अखिलेश यादव ने फूंका सियासी बिगुल : रथ यात्रा को 'खजानची' से दिखवाई हरी झंडी, BJP-कांग्रेस पर साधा निशाना

पहले चरण में अखिलेश यादव अपनी रथनुमा बस में बैठकर तीन जिलों में लगभग 200 किलोमीटर की यात्रा कर रहे हैं. अखिलेश यादव के साथ हजारों की संख्या में समर्थकों का हुजूम देखने को मिला.

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले सियासी पारा गर्माने लगा है, समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने मंगलवार को कानपुर से अपनी रथ यात्रा की शुरुआत कर सियासी बिगुल फ़ुंक दिया है. पहले चरण में अखिलेश यादव अपनी रथनुमा बस में बैठकर तीन जिलों में लगभग 200 किलोमीटर की यात्रा कर रहे हैं. अखिलेश यादव के साथ हजारों की संख्या में समर्थकों का हुजूम देखने को मिला. 

अखिलेश यादव ने बड़े खास अंदाज में नोटबंदी के दौरान कन्नौज के एक बैंक पैदा हुए 'खजानची' नाम के बच्चे से अपनी रथ यात्रा को झंडी दिखवाई. इस मौके पर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता गंगा जी में नाव पर सवार होकर अखिलेश यादव का स्वागत करते नजर आए.

अखिलेश यादव ने भी कानपुर से जुड़े मुद्दों को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा. अखिलेश यादव ने कहा, 'भाजपा ने गंगा मईया को धोखा दिया, जहां साफ होनी थी गंगा आज वैसी ही गंदी है.  कानपुर बड़ा शहर है. यहां कारोबार, रोज़गार है. कानपुर के लोगों ने अपनी बर्बादी देखी है. समाजवादी पार्टी की ओर से लगातार जनता से आशीर्वाद लेने के लिए ये विजयरथ चलेगा. भाजपा की सत्ता जाने वाली है.'

अपनी रथ यात्रा के पहले चरण में अखिलेश का रथ कानपुर शहर और कानपुर देहात के कई इलाक़ों में घूमता रहा. अखिलेश रात हमीरपुर जिले में रूकेंगे और फिर बुधवार को कालपी पहुँचेंगे.


चुनावी रथ यात्रा से पहले अखिलेश यादव अपने पिता मुलायम सिंह यादव से मिलने पहुंचे और ये तस्वीरें बक़ायदा सोशल मीडिया पर डाली गईं ताकी संदेश साफ रहे कि नेता जी का आशीर्वाद शिवपाल के साथ नहीं बल्कि अखिलेश के साथ है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


चुनावी रथ पर सवार अखिलेश यादव से जब सवाल किया गया कि क्या लखीमपुर में प्रियंका गांधी के एक्टिव होने से समाजवादी पार्टी को चुनाव में नुकसान होगा तो उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं होने जा रहा है. कांग्रेस पर हमला बोलते हुए अखिलेश ने कहा कि कांग्रेस और बीजेपी के रास्ते एक ही हैं. दोनों में कोई फर्क नहीं है.