'Hurriyat Conference'

- 54 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • India | Reported by: भाषा |बुधवार अगस्त 3, 2022 08:31 PM IST
    कारोबारी व राजनीतिक कार्यकर्ता संदीप मावा (Sandeep Mawa) ने बुधवार को यहां राजबाग इलाके में हुर्रियत कांफ्रेंस कार्यालय (Hurriyat Conference Office) के द्वार पर दो तिरंगा (Tiranga) चिपका दिए.
  • India | Reported by: भाषा |गुरुवार मार्च 17, 2022 08:06 PM IST
    भारत ने अगले सप्ताह इस्लामाबाद में होने वाली इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) की बैठक में भाग लेने के लिए हुर्रियत कान्फ्रेंस को आमंत्रित किए जाने को लेकर संगठन पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत इस तरह की गतिविधियों को बहुत गंभीरता से लेता है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने साप्ताहिक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘‘ हम ओआईसी से उम्मीद करते हैं कि वह भारत-विरोधी गतिविधियों और आतंकवाद में संलिप्त रहने वालों को प्रोत्साहित न करे.’
  • India | Reported by: भाषा |बुधवार सितम्बर 8, 2021 06:17 AM IST
    कश्मीर में वर्ष 2010 में विरोध-प्रदर्शन के दौरान ''पोस्टर ब्वॉय'' के रूप में पहचाने जाने वाला मसरत आतंकी संगठनों को वित्त पोषण करने के आरोप में जेल में बंद है.
  • India | Written by: अमरीश कुमार त्रिवेदी |सोमवार अगस्त 23, 2021 11:55 AM IST
    केंद्र सरकार हुर्रियत कान्फ्रेंस के दोनों गुटों पर पाबंदी लगा सकती है. दोनों गुटों के कई नेता 2017 से जेल में हैं. जेल में बंद लोगों में गिलानी के दामाद अल्ताफ अहमद शाह, व्यवसायी जहूर अहमद वटाली, गिलानी के करीबी एवं कट्टरपंथी अलगाववादी संगठन तहरीक-ए-हुर्रियत के प्रवक्ता अयाज अकबर, पीर सैफुल्लाह, हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के नरमपंथी धड़े के प्रवक्ता शाहिद-उल-इस्लाम, मेहराजुद्दीन कलवाल, नईम खान और फारूक अहमद डार उर्फ ''बिट्टा कराटे'' शामिल हैं.
  • India | Reported by: नीता शर्मा |सोमवार अगस्त 23, 2021 01:26 AM IST
    यह अलगाववादी समूह 2005 में दो गुटों में टूट गया. नरमपंथी गुट का नेतृत्व मीरवाइज और कट्टरपंथी गुट का नेतृत्व सैयद अली शाह गिलानी के हाथों में है. केंद्र जमात-ए-इस्लामी और जेकेएलएफ को यूएपीए के तहत प्रतिबंधित कर चुका है. यह प्रतिबंध 2019 में लगाया गया था.
  • India | Reported by: नज़ीर मसूदी |रविवार जुलाई 12, 2020 11:30 AM IST
    सयैद अली गिलानी के इस्तीफे के बाद सेहराई हुर्रियत कांफ्रेंस का प्रमुख बनाया गया था. सैयद के इस्तीफे के बाद से अलगाववादी समूह को खासी फजीहतों का सामना करना पड़ रहा है. जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने रविवार को कहा कि अलगाववादी हुर्रियत नेता अशरफ सेहरई समेत प्रतिबंधित जमात-ए-इस्लामी के कुछ अन्य सदस्य हिरासत में लिए गए हैं जिनके खिलाफ सख्त जनसुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत मामला दर्ज किया जा सकता है. 
  • India | Reported by: नीता शर्मा, Edited by: सूर्यकांत पाठक |मंगलवार जून 30, 2020 11:39 PM IST
    अलगवादी हुर्रियत नेता सैयद अली गिलानी ने अलगाववादी संगठन हुर्रियत कॉन्फ्रेंस 27 साल  बाद इसीलिए छोड़ी क्योंकि पाकिस्तान ने उन्हें बिलकुल दरकिनार कर दिया था. यह कहना है केंद्रीय गृह मंत्रालय का. 90 वर्षीय नेता ने कल कश्मीर घाटी के सबसे बड़े अलगाववादी संगठन से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने आरोप लगाया कि उनके खिलाफ साजिश रचने और केंद्र द्वारा जम्मू और कश्मीर की विशेष स्थिति को खत्म करने के बाद वे अलगाववादी आंदोलन में विफल रहे.
  • India | Reported by: नज़ीर मसूदी, Translated by: विवेक रस्तोगी |सोमवार जून 29, 2020 01:36 PM IST
    '90 के दशक से कश्मीर घाटी में अलगाववादी आंदोलन का नेतृत्व करते आ रहे 90-वर्षीय सैयद अली शाह गिलानी हुर्रियत के आजीवन अध्यक्ष थे. वह वर्ष 2010 के बाद से अधिकतर समय घर में ही नज़रबंद रहे हैं. सैयद अली शाह गिलानी ने सोमवार सुबह जारी किए एक ऑडियो संदेश में कहा कि वह 'मौजूदा हालात' के चलते ऑल पार्टी हुर्रियत कॉन्फ्रेंस से इस्तीफा दे रहे हैं. उन्होंने कहा, "हुर्रियत कॉन्फ्रेंस की मौजूदा स्थिति के मद्देनज़र, मैं इस मंच से पूरी तरह अलग हो जाने की घोषणा करता हूं... इस संदर्भ में मैं मंच के सभी घटकों को विस्तृत खत पहले ही भेज चुका हूं..."
  • India | Reported by: IANS |शनिवार सितम्बर 21, 2019 10:13 AM IST
    वरिष्ठ अलगाववादी नेता और हुर्रियत कांफ्रेंस के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारूक नजरबंद किए गए उन नेताओं में शामिल हैं जिन्होंने अपनी रिहाई के लिए अधिकारियों के समक्ष बॉन्ड भरा है. शीर्ष खुफिया सूत्रों ने श्रीनगर में आईएएनएस को बताया, 'यह करीब एक पखवाड़े पहले हुआ. अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक नजरबंद किए गए उन नेताओं में शामिल हैं जिन्होंने अपनी रिहाई के लिए बॉन्ड भरा है.' सूत्रों ने बताया कि इन नेताओं के स्वीकारनामे में वर्णित है कि एक बार निवारक नजरबंदी हटने के बाद ये लोग घाटी में कानून व व्यवस्था को बिगाड़ने वाली किसी भी गतिविधि में शामिल नहीं होंगे.
  • Jammu Kashmir | ख़बर न्यूज़ डेस्क |सोमवार अप्रैल 1, 2019 03:07 PM IST
    आयकर विभाग ने राष्ट्रीय राजधानी में वरिष्ठ हुर्रियत नेता सैयद अली गिलानी के स्वामित्व वाले एक फ्लैट को कुर्क करने का आदेश जारी किया है. आयकर रिकवरी अधिकारी नई दिल्ली द्वारा गिलानी के नाम जारी एक आदेश में कहा गया है, "आकलन अधिकारी ने अधोहस्ताक्षरी को प्रमाणपत्र की एक प्रमाणित प्रति भेजी है, जिसमें 3,62,62,160 रुपये की राशि निर्दिष्ट है, जिसके साथ आप से ब्याज भी वसूला जाना है".
और पढ़ें »
'Hurriyat Conference' - 16 वीडियो रिजल्ट्स
और देखें »
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com