DA Hike News : 28% से बढ़कर 31% हो सकता है डीए! महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी पर आज कैबिनेट में चर्चा

Latest DA Hike News : केंद्र ने DA और DR की दर एक जुलाई से 11 फीसदी बढ़ा दी थी, जिससे डीए की नई दर 17 प्रतिशत से बढ़कर 28 प्रतिशत हो गई है. अगर आज डीए में तीन फीसदी की बढ़ोतरी होती है तो इसका मतलब है कि डीए की नई दर 31 फीसदी हो जाएगी.

DA Hike News : 28% से बढ़कर 31% हो सकता है डीए! महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी पर आज कैबिनेट में चर्चा

DA Hike : डीए में 3 फीसदी की बढ़ोतरी पर कैबिनेट में चर्चा की सूत्रों ने दी जानकारी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

दीवाली से पहले केंद्र सरकार के कर्मचारियों को खुशखबरी मिल सकती है. कुछ वक्त से खबरें आ रही हैं कि सरकार Dearness Allowance यानी महंगाई भत्ते में और बढ़ोतरी कर सकती है. गुरुवार को जानकारी आ रही है कि केंद्र सरकार की कैबिनेट आज डीए हाइक को लेकर एक प्रस्ताव पर चर्चा कर सकती है. सूत्रों ने जानकारी दी है कि कैबिनेट आज एक बैठक में केंद्रीय कर्मचारियों के डीए में तीन फीसदी की और बढ़ोतरी करने के प्रस्ताव पर चर्चा करेगी. बता दें कि इस साल केंद्र सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के रोके गए डीए और पेंशनधारकों के डीआर (Dearness Relief) में बढ़ोतरी कर दी थी और इस साल 1 जुलाई से फिर से महंगाई भत्ता जारी करने का ऐलान कर दिया था.

हालांकि, महंगाई दर के बढ़ जाने के बाद ऐसी खबरें आईं कि अब नए इंडेक्स (AICPI Index) के हिसाब से डीए में 3 फीसदी की बढ़ोतरी होगी, इसी पर आज कैबिनेट फैसला ले सकता है.

बता दें कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए महंगाई भत्ते तथा महंगाई राहत (डीआर) दर एक जुलाई से प्रतिशत 11 अंक की वृद्धि का फैसला किया था. इससे डीए की नई दर 17 प्रतिशत से बढ़कर 28 प्रतिशत हो गई है. अगर आज डीए में तीन फीसदी की बढ़ोतरी होती है तो इसका मतलब है कि डीए की नई दर 31 फीसदी हो जाएगी और केंद्रीय कर्मचारियों को उनके बेसिक पे का 31 फीसदी महंगाई भत्ता मिलेगा.

जुलाई, 2021 से लागू हुई नई दर

यहां यह बता दें कि सरकार ने 1 जुलाई, 2021 से महंगाई भत्ते को 28 फीसदी बढ़ाया था, जो उस वक्त 17 फीसदी से 11 फीसदी ज्यादा था. लेकिन 1 जनवरी, 2020 से लेकर 30 जून, 2021 तक की अवधि के लिए डीए 17 फीसदी ही रखे जाने का फैसला किया गया था. सरकार ने डीए को रेट्रोस्पेक्टिव तरीके से बढ़ाया, यानी कि इसमें पिछली किस्तों को छोड़कर आगे की किस्तों में बढ़ोतरी लागू की गई.


सातवें वेतन आयोग की सिफारिश के तहत केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनधारकों के लिए साल में दो बार महंगाई भत्ते और महंगाई राहत में संशोधन होता है- जनवरी और जुलाई में. लेकिन कोविड-19 के चलते पिछली तीन किस्तों में कोई बदलाव नहीं किया गया था, और इसलिए सरकार जुलाई, 2021 से दरों में 11 फीसदी की बढ़ोतरी की थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video : इस दिवाली किसमें करें निवेश, गोल्ड में या क्रिप्टोकरेंसी में?