Passport Index : कितना शक्तिशाली है भारत का पासपोर्ट, कैसे होती है पासपोर्ट्स की रैंकिंग, जानें

साल 2021 की Henley Passport Index Global Ranking 2021 में जापान के पासपोर्ट को वर्ल्ड का मोस्ट पावरफुल पासपोर्ट बताया गया है. इस पासपोर्ट की लिस्ट में अमेरिका सातवें स्थान पर काबिज है. भारत पासपोर्ट फेहरिस्त में 85वें स्थान पर है.

Passport Index : कितना शक्तिशाली है भारत का पासपोर्ट, कैसे होती है पासपोर्ट्स की रैंकिंग, जानें

Passport Index : सबसे शक्तिशाली पासपोर्ट की लिस्ट में भारत का पासपोर्ट 85वें नंबर पर है.

खास बातें

  • पासपोर्ट इंडेक्स की Henley Passport Index की लिस्ट
  • दुनिया का सबसे शक्तिशाली पासपोर्ट जापान का
  • भारत लिस्ट में 85वें नंबर पर

दुनिया का सबसे शक्तिशाली पासपोर्ट (Powerful Passport) होना किसी भी देश के लिए कई सारे फायदे लेकर आता है. हालांकि, पावरफुल शब्द सुनते ही सबसे पहले ज़हन में अमेरिका का ही ख्याल आता है. लेकिन सबसे शक्तिशाली पासपोर्ट होने का ये खिताब अमेरिका के पास नहीं बल्कि जापान के पास है. साल 2021 की Henley and Partners की पासपोर्ट इंडेक्स ग्लोबल रैंकिंग (Henley Passport Index Global Ranking 2021) में जापान के पासपोर्ट को वर्ल्ड का मोस्ट पावरफुल पासपोर्ट बताया गया है. इस पासपोर्ट की लिस्ट में अमेरिका सातवें स्थान पर है. वहीं इस पासपोर्ट की सूची में चीन को 70 वां स्थान मिला है तो वहीं पाकिस्तान इस लिस्ट के नीचे से चौथे नंबर पर है.

शक्तिशाली पासपोर्ट लिस्ट में भारत की रैंकिंग क्या

Henley पासपोर्ट इंडेक्स में भारत का पासपोर्ट फेहरिस्त में 85वें स्थान पर है. दुनिया के ऐसे 58 देश है जो भारतीय पासपोर्ट धारकों को बिना किसी पूर्व वीजा के प्रवेश की अनुमति देते हैं. इसी जगह पर भारत के साथ संयुक्त रूप से तजाकिस्तान भी है. आपको बता दें कि साल 2020 में भारत का लिस्ट में 84वां स्थान था, तो वहीं इस साल भारत एक पायदान फिसलते हुए 85वें रैंकिंग पर पहुंच गया है. हालांकि साल 2020 में भी दुनिया के 58 देश भारतीय नागरिकों को बिना पूर्व वीजा के एंट्री देते थे.

ये भी पढ़ें  : Passport बनवाना हुआ आसान, नहीं लगाने होंगे पासपोर्ट सेवा केंद्रों के चक्कर, ऐसे हो जाएगा काम

यहां देखें टॉप 10 पासपोर्ट वाले देशों की लिस्ट 

1. जापान

2.सिंगापुर

3. जर्मनी, साउथ कोरिया

4. फिनलैंड, इटली, लक्जमबर्ग, स्पेन

5. ऑस्ट्रिया, डेनमार्क

6. फ्रांस, आयरलैंड, नीदरलैंड, पुर्तगाल, स्वीडन

7. बेल्जियम, न्यूजीलैंड, नॉर्वे, स्विटजरलैंड, यूनाइटेड किंगडम, यूनाइटेड स्टेट

8. ऑस्ट्रेलिया, चेक रिपब्लिक, ग्रीस, माल्टा

9. कनाडा

10. हंगरी

कैसे तय होती है पासपोर्ट की ताकत

किसी भी देश के पासपोर्ट की ताकत या उसकी रैंकिंग इस आधार पर की जाती है कि उसके धारक पहले से वीजा लिए बिना कितने देशों में सफर कर सकते हैं. इसका सीधा सा मतलब समझें तो ये है कि कितने देश संबंधित देश के नागरिकों को अपने यहां वीजा ऑन अराइवल की फैसिलिटी देते हैं. दरअसल वीजा ऑन अराइवल ज्यादातर मित्र देशों को ही दिया जाता है, यानी कि जिन देशों से संबंध अच्छे हैं और वहां के नागरिक से उस देश को किसी भी तरह का खतरा महसूस नहीं होता. आपको बता दें कि इसका डाटा इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (IATA) मुहैया कराता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video : क्या है कोविड हेल्थ पासपोर्ट और कैसे होगा तैयार, जानिए...