पाकिस्तानी सेना ने 7 आतंकियों को किया ढ़ेर, कई हमलों को दिया था अंजाम

पाकिस्तानी सेना ने कहा कि सैनिकों ने सात आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया और उनके पास से हथियार एवं गोला बारूद बरामद किया गया है. वे सुरक्षा बलों के खिलाफ कई आतंकी हमलों को अंजाम देने में शामिल रहे हैं.

पाकिस्तानी सेना ने 7 आतंकियों को किया ढ़ेर, कई हमलों को दिया था अंजाम

पाकिस्तानी सुरक्षा बल आतंकियों की में खोज का अभियान चला रहे हैं (File Photo)

इस्लामाबाद:

पाकिस्तान (Pakistan) के उत्तर पश्चिमी अशांत कबायली इलाके में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में कम से कम  सात आतंकवादियों की मौत हो गई है. इस दौरान दो सैनिकों के मारे जाने की भी खबर है. पाकिस्तान की फौज की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक, मुठभेड़ रविवार को उत्तर वज़ीरिस्तान के गुलाम खान कल्ले इलाके में हुई. सेना ने कहा कि सैनिकों ने सात आतंकवादियों को ढेर कर दिया और उनके पास से हथियार एवं गोला बारूद बरामद किया गया है. वे सुरक्षा बलों के खिलाफ कई आतंकी हमलों को अंजाम देने में शामिल रहे हैं.

सुरक्षा बल आसपास के इलाके में खोज अभियान चला रहे हैं, ताकि अगर कोई आतंकी हो तो उसे खत्म किया जा सके.

आतंकवादियों की पहचान और वे किस आतंकी समूह से जुड़े थे, यह फिलहाल पता नहीं चल सका है.

हालांकि, प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (TTP) इलाके में सुरक्षा बलों पर हमले करता रहा है, लेकिन इस महीने के शुरू में टीटीपी ने संघर्ष विराम का ऐलान किया था, क्योंकि उसकी पाकिस्तानी सरकार के साथ बातचीत चल रही है. अफगान तालिबान इस वार्ता में मध्यस्थता करा रहा है. यह सहमति दोनों पक्षों के बीच अफगानिस्तान (Afghanistan) से लगते सीमावर्ती कबायली इलाके में करीब दो दशक से चल रहे आतंकवाद को खत्म करने के लिए हो रही वार्ता के मद्देनजर बनी. 

सूत्रों ने ‘‘पीटीआई-भाषा'' को बताया था कि पहले संघर्ष विराम की अवधि 30 मई की रात समाप्त हो गई थी जिसे अब अनिश्चितकाल के लिए बढ़ा दिया गया है.

टीटीपी (TTP) को पाकिस्तान तालिबान भी कहते हैं. वर्ष 2007 में कई आतंकवादी संगठनों को मिलाकर इस साझा समूह का गठन किया गया था. टीटीपी का मुख्य लक्ष्य पाकिस्तान में सख्त इस्लाम लागू करना है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


माना जाता है कि टीटीपी, अलकायदा के करीब है और उसे पाकिस्तान में हुए कई बड़े हमलों के लिए जिम्मेदार माना जाता है जिनमें वर्ष 2009 में पाकिस्तानी सेना के मुख्यालय पर हुआ हमला, अन्य सैन्य ठिकानों पर हमले और वर्ष 2008 में इस्लामाबाद स्थित होटल मैरियट पर बम धमाका शामिल है.