तालिबान ने कहा- अपने कामों के लिए होंगे जवाबदेह, अफगानिस्तान में अत्याचार की रिपोर्ट की करेंगे जांच

तालिबान (Taliban) के एक अधिकारी ने शनिवार को समाचार एजेंसी रॉयटर को बताया कि तालिबान अपने कार्यों के लिए उत्तरदायी होगा और अपने सदस्यों द्वारा प्रतिशोध और अत्याचार की रिपोर्ट्स की जांच करेगा.

तालिबान ने कहा- अपने कामों के लिए होंगे जवाबदेह, अफगानिस्तान में अत्याचार की रिपोर्ट की करेंगे जांच

तालिबान के काबुल पर भी कब्जा करने के बाद संकट बढ़ा

काबुल:

तालिबान (Taliban) के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि तालिबान अपने कार्यों के लिए उत्तरदायी होगा और अपने सदस्यों द्वारा प्रतिशोध और अत्याचार की रिपोर्ट्स की जांच करेगा. नाम प्रकाशित न करने की शर्त पर एक तालिबान के एक अधिकारी ने बताया कि समूह ने अगले कुछ हफ्तों में अफगानिस्तान (Afghanistan) में शासन करने के लिए नया मॉडल तैयार करने की योजना बनाई है. तालिबान पर देश पर तेजी से कब्जा किए सिर्फ एक सप्ताह ही हुआ है.

पिछले रविवार को बिना एक भी गोली चलाए तालिबान काबुल में घुस गया था. जिसके बाद से ही अफगानों और अंतरराष्ट्रीय सहायता समूहों ने विरोधियों के खिलाफ कठोर प्रतिशोध की सूचना दी है, खासतौर पर उन लोगों के खिलाफ जो पहले सरकारी पदों पर थे, जिन्होंने तालिबान की आलोचना की थी या फिर अमेरिकियों के साथ काम किया था. 

काबुल एयरपोर्ट पर कंटीले तारों पर बच्चे को अमेरिकी सैनिकों को सौंपा, Video वायरल

तालिबान के अधिकारी ने कहा, 'हमने नागरिकों के खिलाफ अत्याचार और अपराधों के कुछ मामलों के बारे में सुना है. यदि तालिब (सदस्य) कानून व्यवस्था की समस्या खड़ी कर रहे हैं तो उनकी जांच की जाएगी'.

उन्होंने कहा, 'हम घबराहट और चिंता को समझ सकते हैं. लोग सोचते हैं कि हम जवाबदेह नहीं होंगे, लेकिन ऐसा नहीं है.'

समूह ने कब्जे के बाद अधिक उदार चेहरा पेश करने की कोशिश की है. तालिबान ने 1996 से 2001 तक बेहद कड़ाई से शासन किया था. हालांकि 11 सितंबर के हमलों के बाद अलकायदा के आतंकियों को आश्रय देने के लिए अमेरिका के नेतृत्व वाली सेना ने उसे शासन से बेदखल कर दिया था.


उन्होंने कहा, 'तालिबान में कानूनी, धार्मिक और विदेश नीति के विशेषज्ञों का लक्ष्य अगले कुछ हफ्तों में शासन का नया ढांचा पेश करना है.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा, 'काबुल एयरपोर्ट पर हजारों लोगों के भागने की बेताबी के कारण फैली अराजकता तालिबान की जिम्मेदारी नहीं थी, पश्चिम की वापसी की बेहतर योजना हो सकती थी.'