'Om Prakash Rajbhar' - 54 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • India | गुरुवार जनवरी 14, 2021 10:21 AM IST
    अपने बयानों की वजह अक्सर सुर्खियों में रहने वाले बीजेपी सांसद साक्षी महाराज (Sakshi Maharaj) ने बुधवार को असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi)  पर निशाना साधते हुए कहा कि ओवैसी ने बिहार में भाजपा की मदद की थी, अब यूपी में मदद करने आए हैं और बंगाल में भी मदद करेंगे. लखनऊ से दिल्ली जाते समय साक्षी महाराज ने कहा कि उत्तर प्रदेश में ओवैसी को खुदा ताकत दे. बता दें कि ओवैसी ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश में अपने चुनावी अभियान की शुरुआत की. इस दौरान सबसे पहले उन्होंने सपा के गढ़ कहे जाने वाले आजमगढ़ का दौरा किया था. इसके अलावा वह जौनपुर भी गए थे. 
  • India | बुधवार जनवरी 13, 2021 12:43 PM IST
    AIMIM चीफ ने समाजवादी पार्टी को निशाने पर लिया और कहा कि यह पार्टी अब सोशल मीडिया की पार्टी बनकर रह गई है. उन्होंने दावा किया कि अगले साल होने वाले यूपी विधान सभा चुनाव में उनका गठबंधन यानी भागीदारी संकल्प मोर्चा बड़ी जीत के साथ राज्य की राजनीति में बड़ा फेरबदल करेगा.
  • India | शुक्रवार दिसम्बर 25, 2020 01:39 PM IST
    सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के एआईएमआईएम के साथ गठबंधन और उत्तर प्रदेश को पाकिस्तान बनाने के आरोप पर उन्होंने कहा, ‘‘आज ओमप्रकाश राजभर के साथ ओवैसी आ गए हैं तो सारी पार्टियां बौखलाई हुई हैं, क्योंकि 22 फीसदी वोट ओवैसी का है और आठ फीसदी वोट पूर्वांचल में ओमप्रकाश राजभर का है.
  • Uttar Pradesh | रविवार दिसम्बर 20, 2020 07:01 AM IST
    सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्‍यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने शनिवार को कहा कि प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्‍यक्ष शिवपाल सिंह यादव उनके गठबंधन (भागीदारी संकल्‍प मोर्चा) में शामिल होंगे. राजभर ने कहा ,‘‘दो दिन पूर्व शिवपाल सिंह यादव और कल आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह से मेरी मुलाकात हुई है.’’
  • India | बुधवार दिसम्बर 16, 2020 06:14 PM IST
    मुलाकात के दौरान ओवैसी ने कहा कि हम दोनों आप के सामने बैठे हुए हैं. हम एक साथ हैं और राजभर जी के नेतृत्व में चुनाव लड़ने को तैयार हैं. कानपुर रोड स्थित एक होटल में राजभर और ओवैसी की मुलाकात आधे घंटे चली.
  • Uttar Pradesh | सोमवार मई 20, 2019 11:37 AM IST
    सुभासपा उत्तरप्रदेश में भाजपा की सहयोगी पार्टी है और 2017 के विधानसभा चुनाव में उसने चार सीटें जीती थीं. लेकिन लोकसभा चुनाव राजभर की पार्टी ने भाजपा के साथ मिलकर नहीं लड़ा. राजभर की पार्टी ने खुद 39 उम्मीदवार चुनाव में उतारे थें. वहीं कुछ सीटों पर उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों के खिलाफ प्रचार भी किया था. हालही राजभर के पुत्र सुभासपा महासचिव अरूण राजभर ने स्पष्ट किया था कि भाजपा के साथ विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन था ना कि लोकसभा चुनाव के लिए.
  • Lok Sabha Elections 2019 | रविवार मई 19, 2019 01:59 PM IST
    भाजपा से अलग हुए राजभर ने दावा किया कि प्रदेश से भाजपा को सिर्फ 15 सीटें मिलेंगी. सपा-बसपा गठबंधन को 55 से 60 सीटें हासिल होंगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के खाते में ढाई सीट ही आएगी. इससे पहले भी ओमप्रकाश राजभर ने भविष्यवाणी करते हुए कहा था कि इस बार दिल्ली की कुर्सी पर एक दलित की बेटी बैठेगी. उन्होंने कहा, 'हम भाजपा को वोट नहीं दिलाएंगे. मैं एक घोसी की सीट मांग रहा था, लेकिन हमें नहीं दी गई. देश के चुनाव में हम उनके साथ नहीं हैं.'
  • Lok Sabha Elections 2019 | सोमवार अप्रैल 22, 2019 11:54 AM IST
    बीजेपी के लिए कई बार मुश्किल खड़ी कर चुके सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (भासपा) के नेता ओम प्रकाश राजभर ने भी अपने प्रत्याशी उतारने का ऐलान कर दिया है. माना जा रहा था कि बीजेपी लोकसभा चुनाव तक ओपी राजभर को मना लेगी लेकिन ऐसा हो नहीं पाया. ओपी राजभर की अकड़ और बीजेपी की मंशा को समझने के लिए हमें साल 2012 के विधानसभा चुनाव से इस पूरी समझना होगा. इस  चुनाव में बलिया, गाज़ीपुर, मऊ, आजमगढ़, वाराणसी जैसी पूर्वांचल की तकरीबन 20 सीटों पर भासपा के प्रत्याशियों को इतने वोट मिले कि इन इलाकों में उन्हें अपनी ताकत का एहसास हो गया.
  • India | सोमवार अप्रैल 22, 2019 12:23 AM IST
    आखिरकार बीते एक साल से चल रही बीजेपी और भासपा के गठबंधन की रार चुनावी मैदान में तकरार में बदल ही गई. इस तकरार से पहले लग रहा था कि राजभरों की पूर्वांचल में वोट बैंक की फुहार इस सियासी तपिश को ठंढा कर देगी और बीजेपी अपने सहयोगी को मना लेगी. लेकिन ऐसा नहीं हुआ तो इसमें क्या सिर्फ ओम प्रकाश राजभर की अकड़ थी या बीजेपी की भी मंशा, इसे बहुत शिद्दत से गठबंधन के शुरुआती दिनों के समय से समझना होगा.
  • Lok Sabha Elections 2019 | मंगलवार अप्रैल 16, 2019 10:53 AM IST
    लोकसभा चुनाव के बीच में ही उत्तर प्रदेश में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया ओम प्रकाश राजभर के  एक बार फिर बगावती  तेवर सामने आये हैं.  इस बार तो इन्होने गठबंधन से अलग पूर्वांचल की 25 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने का ऐलान कर दिया है.  उनकी इस घोषणा के बाद बीजेपी सकते में हैं वह अपने नफ़ा नुकसान का भी आकलन कर रही है. एक यह भी कयास लगाया जा रहा है कि नाराज़ ओम प्रकाश को बीजेपी आखिरी तक मना लेगी क्योंकि पूर्वांचल में बीजेपी के लिये अपना दल के बाद भासपा यानी ओम प्रकाश राजभर की पार्टी बड़े मायने रखती है. इन्ही दो पार्टियों की कश्ती पर सवार होकर बीजेपी न सिर्फ 2014 में उत्तर प्रदेश में 73 सीट के रिकार्ड आंकड़े तक पहुंची थी बल्कि  2017 के विधानसभा में सूबे की सत्ता तक पहुंचने में भी कामयाब हुई थी.
और पढ़ें »
'Om Prakash Rajbhar' - 11 वीडियो रिजल्ट्स
और देखें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com