Whatsapp Payment इस्तेमाल करने वालों के लिए जरूरी खबर, अब आपके 'Legal Name' की होगी जरूरत

व्हाट्सएप यूजर्स अपनी मर्जी का नाम चुन सकते हैं, यहां तक की अपने प्रोफ़ाइल नाम में इमोजी भी शामिल कर सकते हैं. हालांकि, जो व्हाट्सएप की भुगतान सुविधा का लाभ लेना चाहते हैं, उन यूजर्स को वास्तविक नाम साझा किया जाएगा. जो नाम बैंक खाते में होगा.

Whatsapp Payment इस्तेमाल करने वालों के लिए जरूरी खबर, अब आपके 'Legal Name' की होगी जरूरत

ऐप को पिछले महीने ही NPCI से 10 करोड़ यूजर्स तक सुविधा का विस्तार करने की मंजूरी मिली है.

नई दिल्ली:

व्हाट्सएप ने उन उपयोगकर्ताओं के "कानूनी" नामों की पहचान करना शुरू कर दिया है, जिन्होंने अपने ऐप पर यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) आधारित भुगतान सुविधा को सक्षम किया है. धोखाधड़ी को रोकने के लिए नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) द्वारा निर्धारित यूपीआई दिशानिर्देशों का पालन करते हुए कंपनी ने ये कदम उठाया है. मेटा के स्वामित्व वाले इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप की ओर से ये जानकारी दी गई.

व्हाट्सएप ने अपने ऐप में एक नोटिफिकेशन देना शुरू कर दिया है, जिसमें कानूनी नाम की आवश्यकता का विवरण देने वाले एफएक्यू पेज का लिंक है. "जब आप व्हाट्सएप पर भुगतान का उपयोग करते हैं, तो अन्य यूपीआई उपयोगकर्ता आपका कानूनी नाम देख पाएंगे, जो कि आपके बैंक खाते पर होगा.

ये भी पढ़ें- ‘साझा घर में रहने का अधिकार' केवल वैवाहिक आवास तक सीमित नहीं: घरेलू हिंसा केस पर सुप्रीम कोर्ट

एनपीसीआई द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए मार्च के अंत से एंड्रॉइड और आईओएस दोनों पर उपयोगकर्ताओं के लिए अधिसूचना जारी करना शुरू कर दिया गया है. प्रश्न पृष्ठ ( FAQ page) के अनुसार आपके बैंक खाते में जो नाम होगा उसे साझा किया जाएगा.

दरअसल व्हाट्सएप यूजर्स अपनी मर्जी का नाम चुन सकते हैं, यहां तक की अपने प्रोफ़ाइल नाम में इमोजी भी शामिल कर सकते हैं. हालांकि, जो व्हाट्सएप की भुगतान सुविधा का लाभ लेना चाहते हैं, उन यूजर्स को वास्तविक नाम साझा किया जाएगा. जो नाम उनके बैंक खाते में है.

धोखाधड़ी रोकने के लिए सरकार की ओर से ये UPI दिशानिर्देश निर्धारित किया हैं. जिसका पालन व्हाट्सएप द्वारा किया जा रहा है.  पब्लिक-पॉलिसी थिंक-टैंक द डायलॉग के संस्थापक निदेशक काज़िम रिज़वी ने कहा कि व्हाट्सएप द्वारा कानूनी नामों की आवश्यकता सभी भुगतान ऐप द्वारा आवश्यक नियमित अनुपालन के अलावा और कुछ नहीं थी. "एक मैसेजिंग प्लेटफॉर्म के रूप में, व्हाट्सएप अपने उपयोगकर्ताओं को अपनी पसंद के नाम का उपयोग करने की स्वतंत्रता प्रदान करता है."

काफी समय से, व्हाट्सएप देश में अपने भुगतान सुविधा को अपनाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है. ऐप को पिछले महीने एनपीसीआई से 10 करोड़ यूजर्स तक अपनी सुविधा का विस्तार करने की मंजूरी मिली थी. हाल ही में व्हाट्सएप ने अपनी ऐप के जरिए भुगतान करने वाले लोगों को कैशबैक पुरस्कार देना भी शुरू किया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: रवीश कुमार का प्राइम टाइम: महंगाई आसमान पर, शेयर बाज़ार ज़मीन पर, लेकिन मस्जिद के नीचे क्या है