कोरोना महामारी से पहले रहने के लिए सबसे ज्यादा पसंद किए जाते थे ये शहर, जानें अब क्या है हाल

worlds most liveable cities : कोरोना महामारी के दस्तक देने के बाद दुनिया के उन शहरों को गहरा धक्का लगा है जहां लोग रहने और वक्त बिताने के लिए बेताब रहते थे. महामारी ने रहने के लिए सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले शहरों की रैंकिंग को हिला कर रख दिया है.

कोरोना महामारी से पहले रहने के लिए सबसे ज्यादा पसंद किए जाते थे ये शहर, जानें अब क्या है हाल

दुनिया में रहने के लिए सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले शहरों की रैंकिंग में गिरावट. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लंदन:

कोरोना महामारी (Coronavirus) के दस्तक देने के बाद दुनिया के उन शहरों को गहरा धक्का लगा है जहां लोग रहने और वक्त बिताने के लिए बेताब रहते थे. महामारी ने रहने के लिए सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले शहरों (worlds most liveable cities) की रैंकिंग को हिला कर रख दिया है. इस क्रम में बुधवार को जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक यूरोप (Europe) के मुकाबले ऑस्ट्रेलिया (Australia), जापान (Japan) और न्यूजीलैंड (New Zealand) आगे निकल गए हैं.

द इकोनॉमिस्ट के वार्षिक सर्वे के अनुसार ऑकलैंड 2021 में रहने के लिए दुनिया में सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले शहरों की रेस में सबसे आगे है. इसके बाद जापान में ओसाका और टोक्यो, ऑस्ट्रेलिया में एडिलेड और न्यूजीलैंड में वेलिंगटन हैं. इन सभी शहरों ने कोविड महामारी को नियंत्रण करने में मिसाल पेश की है. 

राजस्थान : तपते रेगिस्तान में प्यास से तड़प-तड़प कर 5 साल की बच्ची ने तोड़ा दम

इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट के मुताबिक कोरोना महामारी की रोकथाम में ऑकलैंड ने अपने सफल दृष्टिकोण का परिचय दिया है. यही कारण है कि रैंकिंग में ऑकलैंड शीर्ष पर पहुंच गया. इसके विपरीत यूरोपीय शहरों ने इस साल विशेष रूप से खराब प्रदर्शन किया.

अध्ययन के अनुसार, "वियना, जो पहले 2018-20 के बीच दुनिया का सबसे अधिक रहने योग्य शहर था, गिरकर 12वें स्थान पर आ गया. रैंकिंग में शीर्ष दस सबसे बड़ी गिरावट में से आठ यूरोपीय शहर हैं." यूरोपीय शहरों की रैकिंग में सबसे बड़ी गिरावट उत्तरी जर्मनी के हैम्बर्ग के लिए रही, जो 34 स्थान गिरकर 47वें स्थान पर आ गया.

सर्वे में बताया गया है कि इन शहरों की रैंकिंग में गिरावट का सबसे बड़ा कारण वहां की खराब चिकित्सकीय व्यवस्था रही. महामारी के दौरान अधिकांश जर्मन और फ्रांसीसी शहरों में खराब स्वास्थ्य देखभाल देखने को मिला है.


पेड वैक्सीनेशन के लिए ई-वाउचर, जानें सरकार की इस स्कीम का कैसे मिलेगा लाभ

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


द इकोनॉमिस्ट ने कहा कि यूरोपीय स्वास्थ्य प्रणाली पर चोट का असर वहां के कल्चर और लोगों के जीवन-यापन को खासा प्रभावित किया है. इस कड़ी में सबसे उल्लेखनीय प्रदर्शन अमेरिका में होनोलूलू, हवाई द्वारा देखने को मिला है. तेज वैक्सीनेशन से महामारी पर नियंत्रण करने के साथ ही यह रैंकिंग में 46 स्थान की उछाल के साथ 14 वें स्थान पर आ गया. वहीं सबसे ज्यादा बुरी स्थिति दमिश्क की है. सीरिया से चल रहे गृहयुद्ध के कारण दमिश्क में जीवन सबसे कठिन है.