चीन ने अपने अंतरिक्ष स्टेशन के लिए तीन यात्रियों को किया रवाना

चाइना स्पेस स्टेशन (सीएसएस) के निदेशक के सहायक जी किमिंग ने मीडिया को बताया कि फी मिशन के कमांडर होंगे. यह प्रक्षेपण ‘लॉन्ग मार्च-2एफ’ रॉकेट के जरिए किया गया.

चीन ने अपने अंतरिक्ष स्टेशन के लिए तीन यात्रियों को किया रवाना

चीन ने अंतरिक्ष में भेजे अपने तीन यात्री

नई दिल्ली:

चीन ने मंगलवार को अमेरिका के साथ कड़ी प्रतिस्पर्धा के बीच अपने निर्माणाधीन अंतरिक्ष स्टेशन के लिए एक अंतरिक्ष यान के जरिए तीन अंतरिक्ष यात्रियों को रवाना किया. शेनझोउ-15 अंतरिक्ष यान को उत्तर-पश्चिमी चीन स्थित जियुक्वान उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से रवाना किया गया. इसमें तीन अंतरिक्ष यात्री- फी जुनलॉन्ग, डेंग किंगमिंग और झांग लू सवार हैं.चाइना स्पेस स्टेशन (सीएसएस) के निदेशक के सहायक जी किमिंग ने मीडिया को बताया कि फी मिशन के कमांडर होंगे. यह प्रक्षेपण ‘लॉन्ग मार्च-2एफ' रॉकेट के जरिए किया गया.

उन्होंने बताया कि इस मिशन पर जाने वाले तीन यात्री अगले लगभग छह महीने तक कक्षा में रहेंगे, ये एक ऐसी समय सीमा है जिसमें निचली कक्षा में अंतरिक्ष स्टेशन का निर्माण पूरा होने की उम्मीद जताई जा रही है. यह चीन द्वारा अपने अंतरिक्ष स्टेशन के लिए भेजा गया तीसरा मानव मिशन है. निर्माण पूरा होने के बाद चीन अपना खुद का अंतरिक्ष स्टेशन रखने वाला एकमात्र देश होगा क्योंकि रूस का अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) कई देशों की एक सहयोगी परियोजना है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

चीन द्वारा पूर्व में घोषित योजनाओं के अनुसार, अंतरिक्ष स्टेशन के इस साल के अंत तक पूरा होने की उम्मीद है.सीएसएस के रूस निर्मित आईएसएस का एक प्रतिस्पर्धी होने की भी उम्मीद है. पर्यवेक्षकों का कहना है कि आने वाले वर्षों में आईएसएस के सेवानिवृत्त होने के बाद सीएसएस कक्षा में रहने वाला एकमात्र अंतरिक्ष स्टेशन बन सकता है.

Featured Video Of The Day

रत्नागिरी रिफाइनरी के खिलाफ लिखने पर पत्रकार की रौंदकर हत्या!