'Swami Vivekananda speech' - 5 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • India | रविवार जनवरी 12, 2020 10:50 AM IST
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के पश्चिम बंगाल दौरे का आज (रविवार) दूसरा दिन है. बीते शनिवार पीएम मोदी ने कोलकाता में आयोजित किए गए कई कार्यक्रमों में शिरकत की. पीएम ने हावड़ा ब्रिज के नाम से मशहूर रबींद्र सेतु के इंटरैक्टिव लाइट एंड साउंड शो का शुभारंभ किया. शनिवार को प्रधानमंत्री ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banarjee) से मुलाकात भी की. इस दौरान मुख्यमंत्री ने उनके सामने CAA, NRC और NPR का मुद्दा उठाया. पीएम ने इनपर चर्चा के लिए ममता बनर्जी को दिल्ली आने का न्योता दिया. शनिवार रात पीएम मोदी रामकृष्ण मिशन के मुख्यालय बेलूर मठ में ही रुके थे. मठ में रुकने का कार्यक्रम अचानक तय किया गया. पहले जानकारी दी गई थी कि पीएम राजभवन में ही रात्रि विश्राम करेंगे. रविवार सुबह बेलूर मठ में पूजा-अर्चना के बाद पीएम ने देश के युवाओं को संबोधित करते हुए 'राष्ट्रीय युवा दिवस' की शुभकामनाएं दीं. इस दौरान प्रधानमंत्री ने एक बार फिर नागरिकता कानून (CAA) का जिक्र किया.
  • India | मंगलवार सितम्बर 11, 2018 12:05 PM IST
    'सिस्टर्स एंड ब्रदर्स ऑफ अमेरिका'...11 सितंबर 1893 को जब शिकागों में आयोजित विश्व धर्म सम्मेलन में स्वामी विवेकानंद ने इन शब्दों से अपने भाषण की शुरुआत की तो तालियों की गड़गड़ाहट से पूरा हॉल गूंज पड़ा. वह पहला मौका था जब पश्चिम का पूरब से सामना हो रहा था.
  • Career | शुक्रवार जनवरी 12, 2018 11:12 AM IST
    स्‍वामी व‍िवेकानंद अपने गुरु रामकृष्‍ण परमहंस के न‍िधन के बाद पैदल ही भारत भ्रमण के ल‍िए न‍िकल पड़े. इसी यात्रा के अंत में कन्याकुमारी में नरेंद्र को ये ज्ञान मिला कि नए भारत के निर्माण से ही देश की समस्या दूर की जा सकती है. भारत के पुनर्निर्माण का लगाव ही उन्हें शिकागो की धर्मसंसद तक ले गया.
  • Zara Hatke | शुक्रवार जनवरी 12, 2018 11:25 AM IST
    स्वामी विवेकानंद की आज 155वीं जयंती है. उनका जन्म 12 जनवरी 1863 को कलकत्ता में हुआ था. भारत में उनका जन्‍मदिन 'युवा दिवस' के रूप में मनाया जाता है. संन्यास लेने से पहले उनका नाम नरेंद्रनाथ दत्त था.
  • India | सोमवार सितम्बर 11, 2017 02:42 PM IST
    स्वामी विवेकानंद के शिकागो में विश्व धर्म सम्मेलन को संबोधित करने के 125 वर्ष पूरे होने के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि विवेकानंद कहते थे जनसेवा ही प्रभुसेवा है.
और पढ़ें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com