इन खर्चों पर अगर आप कर लेंगी कंट्रोल तो कर पाएंगी महीने की अच्छी खासी Saving

Salary saving tips : पैसे कमाना आसान है लेकिन उसकी बचत करना उतना ही कठिन है. इसलिए हम यहां पर कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं जिसको अपनाकर आप एक अच्छी सेविंग कर लेंगे.

इन खर्चों पर अगर आप कर लेंगी कंट्रोल तो कर पाएंगी महीने की अच्छी खासी Saving

Online फिजूल की शॉपिंग करने से बचें, जो जरूरी लगे वही खरीदें.

Money saving tips : कुछ लोग सैलरी आने के 15 दिन में पैसे खर्च कर देते हैं. फिर उसके बाद पूरे महीने परेशान रहते हैं कि आखिर पैसे चले कहां जाते हैं. उनके हिसाब समझ नहीं आता है. इनका सेविंग के नाम पर कुछ बच नहीं पाता है. ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसे मनी सेविंग टिप्स बताएंगे जिसे अपनाकर आप महीने की अच्छी खासी सेविंग (saving tips) कर लेंगी. बस आपको अपने कुछ खर्चों पर कंट्रोल करना होगा.

कैसे करें सैलरी सेविंग | How to do salary saving

  • अगर आप चाहती हैं कि आपके पैसे सेव हों तो सबसे पहले ऑनलाइन खर्चों से बचें. अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करती भी हैं तो सेंसिबल तरीके से करें. जो जरूरी लगे वो ही चीजें मगाएं. क्योंकि दिन भर स्क्रीन पर ई कॉमर्स साइट पर लुभाने वाले ऑफर डिस्प्ले होते रहते हैं. लेकिन ये आपको तय करना है कहां खर्च करना चाहिए और कहां नहीं. आप महीने में अपनी जरूरतों की एक लिस्ट बना लीजिए फिर उस हिसाब से खरीदारी करें.

  • जैसे ही सैलरी आती है, उसका एक हिस्सा क्रेडिट कार्ड का बिल चुकता करने में चला जाता है. लेकिन आप इसका बिल समय से ना चुकाएं तो बोझ बढ़ जाता है. इसलिए इसका इस्तेमाल सावधानी से करें. बहुत जरूरी हो तभी इस्तेमाल करें. 

  • अगर आपने बैंक से किसी तरह का लोन लिया हुआ है तो उसको कंसोलिडेट कर लीजिए. इससे आपका पूरा डेट एक सिंगल यूनिट में हो जाएगा और आप अलग-अलग पेमेंट करने की बजाय एक बार में ही कर लेंगे. तो आज से इन तरीकों को अपनाना शुरू कर दीजिए फिर देखिए कैसे सेविंग होती है.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

       

Featured Video Of The Day

कुशलता के कदम : USHA और ग्रामीण महिलाएं ग्रामीण पारंपरिक खेलों को दे रही हैं बढ़ावा