'Allahabad' - 560 न्यूज़ रिजल्ट्स
  • India | Reported by: भाषा |रविवार जून 20, 2021 06:12 AM IST
    इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने एक मामले में शुक्रवार को कहा कि वह लिव-इन संबंध के खिलाफ नहीं है, लेकिन जब लिव इन संबंध में रह रही दंपति में से एक व्यक्ति शादीशुदा हो तो वह सुरक्षा नहीं दे सकता. अदालत ने यह टिप्पणी उन याचिकाकर्ताओं को पुलिस सुरक्षा प्रदान करते हुए की, जो विवाह योग्य थे और साथ रहना चाहते थे और बाद में उन्होंने विवाह कर लिया. उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले की इस दंपति की रिट याचिका आंशिक रूप से स्वीकार करते हुए न्यायमूर्ति कौशल जयेंद्र ठाकर और न्यायमूर्ति दिनेश पाठक की खंडपीठ ने कहा, “हम लिव इन संबंध के खिलाफ नहीं हैं. इससे पूर्व, हमने लिव इन संबंध में रहने के इच्छुक एक दंपति की पुलिस सुरक्षा की मांग वाली याचिका खारिज कर दी थी. इसका कारण यह था कि उन याचिकाकर्ताओं में से एक व्यक्ति पहले से विवाहित था.”
  • India | Reported by: कमाल खान, Edited by: सूर्यकांत पाठक |शनिवार जून 12, 2021 11:40 PM IST
    शादी में दिखावटी शान और कोरोना काल के प्रोटोकॉल को तोड़ना भी बेहद भारी पड़ सकता है. इसका उदाहरण प्रयागराज में देखने को मिला. प्रयागराज में एक शादी में पटाखे से भड़के हाथी के उत्पात मचाने से दूल्हे को बग्घी से कूदकर जान बचानी पड़ी और दूल्हे के पिता के हवालात जाने की नौबत आ गई. यूपी के प्रयागराज जिले में एक शादी में बारात के साथ बड़ी शान से आगे-आगे चल रहा हाथी पटाखे की जोरदार आवाज से भड़ककर बेकाबू हो गया. बारात में शान बढ़ाने आए हाथी के बेकाबू होते ही चारों तरफ अफरा-तफरी मच गई. पटाखे से भड़के हाथी ने अपना गुस्सा शादी के पंडाल और वहां खड़ी गाड़ियों को तोड़कर उतारा. 
  • India | Reported by: भाषा |गुरुवार मई 27, 2021 12:22 AM IST
    इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने केंद्रीय कपड़ा और महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट लिखने वाले प्रोफेसर डाक्टर शहरयार अली की अग्रिम जमानत याचिका मंगलवार को खारिज कर दी. न्यायमूर्ति जे.जे. मुनीर ने डाक्टर शहरयार अली की ओर से दायर अग्रिम जमानत की अर्जी पर सुनवाई करते हुए यह आदेश पारित किया. अली एक डिग्री कालेज में प्रोफेसर हैं और इतिहास विभाग के अध्यक्ष हैं.
  • India | Reported by: आशीष भार्गव |शुक्रवार मई 21, 2021 11:17 PM IST
    सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के उस आदेश पर भी रोक लगा दी, जिसमें हाईकोर्ट ने यूपी सरकार को प्रत्येक गांव में ICU सुविधाओं के साथ दो एम्बुलेंस उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया था
  • India | Reported by: कमाल खान, Edited by: गुणातीत ओझा |मंगलवार मई 18, 2021 07:11 PM IST
    उत्तर प्रदेश के गांवों में कोरोना का कहर जारी है. जौनपुर के एक गांव में तो एक महीने में 31 लोगों की मौत हो गई. जांच न होने की वजह से कोरोना से मौत की पुष्टि नहीं हो पाती है. लगातार सामने आ रहे ऐसे मामलों पर और यहां की बदहाल स्वास्थ्य सुविधाओं पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने नाराजगी जताई है.
  • India | Reported by: आलोक पांडे |मंगलवार मई 18, 2021 10:02 AM IST
    कोर्ट ने कहा, 'जब यह सामान्य समय में हमारे लोगों की चिकित्सा आवश्यकताओं को पूरा नहीं कर सकता है, तो निश्चित रूप से वर्तमान महामारी के सामने इसे ध्वस्त हो ही जाना था.'
  • India | Reported by: आलोक पांडे, Translated by: तूलिका कुशवाहा |बुधवार मई 12, 2021 01:53 PM IST
    इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा है कि कोरोना के बीच में विधानसभा और पंचायत चुनाव कराने के अपने फैसले को लेकर चुनाव आयोग, उच्च अदालतें और सरकार 'इसके विनाशकारी नतीजों का अनुमान लगाने में नाकाम रहीं.'
  • Uttar Pradesh | Reported by: कमाल खान, Edited by: नितेश श्रीवास्तव |बुधवार मई 12, 2021 10:25 AM IST
    उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी के प्रबंधन को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अहम आदेश देते हुए राज्य सरकार को हर ज़िले में 48 घंटे के अंदर "महामारी शिकायत कमेटी" बनाने का आदेश दिया है. इस कमेटी में सीजेएम या उसी रैंक का जुडिशल अफसर,मेडिकल कॉलेज का प्रोफेसर या बड़ा सरकारी डॉक्टर और एक ए डी एम शामिल होंगे. इनका काम कोविड से जुड़ी शिकायतों को हल करना और कोविड से जुड़ी वायरल खबरों को जाँच कर उसपे कार्यवाई करना होगा. 
  • Uttar Pradesh | Reported by: भाषा |बुधवार मई 12, 2021 06:45 AM IST
    हाल के दिनों में उत्तर प्रदेश में चुनाव के दौरान चुनाव अधिकारियों की मृत्यु के मुद्दे पर इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने मंगलवार को कहा कि मुआवजे का रकम बहुत कम है और मुआवजा कम से कम एक करोड़ रुपये के करीब होना चाहिए. न्यायमूर्ति सिद्धार्थ वर्मा और न्यायमूर्ति अजित कुमार की पीठ ने राज्य में कोविड-19 के प्रसार को लेकर दायर एक जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान यह टिप्पणी की.
  • Career | Written by: प्रियंका शर्मा |रविवार मई 9, 2021 02:10 PM IST
    इलाहाबाद विश्वविद्यालय ने अंडरग्रेजुएशन सेकंड ईयर, पोस्ट ग्रेजुएशन और प्रोफेशनल इंटरमीडिएट सेमेस्टर के छात्रों को बिना परीक्षा के अगली हायर कक्षाओं में प्रमोट करने का निर्णय लिया है.
और पढ़ें »
'Allahabad' - 278 वीडियो रिजल्ट्स
और देखें »
'Allahabad' - 1 वेब स्टोरीज़ रिजल्ट्स
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com