UP हिंसा पर सियासत शुरू, पीड़ित परिवारों से मिलने जाएंगे कई पार्टियों के नेता, जानें- किसने क्या कहा

हिंसा पर कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, बसपा और टीएमसी सहित कई पार्टियों ने भाजपा और योगी सरकार पर निशाना साधा है.

UP हिंसा पर सियासत शुरू, पीड़ित परिवारों से मिलने जाएंगे कई पार्टियों के नेता, जानें- किसने क्या कहा

कई पार्टियों के नेता सोमवार को लखीमपुर खीरी पहुंच रहे हैं.

नई दिल्ली :

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में हुई हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई. यहां किसान डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और केंद्रीय मंत्री  केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे. इस घटना को लेकर मुख्यमंत्री सीएम योगी आदित्यनाथ ने दुख जाहिर करते हुए सख्त कार्रवाई करने का वादा किया है. इस हिंसा पर कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, बसपा और टीएमसी सहित कई पार्टियों ने भाजपा और योगी सरकार पर निशाना साधा है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव समेत कई पार्टियों के नेता सोमवार को वहां पहुंच रहे हैं. 

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी लखनऊ पहुंच चुकी हैं और सुबह लखीमपुर के लिए निकलेंगी और पीड़ित परिवारों से मिलेंगी. वहीं, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी सोमवार को लखीमपुर खीरी जा रहे है. इसके अलावा बसपा सुप्रीमो मायावती ने स्थानीय प्रतिनिधिमण्डल को घटनास्थल पर जाने के निर्देश दिए हैं. टीएमसी के पांच सांसदों की टीम भी पीड़ित परिवार से मिलने जाएगी.

इनके किसान संगठनों ने पूरे देश के सभी किसान संगठनों से सोमवार दोपहर से 1 बजे के बीच सभी जिलों में जिलाधिकारियों के कार्यालयों में विरोध प्रदर्शन करने का आह्वान किया है. किसान नेता राकेश टिकैत के साथ-साथ पंजाब और हरियाणा के किसान लखीमपुर खीरी की ओर जा रहे हैं. 

किसने क्या कहा?

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा है, 'जो इस अमानवीय नरसंहार को देखकर भी चुप है, वो पहले ही मर चुका है. लेकिन हम इस बलिदान को बेकार नहीं होने देंगे- किसान सत्याग्रह ज़िंदाबाद!'

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट करते हुए लिखा है, 'भाजपा देश के किसानों से कितनी नफ़रत करती है? उन्हें जीने का हक नहीं है? यदि वे आवाज उठाएंगे तो उन्हें गोली मार दोगे, गाड़ी चढ़ाकर रौंद दोगे? बहुत हो चुका. ये किसानों का देश है, भाजपा की क्रूर विचारधारा की जागीर नहीं है. किसान सत्याग्रह मजबूत होगा और किसान की आवाज और बुलंद होगी.'

कांग्रेस नेता पीएल पुलिया ने भी बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने लखीमपुर खीरी की घटना पर दुख जताते हुए गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे और बीजेपी कार्यकर्ताओं पर प्रदर्शनकारी किसानों पर गाड़ी चढ़ाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, 'मासूम किसानों को गाड़ी से कुचल दिया गया. यह घटना दुखद और शर्मनाक करने वाली है. अराजकता और गुंडई के दम पर बीजेपी विरोध को दबाकर सूबे में हिटलरशाही चला रही है. पीएल पुनिया ने कहा कि इस दर्दनाक घटना के लिए जिम्मेदार लोगों को तत्काल गिरफ्तार किया जाना चाहिए और उन पर हत्या का मुकदमा दर्ज हो.'

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी इस घटना की निंदा करते हुए ट्वीट किया है. साथ ही उन्होंने कहा कि टीएमसी के पांच सांसदों का प्रतिनिधि मंडल सोमवार को पीड़ित परिवार से मिले जाएगा. इसके अलावा उन्होंने कहा कि हमारे किसानों को हमेशा हमारा बिना शर्त समर्थन मिलेगा'

बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट करते हुए लिखा है, 'यूपी के जिला लखीमपुर खीरी में 3 कृषि कानूनों की वापसी की मांग को लेकर आन्दोलन कर रहे किसानों पर केन्द्रीय मंत्री के पुत्र द्वारा कथित तौर पर कई किसानों की गाड़ी से रौंद कर की गई हत्या अति-दुःखद. यह भाजपा सरकार की तानाशाही व क्रूरता को दर्शाता है जो कि इनका असली चेहरा भी है. इस घटना के सम्बंध में भी पीड़ितों को सरकार से उचित न्याय मिलने की उम्मीद नहीं है. इसलिए माननीय सुप्रीम कोर्ट इस दुःखद घटना का स्वंय ही संज्ञान ले, बीएसपी की यह मांग. साथ ही, बीएसपी के स्थानीय प्रतिनिधिमण्डल को भी घटनास्थल पर जाने का निर्देश.

उत्तर प्रदेश विधान सभा के नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने इस घटना की तुलना जलियावाला बाग से करते हुए कहा कि ये आतंक का अंतिम बिंदु है. भाजपा को किसी तरह सत्ता चाहिए जनता कितना ही मरे इनको इससे मतलब नहीं. अब चूंकि भारतीय जनता पार्टी हर स्तर पर फेल हो चुकी है तो अब ये लोगों की जान लेकर आर-पार की लड़ाई लड़ना चाहते है. ये आतंक फैलाने की दृष्टि से घटना की गई है.

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा है, 'कृषि कानूनों का शांतिपूर्ण विरोध कर रहे किसानों को भाजपा सरकार के गृह राज्यमंत्री के पुत्र द्वारा, गाड़ी से रौंदना घोर अमानवीय और क्रूर कृत्य है. यूपी दंभी भाजपाइयों का ज़ुल्म अब और नहीं सहेगा. यही हाल रहा तो उप्र में भाजपाई न गाड़ी से चल पाएंगे, न उतर पाएंगे.'

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ट्वीट किया है, 'तानाशाही भाजपा सरकार आंदोलन नहीं कुचल पाई तो किसानों को ही कुचल कर बदला ले रही है! हर ज़ुल्म का हिसाब अब जनता करेगी.'

कांग्रेस नेता इमरान प्रतापगढ़ी ने ट्वीट किया है, 'प्रियंका गांधी जी लखनऊ पंहुच चुकी हैं, सुबह लखनऊ से लखीमपुर के लिये निकलेंगी और पीड़ित परिवारों से मिलेंगी. किसानों की इस लड़ाई में यूपी कांग्रेस हर कदम पर साथ खड़ी है.'

यूपी के अमरोहा से सांसद कुंवर दानिश अली ने ट्वीट करते हुए लिखा है, 'लखीमपुर खीरी में आंदोलनकारी किसानों पर गाड़ी चढ़ा कर कई मासूमों की जान लेने की साज़िश किसने की? शांतिपूर्वक आंदोलन कर रहे किसानों को कौन भड़काना चाहता है? इस घृणित एवं शैतानी कृत्य को किसान याद रखेंगे और सत्ता के घमंड की गाड़ी पर ब्रेक ज़रूर लगायेंगे.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यूपी के लख‍ीमपुर खीरी में हिंसा, 4 किसानों समेत 8 की मौत