लॉकडाउन के बावजूद ऑस्ट्रेलिया में बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले, अमेरिका में भी बढ़ी चिंता

न्यू साउथ वेल्स और सबसे अधिक आबादी वाले राज्य सिडनी में 110 नए मामले दर्ज किए गए, जो कि एक दिन पहले 78 थे. इन शहरों और आसपास के क्षेत्रों में चार सप्ताह का लॉकडाउन लगाया गया था कि क्योंकि यहां कोरोना के डेल्टा वेरिएंट का प्रकोप था. इसके बावजूद मामलों की संख्या बढ़ी हुई आई है.

लॉकडाउन के बावजूद ऑस्ट्रेलिया में बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले, अमेरिका में भी बढ़ी चिंता

लॉकडाउन के बावजूद ऑस्ट्रेलिया में कम नहीं हो रहे कोविड के नए केस

सिडनी:

ऑस्ट्रेलिया (Lockdown in Australia) के दो सबसे बड़े राज्यों में बुधवार को नए कोविड-19 (Covid-19) मामलों में उछाल दर्ज किया गया है. ये खबर इस देश की उस आधी से अधिक आबादी के लिए चिंता की बात है, जो इस उम्मीद के साथ घर में बैठी है कि जल्द ही लॉकडाउन हटा लिया जाएगा.लॉकडाउन के बावजूद कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं.

न्यू साउथ वेल्स और सबसे अधिक आबादी वाले राज्य सिडनी में 110 नए मामले दर्ज किए गए, जो कि एक दिन पहले 78 थे. इन शहरों और आसपास के क्षेत्रों में चार सप्ताह का लॉकडाउन लगाया गया था कि क्योंकि यहां कोरोना के डेल्टा वेरिएंट का प्रकोप था. इसके बावजूद मामलों की संख्या बढ़ी हुई आई है.

विक्टोरिया राज्य ने 22 नए मामले सामने आए हैं, जबकि राज्य में लॉकडाउन का ये दूसरा सप्ताह है.विक्टोरियन अथॉरिटीज ने कहा- हालांकि 22 में से 16 नए केस की बात करें तो उन्हें संक्रमण तब हुआ जब वे क्वारंटाइन थे. बाकी छह के लिए भी कोरोना वायरस संक्रमण का जोखिम कम ही था, क्योंकि लॉकडाउन की वजह से लोग घरों में हैं.

एनएसडब्ल्यू प्रीमियर ग्लेडिस बेरेजिकेलियन ने एक न्यूज कॉन्फ्रेंस में कहा कि अगर हमने कुछ हफ्ते पहले लॉकडाउन न लगाया होता तो ये संख्या 110 की जगह हजारों में होती. लेकिन हमें निश्चित रूप से कड़ी मेहनत करने की जरूरत है. साथ ही सावधान रहने की भी जरूरत है. बेरेजिकेलियन ने कहा कि बुधवार को संख्या बढ़कर 43 हो गई, जो पिछले दिन से दोगुनी थी. अगले सप्ताह तक ये नहीं कहा जा सकता कि 30 जुलाई तक लॉकडाउन से बाहर निकला जाएगा या नहीं.


गौरतलब है कि कोरोना महामारी ने एक बार फिर अमेरिका के लिए चिंता की लकीरें खींच दी हैं. अमेरिका में कोरोना के मामलों में एक बार फिर बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. जुलाई के शुरुआत से ही अमेरिका में कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं. चिंता की बात यह है कि यहां लगभग 83 प्रतिशत संक्रमित लोगों में कोरोना के डेल्टा वेरिएंट (Delta Variant) की पुष्टि हुई है. मंगलवार को अमेरिकी रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (CDC) के निदेशक डॉ रोशेल वालेंस्की ने कहा कि यह संख्या 3 जुलाई से देखने को मिली है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


डेल्टा वेरिएंट पर अमेरिका के मेडीसिन अधिकारी ने सीनेट स्वास्थ्य समिति के समक्ष कहा, "सीडीसी का संदेश स्पष्ट रहता है. कोविड​​​​-19 वेरिएंट के प्रसार को रोकने का सबसे अच्छा तरीका बीमारी के प्रसार को रोकना है और टीकाकरण सबसे शक्तिशाली है." वेलेंस्की ने सीनेटरों से कहा कि कोविड​​​​-19 से ज्यादातर टीकाकरण न कराने वाले लोगों की मौत हो रही है. वालेंस्की ने पिछले हफ्ते कहा था, "टीकाकरण न कराना इस महामारी को बुलावा दे रहा है. हम देश के कुछ हिस्सों में ऐसे मामलों का प्रकोप देख रहे हैं जिनमें टीकाकरण कवरेज कम है. पूरी तरह से टीकाकरण करा चुके लोगों में महामारी को लेकर समस्याएं कम देखने को मिल रही हैं."



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)