'Ravish Ranjan Shukla' - 185 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • Blogs | बुधवार अप्रैल 14, 2021 08:35 PM IST
    पिछले साल 22 मार्च को प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि 'पुलिस और स्वास्थ्य कर्मियों की तरह मीडिया की भी इस महामारी से लड़ने में अहम भूमिका होगी.' कोरोना काल में ज्यादातर पत्रकारों ने काम के दौरान अपने जान की बाजी लगा दी...अस्पताल से लेकर श्मशान तक और सड़क से लेकर खलिहान तक की रिपोर्टिंग की. आम लोगों की समस्या को सरकार के सामने लाए, लेकिन वैक्सीन आने के बाद पुलिस और स्वास्थ्य कर्मी तो फ्रंटलाइन वर्कर माने गए लेकिन पत्रकारों को इस वैक्सीनेशन की प्रक्रिया में सरकारी बाबुओं ने दूध में मक्खी की तरह बाहर कर दिया. जबकि इस दौरान देशभर में 50 से ज्यादा पत्रकारों की कोरोना से मौत हुई, सैकड़ों बीमार हुए...हजारों को नौकरियों से हाथ धोना पड़ा...लेकिन मरने के बाद करीब 40 पत्रकारों को 5 लाख की आर्थिक मदद देकर सरकार ने अपना पल्ला झाड़ लिया.
  • Blogs | गुरुवार अप्रैल 8, 2021 10:19 AM IST
    13 फरवरी को दिल्ली से करीब 1200 किमी दूर रांची रेलवे स्टेशन पर जब एक शख्स ने प्लेटफार्म टिकट खरीदा तो 15 रुपए का टिकट उसे 30 रुपए में दिया गया. उसने जब काउंटर पर पूछा कि ये टिकट तो पहले 15 रुपए का था तो जवाब मिला है कल यानि 12 फरवरी से ये 30 रुपए का हो गया है.
  • India | गुरुवार दिसम्बर 17, 2020 07:07 PM IST
    रामेश्वरम संस्थान झांसी की तरफ से हर साल की तरह इस साल प्रतिष्ठित पत्रकार एवं समाजसेवी स्व. रामेश्वर दयाल त्रिपाठी जी की पुण्य स्मृति में हिन्दी पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय काम करने के लिए NDTV इंडिया के वरिष्ठ विशेष संवाददाता रवीश रंजन शुक्ला को रामेश्वरम हिन्दी पत्रकारिता पुरस्कार देने की घोषणा की गई है.
  • Blogs | बुधवार अक्टूबर 7, 2020 03:48 PM IST
    पुलिस बेरीकेटिंग के नजदीक हम लोग लाइव की तैयारी कर रहे थे..सुबह के आठ बजने वाले थे...नर्म धूप धीरे-धीरे तीखी हो रही थी लेकिन हवा में अब भी  हल्की ठंड मौजूद थी. गांव जाने वाले रास्ते को पुलिस बेरीकेट से बंद कर दिया गया था और एक इंस्पेक्टर जीप के बोनट पर ड्यूटी बदलने का चार्ट बना रहा था. रात भर की ड्यूटी से हलकान पुलिस और PAC वालों के चेहरे तो मास्क में छिपे थे लेकिन कोई बेरीकेट तो कोई दीवार के सहारे टिका शरीर को थोड़ा आराम देने की कोशिश कर रहा था. असहाय सी दिखने वाली सबकी आंखें बस बिना उम्मीद मीडिया के कैमरे और रिपोर्टर पर टिकी थी. गोरिल्ला युद्ध की तरह अचानक लस्त पस्त पड़ी पुलिस फोर्स को देखकर एक महिला एंकर बेरीकेट खींचकर अंदर दाखिल हुई और लाइव में चीखते हुए.. ये देखिए किस तरह हमें रोकने की कोशिश हो रही है लेकिन हम इंसाफ दिलाकर रहेंगे...
  • India | शुक्रवार अप्रैल 17, 2020 04:37 PM IST
    मेयर मेयर अवतार सिंह ने कहा है कि डॉक्टर को बर्खास्त करना गलत है. साथ ही उन्होंने कहा कि वो इस मामले पर कमिश्नर से बात करेंगे. गौरतलब है कि डा पीयूष ने अस्पताल के छत का प्लास्टर गिरने और तनख्वाह न मिलने के मुद्दे के खिलाफ भी आवाज उठाई थी. 
  • Blogs | गुरुवार मार्च 5, 2020 11:06 AM IST
    इमरजेंसी के बाहर खड़े होकर लाइव करने के दौरान ऐंबुलेंस और पुलिस जिप्सी की आवाजाही बढ़ती जा रही थी. कोई अपनों को स्कूटी पर ला रहा था तो कोई ई रिक्शा से. कुछ लोगों को ऐंबुलेंस तो कुछ को पुलिस जिप्सी में ला रही थी. जिस दंगे को कुछ देर पहले मैं रुटीन बवाल मान रहा था अब दिल दहलाने वाली घटना में तेजी से बदलती जा रहा था.
  • Blogs | शुक्रवार फ़रवरी 14, 2020 03:11 PM IST
    दिल्ली के चुनाव नतीजे आने के बाद से ही अब तक न तो वो प्रदेश दफ्तर में दिखाई दिए और न ही इस करारी हार पर उनका कोई ट्वीट मिला. एक निजी टीवी इंटरव्यू में उन्होंने हार की ठीकरा कांग्रेस के गिरते वोट पर फोड़ा. हां, बीजेपी की हार का एक बड़ा कारण कांग्रेस का वोट बैंक 5 फीसदी से नीचे आना भी रहा. चुनाव त्रिकोणीय होने के बजाए बीजेपी और आम आदमी पार्टी के बीच हुआ, जिसमें वोट परसेंटेज बढ़ने के बजाए बीजेपी को करारी हार मिली.
  • Blogs | शुक्रवार फ़रवरी 14, 2020 03:11 PM IST
    प्रदूषण पर सुप्रीम कोर्ट की डांट फटकार, लोगों की लानत- मलानत, ऑड-इवेन स्कूलों को बंद करने और हमारे-आपके जैसे पत्रकारों की प्रदूषण पर थोक खबरों के बावजूद प्रदूषण कम होने का नाम नहीं ले रहा है. 
  • Blogs | सोमवार सितम्बर 9, 2019 12:33 PM IST
    मित्रों मुंशी प्रेमचंद की कहानी नमक का दरोगा का ये अंश है. इस कहानी को दोबारा सालों बाद इसलिए पढ़ी कि शनिवार को मैं किसी पैरामिलिट्री के अफसर के पास बैठा था उन्होंने मुझे बताया कि ISS यानी इंडियन साल्ट सर्विसेज यानी भारतीय नमक सेवा अब भी देश में मौजूद है. देशभर में करीब दर्जनभर अधिकारी हैं जो नमक की गुणवत्ता और उसकी सप्लाई पर नजर रखते हैं.
  • Uttar Pradesh | सोमवार जून 3, 2019 12:36 PM IST
    फर्रुखाबाद शहर को बसाने वाले नवाब बंगश खान की ऐतिहासिक विरासत धीरे-धीरे मलबे में तब्दील हो रही है. और पुरातात्विक धरोहरें ही नहीं बल्कि नवाब के वंशज भी आज मुफलिसी की जिंदगी जीने को मजबूर हैं.
और पढ़ें »
'Ravish Ranjan Shukla' - 744 वीडियो रिजल्ट्स
और देखें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com