काबुल एयरपोर्ट पर कंटीले तारों पर बच्चे को अमेरिकी सैनिकों को सौंपा, Video वायरल

काबुल एयरपोर्ट (Kabul Airport) पर एक अमेरिकी मरीन (US Marine) का दिल दहला देने वाला वीडियो सामने आया है, जिसमें वह एक बच्चे को दीवार पर कंटीले तारों के ऊपर उठाए हुए है.

काबुल एयरपोर्ट पर कंटीले तारों पर बच्चे को अमेरिकी सैनिकों को सौंपा, Video वायरल

Taliban : अमेरिकी मरीन बच्चे को कंटीले तारों पर उठाए नजर आ रहा है.

वाशिंगटन:

तालिबान (Taliban) का नियंत्रण होने के बाद से हजारों लोग अफगानिस्तान (Afghanistan) से निकलने की कोशिश में जुटे हैं. इस अफरातफरी के बीच शुक्रवार को काबुल एयरपोर्ट (Kabul Airport) पर एक अमेरिकी मरीन (US Marine) का दिल दहला देने वाला वीडियो सामने आया है, जिसमें वह एक बच्चे को दीवार पर कंटीले तारों के ऊपर उठाए हुए है. वीडियो ने वैश्विक स्तर पर लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा है.मालूम हो कि अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद मानवीय संकट गहरा गया है. हजारों लोग किसी तरह देश से बाहर भागने की फिराक में हैं. 

वीडियो (Viral Video)  में नजर आ रहा है कि एक नवजात जिसका डायपर फिसल रहा है, एयरपोर्ट में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे अफगानों की भीड़ में से ऊपर खींचा जा रहा है. युद्धग्रस्त देश से विदेशियों और अफगानों को विमान के जरिये निकालने ने करीब एक सप्ताह से सोशल मीडिया पर कब्जा किया हुआ है.

भारी हथियारों से लैस करीब 6,000 अमेरिकी सैनिकों का काबुल एयरपोर्ट पर नियंत्रण है, जबकि लंबे समय से उनके दुश्मन तालिबान बाहर की सड़कों पर गश्त कर रहे हैं. 

अफगानिस्तान में डॉयचे वेले के पत्रकार को ढूंढने की जुगत में तालिबान ने रिश्तेदार को ही मारी गोली

पेंटागन के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि सैनिकों को बताया गया कि एक बच्चा बीमार है और उन्हें मदद के लिए कहा गया. 


उन्होंने कहा, 'आज जिस वीडियो के बारे में बात कर रहे हैं, माता-पिता ने मरीन को बच्चे की देखभाल के लिए कहा क्योंकि बच्चा बीमार था. तो आप जिस मरीन को दीवार पर देख रहे हैं, वह उसे एयरपोर्ट पर स्थित नॉर्वे के एक अस्पताल में ले गया. उन्होंने बच्चे का इलाज किया और उसके पिता को वापस लौटा दिया. यह संवेदना का कार्य था, क्योंकि बच्चे के बारे में चिंता थी.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उन्होंने कहा कि वह नहीं जानते कि परिवार कौन था या उन्हें अफगानों के लिए विशेष कार्यक्रम के तहत अमेरिका में प्रवास के लिए स्वीकार किया गया था या नहीं, जो अमेरिकियों के लिए काम करते थे या तालिबान के उच्च जोखिम में थे.