'सर चढ़ के बोलता है उर्दू जबां का जादू' उसी जादू को आसान तरीके से सिखाती है 'रेख्ता उर्दू लर्निंग गाइड'

रेख्ता बुक्स ने 'रेख्ता उर्दू लर्निंग गाइड' निकाली है. इसके जरिये हिंदी और इंग्लिश के पाठकों को आसान तरीके से इस भाषा को सिखाने की कोशिश की गई है.

'सर चढ़ के बोलता है उर्दू जबां का जादू' उसी जादू को आसान तरीके से सिखाती है 'रेख्ता उर्दू लर्निंग गाइड'

उर्दू सीखने का आसान जरिया है 'रेख्ता उर्दू लर्निंग गाइड'

नई दिल्ली :

संजीव सराफ को उर्दू से प्यार है और एक कारोबारी होते हुई भी उन्होंने रेख्ता के जरिये उर्दू को युवा पीढ़ी में संजोने का काम किया. रेख्ता की कोशिश उर्दू के नामचीन कवियों और लेखकों को उसके पाठकों तक पहुंचाने की रहती है. लेकिन अब रेख्ता ने एक नई पहल की है जिसके तहत अब उर्दू को सिखाने का बीड़ा भी इस टीम ने उठाया है. रेख्ता ने न सिर्फ उर्दू साहित्य को पिरोया बल्कि आमोजिश डॉट कॉम एक साइट बनाई जिसके जरिये उर्दू सिखाने की दिशा में कदम रखा. रेख्ता बुक्स ने 'रेख्ता उर्दू लर्निंग गाइड' निकाली है. इसके जरिये हिंदी और इंग्लिश के पाठकों को आसान तरीके से इस भाषा और लिपि को सिखाने की कोशिश की गई है. 

दिलचस्प यह है कि उर्दू लिपि देखने में जितनी जटिल नजर आती है, इस किताब में उसे उतना ही सहज बनाने की कोशिश की गई है. इसके जरिये आसानी से लिपि और भाषा दोनों को सीखा जा सकता है. इस किताब की शुरुआत फरहत एहसास की शायरी से होती है और उसकी शुरुआती पंक्तियां हैं, 'हिंदोस्तां की मिट्टी के आसमां का जादू, हिंदोस्तां का जादू सारे जहां का जादू, सर चढ़ के बोलता है उर्दू जबां का जादू...' इसके बाद बारी आती है उर्दू लिपि की बारीकियों को समझने की. लिपि की खास बातों को यहां बताया गया है. 

'रेख्ता उर्दू लर्निंग गाइड' को पांच मॉड्यूल में बांटा गया है, और इसमें 23 ईकाई हैं. इस तरह इस किताब को एक कोर्स की तरह तैयार किया गया है. संजीव सराफ ने इस बारे में लिखा है, 'किताब को मॉड्यूल के साथ दिए गए निर्देशों को ध्यान में रखकर पढ़ने से ज्यादा से ज्यादा फायदा उठाया जा सकता है.' हर मॉड्यूल को शानदार ढंग से पिरोया गया है और खास निर्देश भी दिए गए हैं. इस तरह रेख्ता ने उर्दू को सिखाने की दिशा में एक सार्थक पहल की है, और ऐसे में यह किताब बेहद जरूरी भी हो जाती है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


किताबः रेख्ता उर्दू लर्निंग गाइड
प्रकाशकः रेख्ता बुक्स
कीमतः 300 रुपये