फर्ग्युसन कॉलेज मामला : पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ दंगा करने का केस दर्ज किया

फर्ग्युसन कॉलेज मामला : पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ दंगा करने का केस दर्ज किया

फर्ग्युसन कॉलेज में एबीवीपी के सदस्य छात्र।

पुणे:

पुणे के फर्ग्युसन कॉलेज में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के सदस्यों और भाजपा की विद्यार्थी इकाई अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के बीच विवाद होने के बाद बुधवार को पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ दंगा करने का मामला दर्ज कर लिया। कॉलेज परिसर में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

इससे पहले फर्ग्युसन कॉलेज ने पुलिस को दी गई वह शिकायत वापस ले ली थी जिसमें उन छात्रों की पहचान करने और सजा देने को आग्रह किया गया था। कॉलेज प्रशासन ने एक दिन पहले शाम को परिसर में आयोजित एक कार्यक्रम में इन छात्रों पर देश विरोधी नारे लगाने का आरोप लगाया था।  

प्रिंसिपल रवींद्र परदेसी की ओर से जारी पत्र में कहा गया था कि इस कार्यक्रम के आयोजन की इजाजत नहीं दी गई थी। हालांकि परदेशी करीब 16 घंटे बाद NDTV से बातचीत के दौरान शिकायत से मुकरते हुए इसे 'टाइपिंग की भूल' करार दिया। पुणे की पुलिस के पास यह शिकायत दिल्ली के जेएनयू मामले में तीन छात्रों की देशद्रोह के मामले में गिरफ्तारी के कुछ सप्‍ताह बाद पहुंची थी। इन तीनों छात्रों को जमानत मिल गई है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


फर्ग्युसन कॉलेज के कार्यक्रम को जेएनयू के एबीवीपी के छात्र नेताओं ने आयोजित किया था। यह छात्र संगठन बीजेपी से संबद्ध है।  एबीवीपी की जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय इकाई के प्रमुख आलोक सिंह भी इस कार्यक्रम में मौजूद थे। इस दौरान वामपंथी झुकाव रखने वाले और कुछ दूसरे छात्रों ने कार्यक्रम का विरोध किया। इन्होंने आयोजन को अवैध बताते हुए "आजादी" के नारे भी लगाए। मामले में हस्तक्षेप करके भीड़ को तितर-बितर करने वाली पुलिस ने कहा कि वामपंथी विचारधारा से जुड़े कुछ छात्र मौके पर पहुंचे और एबीवीपी सदस्‍यों से बहस करने लगे। इस कारण से नारेबाजी और गरमागरम बहस हुई। एक पुलिस अधिकारी ने कहा, 'हमने भीड़ को शांत किया और छात्रों को तितर बितर किया। किसी भी समूह के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं हुआ है।' (साथ में एजेंसी से भी इनपुट)

अन्य खबरें