काम यात्रियों के सामान को कंटेनर से निकालकर कन्वेयर बेल्ट पर डालना था. पूछताछ के दौरान उसने स्वीकार किया था कि 11 अगस्त, 2017 को, उसने फलों के एक डिब्बे से दो आम चुराया था जिसे भारत में भेजा जाना था, क्योंकि वह प्यासा था और पानी की तलाश में था. अप्रैल 2018 में पुलिस ने उसे बुलाया और घटना के बारे में पूछताछ की. इसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया और उसके घर की तलाशी ली गई थी, लेकिन वहां चोरी का कोई सामान नहीं मिला था.


दुबई फिर से दुनिया का सबसे व्यस्त अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


एक सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि उसने एक कर्मचारी को एक सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग में यात्रियों के सामान को खोलते और चोरी करते देखा गया था. आरोपी को 15 दिनों के भीतर फैसले के खिलाफ अपील करने का अधिकार है.