ब्रिटेन ने भारतीय मूल के लोगों से की COVID-19 वैक्सीन ट्रायल्स में शामिल होने की अपील

ब्रिटेन की सरकार ने भारतीय मूल के लोगों सहित अन्य पृष्ठभूमि वाले अल्पसंख्यक समुदायों से और अधिक लोगों को कोविड-19 के संभावित टीके के चल रहे क्लीनिकल परीक्षणों में शामिल होने की अपील की है.

ब्रिटेन ने भारतीय मूल के लोगों से की COVID-19 वैक्सीन ट्रायल्स में शामिल होने की अपील

प्रतीकात्मक तस्वीर

लंदन:

ब्रिटेन की सरकार ने भारतीय मूल के लोगों सहित अन्य पृष्ठभूमि वाले अल्पसंख्यक समुदायों से और अधिक लोगों को कोविड-19 के संभावित टीके के चल रहे क्लीनिकल परीक्षणों में शामिल होने की अपील की है. इसके लिये विभिन्न समुदायों से संपर्क साधने के उपायों में गुजराती, पंजाबी, बांग्ला और उर्दू में प्रसारित लक्षित भर्ती कार्यक्रम भी शामिल हैं. समूचे ब्रिटेन में एक लाख से अधिक लोगों ने टीके के परीक्षणों में स्वयंसेवी के तौर पर हिस्सा लिया है.

कोरोना वैक्सीन के उत्पादन की तैयारी, तीन-तीन वैक्सीन इस समय टेस्टिंग के चरण में : PM मोदी

कोरोना वायरस के खिलाफ एक कारगर और सुरक्षित टीके की खोज में तेजी लाने की कोशिशों के तहत ऐसा किया गया है. हालांकि, इसमें आबादी के कुछ खास तबकों की भागीदारी कम रही है, जिसके चलते कहीं अधिक जातीय अल्पसंख्यकों, 65 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों और अग्रिम मोर्चे पर तैनात स्वास्थ्य एवं सामाजिक देखभाल कार्यकर्ताओं से राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) कोविड-19 टीका अनुसंधान पंजीकरण में शामिल होने की अपील की गई है, ताकि यह सुनश्चित हो सके कि संभावित टीका हर किसी पर असरदार हो.

ब्रिटेन के कारोबार मंत्री आलोक शर्मा ने कहा, ‘‘...इस महत्वपूर्ण अनुसंधान में तेजी लाने के लिये सभी पृष्ठभूमि और उम्र के हजारों लोगों को शामिल करने की जरूरत है. ''

US में फ्री में मिलेगी Covid-19 वैक्सीन, लेकिन ट्रंप के आलोचकों को है इस बात का डर

भारतीय मूल के मंत्री ने कहा, ‘‘मैं हर किसी से कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में अपनी भूमिका निभाने की अपील करता हूं और पहले से पंजीकरण करा चुके एक लाख लोगों के साथ आने का अनुरोध करता हूं.''

ब्रिटिश सरकार के टीका कार्यबल की अध्यक्ष केट बिंघम ने कहा, ‘‘...हमें विभिन्न पृष्ठभूमि से और अधिक लोगों की जरूरत है ताकि हम भविष्य में यह पता लगा सकें कि क्या हम उन लोगों की सुरक्षा के लिये इस टीके को शीघ्रता से ईजाद करने वाले हैं, जिन्हें इसकी जरूरत है.'' उन्होंने कहा, ‘‘खतरे का सामना कर रहे लोगों को बचाने से ही महामारी का अंत होगा.''


Video: रूस की कोरोना वैक्सीन पर जानकार क्यों उठा रहे हैं सवाल?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)