"लाउडस्‍पीकर पर हनुमान चालीसा बजाने की नई परंपरा शुरू नहीं होने देंगे": अलीगढ़ में ABVP की मुहिम पर ADM सिटी

ADM सिटी अलीगढ़ ने बताया, 'हमारे पास इन्‍होंने दो दिन पहले ज्ञापन आकर दिया है.हम ये नई परंपरा शुरू नहीं होने देंगे.इस बारे में हमारी उच्चाधिकारियों से बात हुई है. '

नई दिल्‍ली :

उत्‍तर प्रदेश के अलीगढ़ में लाउडस्पीकर पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक़ हो रही अज़ान को बंद कराने को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) ने मुहिम शुरू कर दी है. ABVP ने शहर के मुख्य 21 चौराहों पर लाउडस्पीकर लगाकर हनुमान चालीसा बजाने की इजाज़त मांगी है. कुछ ने तो अपने घरों में ही लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा बजाना शुरू भी कर दिया है. इस पूरे मामले में NDTV ने ADM सिटी अलीगढ़ से बात की तो उन्‍होंने बताया, 'हमारे पास इन्‍होंने दो दिन पहले ज्ञापन आकर दिया है.हम ये नई परंपरा शुरू नहीं होने देंगे.इस मसले पर हमारी उच्चाधिकारियों से भी बात हुई है. '

उन्‍होंने कहा, 'हम बातचीत करके इस मामले का समाधान निकालेंगे.अगर इन्हें अनुमति दे दी तो और शहरों से भी ऐसी मांग होगी. कल इनके पदाधिकारियों से बात करके मामले को सुलझाएंगे.हमें जहां से सूचना मिलेगी स्पीकर लगाने की तो कार्रवाई करेंगे. उधर, देश के अन्‍य हिस्‍सों में भी लाउड स्‍पीकर को लेकर सियासत तेज हो गई है. मुंबई में मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने को लेकर जहां महाराष्‍ट्र नवनिर्माण सेना (MNS)प्रमुख राज ठाकरे ने जहां 3 मई तक का अल्टीमेटम दिया है. वहीं बीजेपी नेता मोहित कंबोज ने देशभर के मंदिरों को मुफ्त लाउडस्पीकर देने की घोषणा की है.

कंबोज के मुताबिक अभी तक 9 हजार से ज्यादा मंदिरों से लाउडस्पीकर की मांग आई है. उनका दावा है कि हनुमान जयंती के दिन मंदिरों में लाउडस्पीकर बांटना शुरू किया जाएगा. कंबोज का कहना है कि ये मस्जिदों पर लाउडस्पीकर का जवाब नहीं, बल्कि मेरी धार्मिक आस्था है. उन्‍होंनेकहा कि हमारा ये भी साफ कहना है कि सुप्रीम कोर्ट गाइडलाइन का पालन करते हुए ही लाउडस्पीकर का इस्तेमाल किया जायेगा. हम कोई कानून नहीं तोड़ रहे हैं.  

- ये भी पढ़ें -

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


* VIDEO: "मैं राम को नहीं मानता, राम कोई भगवान नहीं" - जीतन राम मांझी का विवादित बयान
* 'मैंने ही अधिकारियों को अरविंद केजरीवाल से मिलने भेजा' : भगवंत मान बनाम विपक्ष
* "दुनिया का पेट भर रहे हैं भारतीय किसान, मिस्र ने दी गेहूं आपूर्तिकर्ता के रूप में मंजूरी: पीयूष गोयल