राहुल गांधी के गलत वीडियो को लेकर दर्ज कई FIR के खिलाफ SC पहुंचे Zee News के एंकर रोहित रंजन

एंकर रोहित रंजन को मंगलवार को नोएडा पुलिस ने गिरफ्तार किया था, उसके बाद उन्हें जमानत पर छोड़ दिया गया.

राहुल गांधी के गलत वीडियो को लेकर दर्ज कई FIR के खिलाफ SC पहुंचे Zee News के एंकर रोहित रंजन

एंकर रोहित रंजन को गिरफ्तार करने मंगलवार को छत्तीसगढ़ पुलिस की टीम पहुंची थी.

नई दिल्ली:

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के वीडियो को गलत तरीके से दिखाने को लेकर दर्ज हुईं कई FIR के खिलाफ ज़ी न्यूज के एंकर रोहित रंजन (Anchor Rohit Ranjan) ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. रोहित रंजन की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता सिद्धार्थ लूथरा ने कहा, 'उन्हें मंगलवार को नोएडा पुलिस ने गिरफ्तार किया था, उसके बाद उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया. उनके शो में एक गलती चली गई थी. अब छत्तीसगढ़ पुलिस उन्हें गिरफ्तार करनी चाहती है. इस पर जल्द सुनवाई हो, वरना उन्हें बार-बार हिरासत में लिया जाएगा. उनके खिलाफ इस मामले में कई एफआईआर दर्ज की गई हैं.'

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) इस मामले पर पहले गुरुवार को सुनवाई करने को तैयार हो गया था. लेकिन बाद में पता चला कि याचिका को रिकॉर्ड में अभी तक रजिस्टर ही नहीं कराया गया है. सुप्रीम कोर्ट की जस्टिस इंदिरा बनर्जी ने कहा कि इस याचिका को ना तो रिकॉर्ड में दर्ज कराया गया और ना ही याचिका दाखिल की गई है. इस पर रंजन की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता सिद्धार्थ लूथरा ने पीठ से माफी मांगी. इसके बाद जस्टिस बनर्जी ने कहा कि हमें बताया जाना चाहिए था कि मामले को दर्ज नहीं किया गया है. यह कोई आधार नहीं है.

छत्तीसगढ़ पुलिस की टीम न्यूज एंकर के घर दुबारा पहुंची, घर बंद मिला; अब चैनल के दफ्तर जाएगी

हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं है कि रोहित रंजन की याचिका पर गुरुवार को सुनवाई होगी या नहीं. क्योंकि कोर्ट ने इस बात पर आपत्ति जताई है कि वकील पहले रजिस्ट्रार के पास याचिका दस्तावेज दाखिल किए बिना ही मामले का जिक्र करने आ गए. प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया गया.

वहीं, दूसरी ओर एंकर रंजन को गिरफ्तार करने बुधवार को एक बार फिर छत्तीसगढ़ पुलिस की टीम उनके घर पहुंची है. लेकिन पुलिस की टीम को आज उनका घर बंद मिला. बताया जा रहा है कि छत्तीसगढ़ पुलिस की टीम आज ज़ी न्यूज के दफ्तर जाएगी. मंगलवार को नोएडा पुलिस ने रोहित रंजन को गिरफ्तार करके ज़मानत पर छोड़ दिया था. इसके बाद से यूपी पुलिस पर रोहित रंजन को बचाने और गायब करने के आरोप लग रहे हैं.

Zee Anchor Rohit Ranjan Case: टीवी एंकर की हिरासत को लेकर उलझी पुलिस का क्या है मामला

बता दें, मंगलवार सुबह छत्तीसगढ़ पुलिस की टीम रोहित रंजन को गिरफ्तार करने उनके घर पहुंची थी. जिसकी जानकारी तुरंत रोहित रंजन ने सीएम योगी और एसएसपी गाजियाबाद को टैग करते हुए ट्वीट करके दी. इसके बाद गाजियबाद पुलिस मौके पर पहुंच गई. इसका एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें देखा जा सकता है कि छत्तीसगढ़ पुलिस और गाजियाबाद पुलिस में आपस में बहस भी हुई. इसके बाद मामले में नोएडा पुलिस की एंट्री होती है.

नोएडा पुलिस वहां मौके पर पहुंचकर रोहित रंजन को अपने साथ ले जाती है. इस दौरान छत्तीसगढ़ पुलिस एंकर को गिरफ्तार करने की कोशिश करती है, लेकिन नोएडा पुलिस उन्हें रोक देती है. वीडियो में दोनों टीमें एक दूसरे से धक्का-मुक्की करती दिखती हैं.

बाद में खबर आई थी कि नोएडा के सेक्टर-20 पुलिस थाने में ज़ी न्यूज की ओर से रोहित रंजन के खिलाफ एक शिकायत दर्ज करवाई गई है. उसी सिलसिले में नोएडा पुलिस ने एंकर को अपनी हिरासत में लिया था. जिन्हें बाद में जमानत पर छोड़ दिया गया. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


यहां देखें वीडियो :- नोएडा पुलिस ने कहा, 'जी न्यूज के एंकर रोहित रंजन को मिली जमानत'